पर्यावरण

Uttarakhand Heavy Rain Alert : कुमाउं में आपदा बेकाबू, नैनीताल जिले में उतारी आर्मी, मलवे में दबने से 5 मजदूरों की मौत

Janjwar Desk
19 Oct 2021 8:41 AM GMT
Uttarakhand Heavy Rain Alert : कुमाउं में आपदा बेकाबू, नैनीताल जिले में उतारी आर्मी, मलवे में दबने से 5 मजदूरों की मौत
x
Uttarakhand Heavy Rain Alert : रामनगर के मोहान स्थित लेमन ट्री रिसोर्ट में कोसी नदी का पानी घुसने से रिसॉर्ट में करीब सौ लोग फंस गए हैं।

Uttarakhand Heavy Rain Alert। भारी बारिश की वजह से मंगलवार को जगह-जगह हुए भूस्खलन (Landslide) से पूरे जिले भर से मौतों की दुःखद खबरें आने का सिलसिला दोपहर बाद भी जारी है। स्थिति की गंभीरता को देखते हुए जिले में आर्मी (Indian Army) की मदद ली जा रही है।

नैनीताल जिले के रामगढ़ ब्‍लॉक के एक गांव में मकान जमींदोज होने से छः मज़दूर मलवे में दब गए। जिसमें से पांच मजदूरों की मौके पर दर्दनाक मौत हो गई। जबकि एक मजदूर को पुलिस ने निकाल लिया। ग्राम चौखुटा तोक दोसापानी डिग्री कॉलेज मुक्तेश्वर के पास भवन की दीवार गिरने व मलवा आने से छः मजदूर दबने के बाद बचाव एवं राहत रेस्क्यू के लिए मौके पर पहुंची पुलिस ने चार घंटे की कोशिशों के बाद धीरज कुमार कुशवाहा पुत्र धीरेंद्र प्रसाद, इम्तियाज़ पुत्र नूरआलम निवासी निवासी ग्राम व पोस्ट बेलवा थाना साठी जिला पश्चिमी चंपारण बिहार, जुम्मेराती पुत्र तूफानी मियां निवासी मच्छर गहवा जिला पश्चिमी चंपारण बिहार, विनोद कुमार पुत्र राधेश्याम निवासी माधवपुर दुल्हापुर थाना जलालपुर जिला अम्बेडकर नगर उत्तर प्रदेश, हरेन्द्र कुमार पुत्र रामदार निवासी माधवपुर दुल्हापुर थाना जलालपुर जिला अम्बेडकर नगर उत्तर प्रदेश की लाश को मलवे से बाहर निकाला। एक घायल को जीवित निकाला गया है जिसका नाम कांशीराम पुत्र शम्भु राम निवासी ग्राम बेलवा थाना साठी जिला पश्चिमी चंपारण बिहार है। निकाले गए शवो के पंचायतनामें व पोस्टमार्टम की कार्यवाही की जा रही है।

रामनगर (Ramnagar) के मोहान स्थित लेमन ट्री रिसोर्ट में कोसी नदी का पानी घुसने से रिसॉर्ट में करीब सौ लोग फंस गए हैं। जिनमें पर्यटक और स्टाफ हैं शामिल हैं। मदद के लिए फिलहाल अभी कोई नही पहुँच पाया है। उधर चुकुम के प्रधान जस्सी राम ने बताया कि गांव में लगातार भू कटाव जारी है तीन मकान बह गए हैं, लोग जंगल की ओर शरण ले चुके हैं। बारिश से कार्बेट पार्क में जिप्सी सफारी के लिए बनाए गए कच्चे रूट के बह गए हैं।

अल्मोड़ा शहर के चितई मंदिर क्षेत्र के निकट स्थित सिराड़ गांव में चंदन सिंह के आवासीय मकान में मलबा आने से दीवार टूट गई और मलबा कमरे में घुस गया। घटना में लीला देवी पत्नी श्री चंदन सिंह उम्र 52 वर्ष दब गई और उनकी मौत हो गई। टनकपुर पिथौरागढ़ राष्ट्रीय राजमार्ग पर चल्थी में लधिया नदी पर बन रहा निर्माणाधीन पुल बह गया। नदी में पानी का वेग काफी तेज है।

