गवर्नेंस

UP में 10 मई तक लॉकडाउन पर बोली जनता बढ़ने लगा पाखण्ड, 2022 BJP आउट फ्राम UP #UPlockdown

Janjwar Desk
5 May 2021 3:29 PM GMT
UP में 10 मई तक लॉकडाउन पर बोली जनता बढ़ने लगा पाखण्ड, 2022 BJP आउट फ्राम UP #UPlockdown
x
यूपी में दिन पर दिन कोरोना से हालात गंभीर होते जा रहे हैं, प्रशासन वास्तविकता को स्वीकार नहीं कर रहा है। यह बड़ी समस्या है...

जनज्वार ब्यूरो, लखनऊ। उत्तर प्रदेश की योगी आदित्यनाथ सरकार ने सूबे को संशय में डाल रखा है। बीती शुक्रवार को हुआ लॉकडाउन का ग्रहण अब छंटने का नाम नहीं ले रहा है। पूरे प्रदेश को फिलहाल सोमवार तक बंद कर दिया गया है। इस बीच दी गई टाइमिंग के विपरीत शोसल डिस्टेंस और लॉकडाउन की तमाम शहरों में धज्जियां उड़ती पाई गईं। वहीं यूपी का यह अनसुलझा लॉकडाउन शोसल मीडिया का ट्रेंड बना हुआ है।

आपको बता दें उत्तर प्रदेश की योगी सरकार ने पिछले सप्ताह शुक्रवार 30 अप्रैल को सूबे में लॉकडाउन लगाया था। इसे सोमवार 3 मई की सुबह खुलना था। लेकिन इसे बढ़ाकर गुरूवार 6 मई की सुबह कर दिया गया। अब गुरूवार आने से पहले ही इसे अगले सोमवार यानी 10 मई की सुबह खोले जाने का आदेश कर दिया गया है। जनता इसके बाद अगले आदेश की प्रतीक्षा कर रही है। वहीं शोसल मीडिया पर भी इसके लिए कई बढ़िया-बढ़िया कमेंट आ रहे हैं।

इस मामले में ट्वीटर यूजर संकेत केसरवानी लिखते हैं कि 'बीजेपी यूपी सरकार का पाखंड जब हाई कोर्ट ने लॉकडाउन के लिए कहा योगी SC में गए क्योंकि साहब का इलेक्शन चल रहा था। अब इंस्टालमेंट में लॉकडाउन कर रहे हैं कि जनती कुछ बोले नहीं। '2022 BJP आउट फ्राम UP' सब दिखता है जनता को पागल किसी और को समझना।'

ट्वीटर यूजर अनुराग राणा अपने अकाउंट में यूपी के लॉकडाउन के लिए लिखते हैं 'कि पहले यह 10 से 5 और 8 से 5 सिर्फ रविवार के लिए हुआ था। बाद में बढ़कर शनिवार व रविवार हो गया। फिर सोमवार शामिल हुआ, फिर 2 और दिनों के लिए बढ़ा दिया गया और अब अगले मंगलवार तक। यह पिछले 4-5 दिनों में यूपी सरकार ने तय किया है। और कुछ कह दो तो ये केस ठोंक देंगे।'

यूजर मुदित रस्तोगी लिखते हैं कि 'यूपी में दिन पर दिन हालात गंभीर होते जा रहे हैं। प्रशासन वास्तविकता को स्वीकार नहीं कर रहा है। यह बड़ी समस्या है। हमें ढूंढना होगा, जहां हमारी कमी है। लेकिन, सबसे पहले हमें यह स्वीकार करना होगा कि यूपी में वास्तविकता बदतर है।'


Next Story

विविध

Share it