गवर्नेंस

गोरखपुर के BRD मेडिकल कॉलेज में भर्ती मरीज को कुत्तों ने नोच खाया, मृतक के कान-नाक समेत आधे अंग गायब

Janjwar Desk
20 March 2021 8:33 AM GMT
गोरखपुर के BRD मेडिकल कॉलेज में भर्ती मरीज को कुत्तों ने नोच खाया, मृतक के कान-नाक समेत आधे अंग गायब
x
कुछ लोगों का कहना है कि कई कुत्ते संजय नाम के मरीज के शरीर को नोंच रहे थे, किसी तरह कुत्तों को भगाया गया, कुत्ते इस कदर जहरीले थे कि भगाने वालों पर भी हमलावर हो रहे थे...

जनज्वार ब्यूरो/लखनऊ। उत्‍तर प्रदेश के गोरखपुर बीआरडी मेडिकल कालेज में आज शनिवार 20 मार्च की सुबह एक मरीज की लाश पड़ी मिली। मरीज की नाक, कान और सिर का आधा हिस्‍सा गायब पाया गया। अंदेशा लगाया जा रहा है कि टॉयलेट की खिड़की से गिरकर मरीज की मौत हुई होगी और इसके बाद कुत्‍तों ने उसके शरीर को कई जगह से नोंच डाला।

जानकारी के मुताबिक 32 लगभग वर्षीय इस मरीज को पेट में दर्द की शिकायत थी। जिसके बाद उसे 16 मार्च को बीआरडी मेडिकल कालेज के मेडिसिन वार्ड में भर्ती कराया गया था। वार्ड नंबर 9 की दूसरी मंजिल पर बेड नंबर 21 पर उसका इलाज चल रहा था। मरीज का नाम संजय बताया जा रहा है। वह गोरखपुर के राजेंद्र नगर के पश्चिमी तुराबाड़ी क्षेत्र का रहने वाला था। मेडिकल कालेज में संजय की देखरेख के लिए उसकी मां यशोदा देवी भी रुकी हुई थीं।

शुक्रवार 19 मार्च की रात परिवार के अन्‍य सदस्‍य मिलकर घर चले गए। यशोदा देवी ने बताया कि आज शनिवार 20 मार्च की सुबह चार बजे के करीब संजय ने बेचैनी की शिकायत की। उसने पानी मांगा तो मां ने पानी दिया। इसके बाद उसने टॉयलेट जाने की इच्‍छा जताई। संजय टॉयलेट चला गया, लेकिन काफी देर तक वापस नहीं लौटा तो मां को उसकी चिंता हुई। मां उसकी तलाश करते-करते नीचे आईं तो लोगों ने बताया कि वह फर्श पर गिरा हुआ है।

संजय जिस टॉयलेट को इस्‍तेमाल करने गया था उसकी खिड़की में जाली नहीं है। सुबह टॉयलेट की खिड़की खुली मिली। माना जा रहा है कि संजय खिड़की से गिरकर मर गया होगा। कुछ लोगों का कहना है कि वहां कई कुत्‍ते उसके शरीर को नोंच रहे थे। लोगों ने किसी तरह कुत्तों को भगाया। कुत्ते इस कदर जहरीले थे कि भगाने वालों पर भी हमलावर हो रहे थे।

वहीं बीआरडी मेडिकल कालेज के डॉक्‍टरों ने अपनी सफाई में कहा कि उन्‍होंने मृतक संजय को अकेले छोड़ने से मना किया था। संजय पेट दर्द के साथ बार-बार बेचैनी की भी शिकायत कर रहा था। जांच में पेट में इंफेक्शन मिला था। डॉक्टरों ने परिवार से कहा था कि संजय को अकेला न छोड़ा जाए।

Next Story

विविध

Share it