पर्यावरण

पारे में जबरदस्त गिरावट से ठिठुरे दिल्लीवासी, अगले 4 दिनों में न्यूनतम स्तर पर पहुंचेगा तापमान

Janjwar Desk
14 Dec 2020 8:52 AM GMT
पारे में जबरदस्त गिरावट से ठिठुरे दिल्लीवासी, अगले 4 दिनों में न्यूनतम स्तर पर पहुंचेगा तापमान
x
तापमान 17-18 दिसंबर को और कम होगा। हल्का कोहरा रहेगा और दिन में आसमान साफ रहेगा, आने वाले दिनों में बारिश के आसार नहीं हैं...

नई दिल्ली। राष्ट्रीय राजधानी में सोमवार 14 दिसंबर को पारे में भारी गिरावट देखी गई और अगर मौसम विभाग का पूर्वानुमान सही साबित हुआ तो गुरुवार-शुक्रवार तक और गिरावट हो सकती है।

भारत मौसम विज्ञान विभाग (आईएमडी) के क्षेत्रीय पूवार्नुमान केंद्र के प्रमुख कुलदीप श्रीवास्तव ने बताया कि दिल्ली में न्यूनतम तापमान 8.4 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया, जो रविवार 13 दिसंबर को 11.4 और शनिवार 12 दिसंबर को 14.4 डिग्री सेल्सियस था। "शनिवार की तुलना में तापमान में छह डिग्री की गिरावट आई है।"

उत्तर-पश्चिम भारत के अधिकांश हिस्सों में अगले चार दिनों शुक्रवार तक के दौरान न्यूनतम तापमान में 3-5 डिग्री सेल्सियस की गिरावट दर्ज की जाएगी। हालांकि, मध्य और पूर्वी भारत के अधिकांश हिस्सों में न्यूनतम तापमान में कोई महत्वपूर्ण बदलाव नहीं होगा।

जम्मू संभाग, उत्तराखंड, पंजाब, हरियाणा, चंडीगढ़, राजस्थान, उत्तर प्रदेश, बिहार, उप-हिमालयी पश्चिम बंगाल, सिक्किम, असम, मेघालय और त्रिपुरा में घने कोहरे की चादर देखने को मिलेगी।

बुधवार से शुक्रवार तक तमिलनाडु, पुडुचेरी, कराईकल, केरल, माहे और लक्षद्वीप क्षेत्र में बारिश के आसार हैं।

सफदरजंग ऑब्जर्वेटरी के मुताबिक, न्यूनतम तापमान 8.4 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया, जबकि लोधी रोड ऑब्जर्वटरी ने इसे 7.4 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया।

आईएमडी के वरिष्ठ अधिकारी ने कहा, "तापमान 17-18 दिसंबर को और कम होगा। हल्का कोहरा रहेगा और दिन में आसमान साफ रहेगा। आने वाले दिनों में बारिश के आसार नहीं हैं।"

अनुकूल हवा की गति के कारण सोमवार 14 दिसंबर को दिल्ली की वायु गुणवत्ता 'मध्यम' श्रेणी में दर्ज की गई। शहर का वायु गुणवत्ता सूचकांक (एक्यूआई) दोपहर में 165 था। रविवार को, राष्ट्रीय राजधानी में औसत 24 घंटे का एक्यूआई 'बहुत खराब' श्रेणी में 305 पर रहा।

केंद्रीय पृथ्वी विज्ञान मंत्रालय के वायु गुणवत्ता निगरानी केंद्र, 'सिस्टम ऑफ एयर क्वालिटी एंड वेदर फोरकास्टिंग एंड रिसर्च'(सफर) ने कहा कि हवा की गुणवत्ता बेहतर हैए क्योंकि हवाओं ने प्रदूषकों को साफ करने में मदद की है।

Next Story

विविध

Share it