पर्यावरण

उत्तराखंड : जोशीमठ में ग्लेशियर टूटा, कई मजदूरों के लापता होने की आशंका

Janjwar Desk
7 Feb 2021 8:47 AM GMT
उत्तराखंड : जोशीमठ में ग्लेशियर टूटा, कई मजदूरों के लापता होने की आशंका
x

वैज्ञानिकों की चेतावनी : बड़ी परियोजनाओं पर नहीं लगी लगाम तो आयेगा इससे भी भयानक तबाहियों का सैलाब

सरकार के एक प्रवक्ता ने कहा है कि जिस जगह पर ग्लेशियर टूटा है, वहां इंसानों की बस्तियां तो बहुत ज्यादा नहीं थीं, लेकिन कई बिजली परियोजनाएं इससे प्रभावित हुई हैं। सरकार ने क्षेत्र के लोगों से गंगा नदी के पास न जाने की अपील की है।

चमोली (उत्तराखंड)। उत्तराखंड के जोशीमठ के धौली गंगा घाटी में रविवार सुबह एक ग्लेशियर के अचानक टूट जाने के बाद ऋषिगंगा पनबिजली परियोजना पर काम करने वाले कई मजदूरों के लापता होने की आशंका जताई जा रही है।

सूत्रों ने इसकी सूचना दी है। तपोवन पावर प्रोजेक्ट का डैम टूट गया है, जिसमें मजदूरों के बह जाने की आशंका जताई जा रही है। यहां फंसे हुए लोगों को निकालने के लिए आईटीबीपी और एसडीआरएफ के जवानों को प्रभावित इलाकों में भेजा गया है।

ग्लेशियर के टूटने के बाद यहां की कई नदियों में बाढ़ आ गई है। उत्तराखंड के मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने स्थिति का जायजा लेने और बचाव व राहत कार्यों की निगरानी के लिए एक आपात बैठक बुलाई है।

ऋषिकेश और हरिद्वार में भले ही आपदा का असर महसूस न किया गया हो, लेकिन इन शहरों को अलर्ट पर रखा गया है।

सरकार के एक प्रवक्ता ने कहा है कि जिस जगह पर ग्लेशियर टूटा है, वहां इंसानों की बस्तियां तो बहुत ज्यादा नहीं थीं, लेकिन कई बिजली परियोजनाएं इससे प्रभावित हुई हैं। सरकार ने क्षेत्र के लोगों से गंगा नदी के पास न जाने की अपील की है।

Next Story

विविध

Share it