गुजरात चुनाव 2022

शंकर सिंह वाघेला ने PM को कहा ' मौत का सौदागर ', जानें पहली बार मोदी के लिए किसने किया था इन शब्दों का इस्तेमाल

Janjwar Desk
5 Dec 2022 3:23 AM GMT
शंकर सिंह वाघेला ने PM को कहा  मौत का सौदागर , जानें पहली बार मोदी के लिए किसने किया था इन शब्दों का इस्तेमाल
x

file photo

कांग्रेस नेता शंकर सिंह वाघेला ने कहा है कि सोनिया गांधी ( Sonia Gandhi ) ही नहीं मैं भी कहता हूं पीएम मोदी ( PM Modi ) मौत का सौदागर हैं।

Gujrat Chunav 2022 : गुजरात विधानसभा चुनाव में एक बार फिर मौत का सौदागर ( Maut ka saudagar ) की एंट्री हुई है। इस बार पीएम मोदी ( PM Modi ) के लिए इन शब्दों का इस्तेमाल कांग्रेस के नेता शंकर सिंह वाघेला ( Shankar Singh Vaghela ) ने किया है। शंकर सिंह वाघेला ने कहा है कि सोनिया गांधी ( Sonia Gandhi ) ही नहीं मैं भी कहता हूं मोदी मौत का सौदागर हैं। इसके साथ ही वाघेला ने दावा किया कि इस बार भाजपा ( BJP ) चुनाव हारेगी।

कुछ दिनों पहले ही कांग्रेस ( Congress ) के फायर ब्रांड नेता मधुसूदन मिस्त्री ने पीएम मोदी को औकात दिखाने की बात कही थी। आज भी मिस्त्री ने दावा किया है कि भाजपा इस बार चुनाव हारेगी।

वहीं गुजरात में जारी सियासी हाई-वोल्टेज प्रचार के बाद आज सुबह आठ बजे से गुजरात की 182 विधानसभा सीटों में से 93 के लिए 2.51 करोडऋ से ज्यादा मतदाता वोटिंग कर रहे हैं। दूसरे और अंतिम चरण के मतदान में 833 उम्मीदवारों के भाग्य का फैसला होगा।

2007 में सोनिया गांधी ने की थी पीएम के 'मौत का सौदागर' वाली टिप्पणी

साल 2007 में गुजरात विधानसभा चुनाव के दौरान इस बात की मीडिया ने उम्मीद जताई थी कि कांग्रेस चुनाव जीत सकती है, ठीक उसी समय कांग्रेस की तत्कालीन अध्यक्ष सोनिया गांधी ने एक बड़ी गलती करते हुए भाजपा के तत्कालीन मुख्यमंत्री पद के उम्मीदवार नरेंद्र मोदी ( Narendra Modi ) को 'मौत का सौदागर' ( maut ka saudagar ) कहा था। उनके इस बयान के बाद कांग्रेस ( Congress ) चुनाव हार गई थी। तब से आज तक कांग्रेस गुजरात में जीत के लिए संघर्ष कर रही है। सोनिया गांधी ( Sonia Gandhi ) के इस हमले के बाद अपने सर्वश्रेष्ठ वक्तृत्व कौशल का परिचय देते हुए तत्कालीन मुख्यमंत्री नरेंद्र मोदी ने सोनिया गांधी के बयान को कांग्रेस के खिलाफ एक हथियार के रूप में इस्तेमाल किया और चुनाव जीत गए। मौत का सौदागर वाले बयान का जिक्र करते हुए पीएम मोदी ने कांग्रेस पर हमला बोला और कहा कि पार्टी संसद पर हमला करने वालों को बचाने की कोशिश कर रही है। इसके बाद, कांग्रेस को राज्य में भारी नुकसान हुआ और गुजरात में भाजपा फिर से सत्ता में आई। तब से लेकर आज तक पीएम मोदी समय-समय पर सोनिया गांधी के इस बयान का जिक्र करते रहते हैं।

2017 में कांग्रेस नेता अय्यर ने दिया था नीच वाला बयान

सोनिया गांधी के बयान के दस साल बाद 2017 में विधानसभा चुनाव में एक बार फिर कांग्रेस के जीत के आसार थे, लेकिन पार्टी के वरिष्ठ नेता और पूर्व केंद्रीय मणिशंकर अय्यर ( Manishankar Iyer ) ने पिछले चुनावों की पराजयों से कोई सीख नहीं ली और पीएम मोदी पर 'नीच' का तंज कसा। पीएम मोदी पर यह बयान बाद में कांग्रेस के लिए एक बड़ी भूल साबित हुई। अय्यर के इस बयान ने कांग्रेस को गरीब विरोधी और पिछड़ी जाति विरोधी करार देने में पीएम मोदी की मदद की।

राहुल गांधी भी कह चुके हैं मोदी को 'चौकीदार चोर है'

सोनिया गांधी और मणिशंकर अय्यर ही नहीं पीएम मोदी के मैं भी चौकीदार अभियान पर निशाना साधते हुए राहुल गांधी ने भ्रष्टाचार के मुद्दे पर पीएम मोदी पर हमला किया और पूछा कि सभी 'चोरों' का उपनाम मोदी (नीरव मोदी के संदर्भ में) क्यों है? कांग्रेस नेता ने राफेल लड़ाकू जेट सौदे में कथित भ्रष्टाचार के मामले को भी पीएम मोदी से जोड़ा और कहा, 'चौकीदार चोर है'। यह माला सुप्रीम कोर्ट में जाने के बाद राहुल गांधी ( Rahul Gandhi ) को अपने बयान के लिए माफी भी मांगनी पड़ी थी। शीर्ष अदालत ने बाद में राहुल गांधी के खिलाफ दायर अवमानना ​​​​मामले को बंद कर दिया, क्योंकि उन्होंने गलत तरीके से राफेल मामले के आदेश को पीएम मोदी के खिलाफ अपने 'चौकीदार चोर है' से जोड़ दिया था। अब वही गलती कांग्रेस के नेता शंकर सिंह वाघेला ने दूसरे चरण के चुनाव से ठीक पहले की है। तय है भाजपा इसका लाभ उठाने का भरपूर कोशिश करेगी।

Next Story

विविध