पर्यावरण

Aaj ka Mausam, 8 November: उत्तर भारत में होगी कड़ाके की ठंड और नवंबर में बाढ़ ने यहां मचाई आफत, जानिए आपके राज्य में मौसम का पूर्वानुमान

Janjwar Desk
7 Nov 2021 7:23 PM GMT
Aaj Ka Mausam: दिवाली तक ठंड की होगी एंट्री, 14 अक्टूबर को अधिकारिक तौर पर मॉनसून की हुई विदाई
x
Aaj ka Mausam, 8 November: भारी बारिश के चलते चेन्नई के दो जलाशयों से पानी छोड़े जाने की तैयारी शुरू कर दी गई जिसको लेकर प्रशासन ने रविवार को लोगों को बाढ़ की चेतावनी जारी कर दी है...

Aaj ka Mausam, 8 November: प्रशांत महासागर में ला-नीना का प्रभाव तेजी से बढ़ रहा है जिसके कारण उत्तर भारत में इस साल कड़ाके की ठंड पड़ेगी। मौसम विभाग के अनुसार, ला नीना के बढ़ते प्रभाव से उत्तरी गोलार्ध में तापमान सामान्य से कम होने वाला है। इसके चलते भारत के उत्तरी इलाके में इस साल कड़ाके की ठंड पड़ने की संभावना है। मौसम विभाग का कहना है कि इस बीच दिल्ली, यूपी, उत्तराखंड समेत उत्तर भारत के राज्यों में पारा सामान्य से तीन डिग्री तक नीचे गिर सकता है। प्रशांत महासागर में ला-नीना के प्रभाव के चलते उत्तर भारत सहित उत्तरपूर्व एशिया में इस बार कड़ाके की ठंड पड़ने की भविष्यवाणी की गई है।

वहीं, प्रदूषण की वजह से राजधानी दिल्‍ली और एनसीआर में हवा का स्तर खराब बना हुआ है। रविवार को दिल्ली और आसपास के इलाकों में धुएं और धूल की मोटी चादर देखने को मिली। इधर पहाड़ों पर बर्फबारी का असर मैदानी भागों में नजर आने लगा है। बिहार, झारखंड, यूपी सहित कई राज्‍यों में ठंड की शुरुआत हो चुकी है।

यूपी में गुलाबी ठंड

बात करें उत्तर प्रदेश के मौसम की तो यहां अब गुलाबी ठंड का एहसास होने लगा है। मौसम विभाग के अनुसार, आने वाले दिनों में प्रदेश के जिलों में कड़ाके की ठंड पड़ सकती है। पश्चिमी विक्षोभ के निष्क्रिय होते ही यूपी के तापमान में काफी ज्यादा गिरावट दर्ज की जाएगी। रविवार को राजधानी लखनऊ और कानपुर समेत कई जिलों का अधिकतम तापमान 30 से 31 डिग्री सेल्सियस के बीच रिकॉर्ड किया गया है। वहीं, प्रयागराज और गोरखपुर सहित कई जिलों में तापमान सामान्य बना हुआ है। मौसम विभाग के अनुसार, आने वाले दिनों में उत्तर प्रदेश में ठंड बढ़ेगी।

बिहार में मौसम शुष्क

इधर, बिहार में बीते दो सप्ताह से मौसम शुष्क बना हुआ है। प्रदेश में पश्चिमी और उत्तर-पश्चिमी हवा के निरंतर प्रवाह से तापमान में दो से तीन डिग्री गिरावट दर्ज की जा रही है। स्थानीय मौसम विभाग के अनुसार, प्रदेश में आने वाले दो से तीन दिनों में मौसम सामान्य रहने के साथ न्यूनतम तापमान 15-17 डिग्री सेल्सियस के बीच रहने के आसार हैं। बिहार के कुछ स्थानों पर अगले दो से तीन दिनों तक उच्च स्तर के बादल छाए रहेंगे। वहीं मैदानी इलाकों में सुबह और शाम के वक्त कुहासा छाया रहेगा।

चेन्नई में बारिश से तबाही

इधर, दक्षिणी राज्य तमिलनाडु में लगातार बारिश से हालात बिगड़ गए हैं। तमिलनाडु की राजधानी चेन्नई और उपनगरीय इलाकों में शनिवार रात से ही भारी बारिश हो रही है। रविवार, 7 नवंबर को राजधानी चेन्नई में जगह-जगह जलजमाव की स्थिति उत्पन्न हो गई है। जलजमाव के कारण यातायात सेवा भी प्रभावित हुई हैं। भारी बारिश के चलते चेन्नई के दो जलाशयों से पानी छोड़े जाने की तैयारी शुरू कर दी गई जिसको लेकर प्रशासन ने रविवार को लोगों को बाढ़ की चेतावनी जारी कर दी है।


चेन्नई में बाढ़ के हालात को देखते हुए तमिलनाडु के मुख्यमंत्री एमके स्टालिन ने पेरंबूर बैरक रोड, ओटेरी ब्रिज और पाडी के बारिश प्रभावित इलाकों का निरीक्षण किया। वहीं, स्काईमेट के मौसम वैज्ञानिकों ने चेन्नई में 11 नवंबर तक बारिश जारी रहने की आशंका जताई है।

Next Story

विविध

Share it