Top
गवर्नेंस

मंडुआडीह स्टेशन का नाम बदलकर बनारस रखने के फैसले पर लगा ब्रेक, अब पीएम मोदी लेंगे बदलाव का श्रेय

Janjwar Desk
2 Oct 2020 11:17 AM GMT
मंडुआडीह स्टेशन का नाम बदलकर बनारस रखने के फैसले पर लगा ब्रेक, अब पीएम मोदी लेंगे बदलाव का श्रेय
x
PM मोदी अपने दौरे के दौरान वर्चुअल कार्यक्रम में मंडुवाडीह स्टेशन का नाम बदलकर बनारस किए जाने से जुड़े बोर्ड का उद्घाटन करेंगे, जिसके बाद ये बदलाव या यूं कहें कि श्रेय नरेंद्र मोदी लेंगे....

जनज्वार, लखनऊ। यूपी में वाराणसी के मंडुवाडीह रेलवे स्टेशन का नाम बदलकर बनारस रेलवे स्टेशन करने की प्रक्रिया पर ब्रेक लग गया है। बनारस लिखे हुए बोर्ड भी लगाए जा चुके थे, लेकिन अब फिर से बनारस स्टेशन के बोर्ड हटाकर मंडुवाडीह का पुराना बोर्ड लगा दिया गया है। इसके पीछे की वजह पीएम मोदी के अक्टूबर माह में संभावित दौरे को बताया जा रहा है।

गौरतलब है कि बीती 17 अगस्त को मंडुआडीह स्टेशन को बनारस रेलवे स्टेशन किये जाने के लिए केंद्रीय गृह मंत्रालय ने अनापत्ति पत्र जारी कर दिया गया था। स्टेशन में लगे तमाम बोर्ड और शिलालेखों के नामो को तेजी से बदलने का काम शुरू हो चुका था, लेकिन अब दोबारा से सभी कामों को रोंक दिया गया है। जो बोर्ड लग चुके हैं उन्हें फिर से ढंका जा रहा है।

इसके पीछे माना जा रहा है कि पीएम मोदी अपने वाराणसी दौरे के दौरान मंडुवाडीह का नाम बनारस करने की सौगात दे सकते हैं। इसके लिए स्टेशन पर तैयारियां भी तेज हो गई हैं, लेकिन इसका खामियाजा रेल यात्रियों और क्षेत्रीय लोगों को इस भ्रम से उठाना पड़ रहा है कि अभी वर्तमान में इस स्टेशन को पुकारा जाए तो किस नाम से? नाम के फेर में फंसकर यात्रियों को भटकना भी पड़ रहा है।

गौरतलब है कि वाराणसी को काशी और बनारस के नाम से भी जाना जाता है। काशी नाम से रेलवे का एक हॉल्ट स्टेशन तो पहले से ही है, लेकिन बनारस नाम से कुछ भी नहीं था। लोगों ने मंडुवाडीह रेलवे स्टेशन का नाम बदलकर बनारस करने की मुहिम चलाई। गृह मंत्रालय ने 17 अगस्त 2020 को नाम परिवर्तन पर मुहर भी लगा दी। यह पीएम का संसदीय छेत्र है।

उत्तर प्रदेश सरकार ने 18 सितंबर को इसकी अधिसूचना भी जारी कर दी। अधिसूचना जारी होने के बाद नाम परिवर्तन की कवायद भी तेज हो गई थी। स्टेशन पर मंडुवाडीह की जगह बनारस स्टेशन के बोर्ड भी लगा दिए गए थे, लेकिन पूरी प्रक्रिया पर ब्रेक लग गया है। कई बोर्ड हटाकर पुराने बोर्ड लगवा दिए गए हैं। कुछ बोर्ड न हटाकर उन्हें ढंका जाने लगा है।

चर्चा है कि पीएम मोदी अक्टूबर के महीने में अपने संसदीय क्षेत्र के दौरे पर आएंगे। माना जा रहा है कि पीएम मोदी अपने दौरे के दौरान वर्चुअल कार्यक्रम में मंडुवाडीह स्टेशन का नाम बदलकर बनारस किए जाने से जुड़े बोर्ड का उद्घाटन करेंगे। जिसके बाद ये बदलाव या यूं कहें कि श्रेय नरेंद्र मोदी लेंगे।

Next Story

विविध

Share it