काठगोदाम व हल्द्वानी रेलवे स्टेशन (Kathgodam And Haldwani Railway Station) को भी गंभीर क्षति पहुंची है। गौला नदी ने रौद्र रूप दिखाते हुए रेलवे स्टेशन की पटरी को भी उखाड़ दिया है, जो बह कर नदी में चला गया है। ऐसे में ट्रेनों का आवागमन भी प्रभावित हो गया है। कई ट्रेनों को स्‍थगित करने के साथ, कई को शार्ट टर्मिनेट किया गया है। भारी बारिश (Heavy Rain) के चलते काठगोदाम रेलवे स्टेशन की करीब 100 मीटर पटरी नदी में बह गई है। जिससे रेलवे स्टेशन प्रशासन में हड़कंप की स्थिति है। सीनियर सेक्शन इंजीनियर केएन पांडे ने बताया कि सोमवार की देर शाम से ही गोला नदी उफान पर थी। जिससे खतरे की संभावना बनी हुई थी। सोमवार की देर रात काठगोदाम स्टेशन के आगे रेलवे ट्रैक के पास तक पानी पहुंचने लगा और पटरी को नुकसान होने लगा।

तेज बारिश के बाद नैनीताल (Nainital) जिले में स्थिति आउट ऑफ कंट्रोल हो गई है। सभी रास्ते बंद हैं। 15 से अधिक लोगों की मौत की खबर है। अब जिले में मदद के लिए आर्मी को बुलाया जा रहा है। रानीखेत से आर्मी बुलाई जा रही है। नैनीताल जिला प्रसाशन ने लोगों से सुरक्षित स्थान में रहने की अपील की है। आर्मी अफसरों ने बताया कि उन्होंने नैनीताल और अल्मोड़ा जिले की सीमा से लगे स्थानों में रेस्कयू अभियान शुरू कर दिया है। एसडीएम प्रतीक जैन ने इसकी पुष्टि करते हुए कहा है कि सड़क मार्ग बंद होने के चलते राहत-बचाव कार्य में देरी हो रही है। इस कारण आर्मी और एयरफोर्स की मदद ली जा रही है।


आपदा के चलते कांग्रेस के मुल्तवी किए सभी राजनीतिक कार्यक्रम

भारी बारिश के दौरान कुमाऊं में हुए नुकसान के चलते कांग्रेस (Congress) ने अपने राजनीतिक कार्यक्रम स्थगित कर दिए हैं। कांग्रेस के प्रदेश प्रभारी देवेंद्र यादव ने कार्यकर्ताओं से आह्वान किया है कि ऐसी घड़ी में वे जनसेवा के कार्यों में जुट जाएं। उत्तराखंड राज्य कांग्रेस प्रभारी देवेंद्र यादव ने सभी कांग्रेस कार्यकर्ताओं और नेताओं का आह्वान किया है कि उत्तराखंड में भारी बारिश के कारण आई आपदा के तहत सभी राजनीतिक कार्यक्रमों को स्थगित करके, जनसेवा में जुट जाएं।

मालूम हो कि उत्तराखंड (Uttarakhand) में पिछले दो दिन से भारी बारिश ने आपदा जैसी स्थिति पैदा कर दी है। कुमाऊं में भूस्खलन से कई क्षेत्रों में नुकसान पहुंचा है। साथ ही मंगलवार की दोपहर 12 बजे तक विभिन्न स्थानों में 15 लोगों के मरने की सूचना है। ऐसी स्थिति में कांग्रेस पार्टी अपनी सर्वोच्च प्राथमिकता के आधार पर तीर्थयात्रियों, पर्यटकों और स्थानीय निवासियों की सहायता के लिए तन मन धन से सहयोग और सहायता के लिये आगे आने का निर्णय किया है।

कांग्रेस के प्रदेश प्रभारी देवेंद्र यादव (Devendra Yadav) ने शासन प्रशासन को भी आश्वाशन दिया है कि जहां भी और जिस रूप में भी कांग्रेस पार्टी के नेताओं और कार्यकर्ताओं को आवश्यकता होगी, हम आपदा की इस घड़ी में शासन प्रशासन का सहयोग करने को सहर्ष तैयार हैं। उन्होंने बताया कि प्रदेश कांग्रेस कमेटी के देहरादून स्थित कार्यालय में एक आपदा राहत केंद्र का गठन प्रदेश महामंत्री मथुरा दत्त जोशी की अध्यक्षता में किया गया है। विभिन्न संचार माध्यमों से कॉंग्रेस कार्यकर्ताओं को सूचित और निर्देशित किया है कि वे जहां भी हैं वहीं पर तत्काल जन सहायता के लिये कार्य करना शुरू करें। यदि शासन प्रशासन को कोई सहायता और सहयोग की आवश्यकता है जो हर संभव मदद करें।

Next Story

विविध

Share it