गवर्नेंस

Basti News: गरीबों की आफत बन रहा सरकारी नमक, पानी में डालकर छाना गया तो पांव तले खिसक गई जमीन

Janjwar Desk
26 Dec 2021 6:31 AM GMT
uttar pradesh
x

(सरकारी नमक का पैकेट घोलकर छानने पर निकल रही मोरंग व बालू)

नरहरिया, चिकवा टोला मोहल्ले में कई घरों से सरकारी नमक का पैकेट लेकर उसे बर्तन में रखकर पानी डाल कर घोला गया, और घुलने के बाद उसे छाना गया तो उसमें मोरंग और बालू मिला...

Basti News: गरीबों को निशुल्क खाद्यान्न उपलब्ध कराने की सरकारी योजना के तहत कोटे की दुकानों से गरीब उपभोक्ताओं को दिए जा रहे नमक में बालू और मोरंग मिला है। कई गरीब उपभोक्ताओं ने इस बात की शिकायत की है। नमक के पैकेट में मोरंग और बालू मिलने की शिकायत के बाद कुछ लोगों द्वारा रियलिटी चेक किया गया तो शिकायत की पुष्टि हुई।

जब यह बात जंगल की आग की तरह फैली तो नरहरिया, चिकवा टोला मोहल्ले में कई घरों से सरकारी नमक का पैकेट लेकर उसे बर्तन में रखकर पानी डाल कर घोला गया, और घुलने के बाद उसे छाना गया तो उसमें मोरंग और बालू मिला।

सेहत से खिलवाड़

इस नमक की आपूर्ति नेफेड भारतीय राष्ट्रीय कृषि सहकारी विपणन संघ नाम की संस्था भारत सरकार को कर रही है। नमक के पैकेट पर खाद्य सुरक्षा गारण्टी की मुहर लगी है और केवल सरकारी आपूर्ति के लिए है। यह नमक गरीबों को निशुल्क खाद्यान्न उपलब्ध कराने की योजना के तहत बांटा जा रहा है। इस नमक के हर पैकेट पर मुख्यमंत्री और प्रधानमंत्री की फोटो छपी है, जिनका प्रचार हो रहा है। पैकेट पर सोच ईमानदार, काम दमदार का स्लोगन भी लिखा है, लेकिन फ्री का नमक वितरित कर गरीबों के स्वास्थ्य से खिलवाड़ किया जा रहा है।

अधिकारी बोले जांच की जाएगी

पुरानी बस्ती क्षेत्र के नरहरिया में तमाम परिवार निःशुल्क खाद्यान्न योजना का लाभ ले रहे हैं। ज्यादातर घरों में सरकारी नमक मौजूद था। कई लोगों की मौजूदगी में नमक का पूरा पैकेट फाड़कर इसे पानी में डाल दिया गया। चम्मच से पानी चलाया गया जिससे इसमे डाला गया नमक पूरी तरह घुल जाए। इसके बाद इसे बारीक छननी से छाना गया, जो कुछ निकलकर सामने आया उसे देखकर आसपास मौजूद लोगों के पैरों तले जमीन निकल गई।

स्थानीय प्रशासन से लेकर सरकार तक को लोगों को इसका जवाब देना चाहिए। जांच में आरोपों की पुष्टि होने पर पैकिंग करने वाली और आपूर्ति करने वाली संस्थाओं के खिलाफ गंभीर धाराओ में मुकदमा दर्ज कर कार्रवाई करनी चाहिए। बहरहाल इस मामले में जिला पूर्ति अधिकारी सत्यवीर सिंह से बात की गई तो उन्होने कहा कि मामला गंभीर है, हम इसकी जांच करवाते हैं, आरोप सही साबित हुए तो आपूर्ति रोकवा दी जाएगी।

Next Story

विविध

Share it