स्वास्थ्य

Covid-19 Update : सत्येंद्र जैन बोले- दिल्ली में आ चुकी है कोरोना की पीक, अब आएगी मामलों में गिरावट

Janjwar Desk
15 Jan 2022 8:07 AM GMT
Covid Alert in UP : NCR में कोरोना के केस बढ़ने के बाद यूपी सरकार अलर्ट, इन सात जिलों में मास्क पहनना फिर ​अनिवार्य किया
x

Covid Alert in UP : NCR में कोरोना के केस बढ़ने के बाद यूपी सरकार अलर्ट, इन सात जिलों में मास्क पहनना फिर ​अनिवार्य किया

Covid-19 Update : सत्येंद्र जैन ने कहा कि दिल्ली में कोरोना के मामले पीक पर हैं, लेकिन कल से मामले में गिरावट आ रही है। आज दिल्ली में कोविड के मामलों में चार हजार की कमी होने की उम्मीद है। पॉजिटिविटी रेट लगभग 30% होगा। पिछले 5 से 6 दिनों में अस्पताल में भर्ती होने की दर नहीं बढ़ी है...

Covid-19 Update : कोरोना का पीक दिल्ली में आने के बाद अब मामलों में कमी आनी शुरू हो गई है। दिल्ली के स्वास्थ्य मंत्री सत्येंद्र जैन ने आज शनिवार 15 जनवरी को कहा कि दिल्ली में कल यानी शुक्रवार 14 जनवरी को कोरोना के मामले परसों यानी गुरुवार 13 जनवरी की तुलना में साढ़े 4 हजार कम आए थे। साथ ही सत्येंद्र जैन ने कहा कि दिल्ली में कोरोना के मामले पीक पर हैं, लेकिन कल से मामले में गिरावट आ रही है।

कोरोना मामले में गिरावट की उम्मीद

बता दें कि स्वास्थ्य मंत्री सत्येंद्र जैन ने कहा कि आज दिल्ली में कोविड के मामलों में चार हजार की कमी होने की उम्मीद है। पॉजिटिविटी रेट लगभग 30% होगा। साथ ही सत्येंद्र जैन ने कहा कि 'पिछले 5 से 6 दिनों में अस्पताल में भर्ती होने की दर नहीं बढ़ी है। यह इस बात का संकेत है कि आने वाले दिनों में मामले और कम होने वाले हैं। 85% अस्पताल के बेड खाली हैं।' साथ ही उन्होंने कहा कि 'मामलों का पीक आ गया है, देखते हैं कब गिरावट शुरू होती है। लगता है मामलों की रफ्तार धीमी पड़ने लगी है।'

97 लोगों की हुई मौत

मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार सत्येंद्र जैन ने शुक्रवार 14 जनवरी को कहा था कि 'राजधानी दिल्ली में कोविड-19 की मौजूदा लहर में जान गंवाने वाले 75 प्रतिशत मरीज ऐसे थे, जिन्होंने टीके नहीं लगवाए थे। साथ ही स्वास्थ्य मंत्री सत्येंद्र जैन ने यह भी कहा था कि स्वास्थ्य विभाग द्वारा जारी किए गए आंकड़ों के अनुसार, 9 जनवरी से 12 जनवरी के बीच जिन 97 लोगों की मौत संक्रमण से हुई, उनमें से 70 लोगों का टीकाकरण नहीं हुआ था, जबकि 19 ने टीके की पहली खुराक ली थी। वहीं आठ का पूर्ण टीकाकरण हो चुका था। उनके अलावा सात नाबालिग थे।' साथ ही सत्येंद्र जैन ने कहा कि 'कोरोना संक्रमण के कारण जान गंवाने वाले 75 प्रतिशत मरीज ऐसे थे, जिन्होंने टीके की एक खुराक भी नहीं ली थी। 90 प्रतिशत मरीजों को कैंसर और गुर्दे संबंधी गंभीर बीमारियां थीं। यहां तक कि 18 साल से कम उम्र के सात मरीजों को भी पहले से कोई बीमारी थी।'

13 हजार से अधिक बैड खाली

बता दें कि दिल्ली के स्वास्थ्य मंत्री सत्येंद्र जैन ने बताया कि एक व्यक्ति जिसकी मौत हो गई, उसने कथित तौर पर आत्महत्या की कोशिश की थी और उसे इसलिए ही अस्पताल में भर्ती कराया गया था। साथ ही उन्होंने कहा कि संक्रमित पाए जाने के तीन दिन बाद ही उसकी मौत हो गई थी। सत्येंद्र जैन का कहना है कि अस्पतालों में कोरोना संक्रमितों के लिए आरक्षित 13000 से अधिक बेड खाली हैं। साथ ही उन्होंने कहा कि मरीजों के अस्पताल में भर्ती होने की संख्या स्थिर है और रोजाना भर्ती कराए जाने वाले मरीजों की संख्या में कमी आई है। यह एक बड़ी राहत की बात है।

दिल्ली में कोरोना के मामले

मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार दिल्ली में कल शुक्रवार 14 जनवरी को कोरोना संक्रमण के 24383 नए मामले सामने आए जबकि 34 और मरीजों की मौत हो गई| इसके साथ ही संक्रमण दर बढ़कर 30.64 प्रतिशत दर्ज की गई है। स्वास्थ्य विभाग द्वारा जारी आंकड़ों से मिली जानकारी के मुताबिक नए मामलों की संख्या बीते गुरुवार की तुलना में कम है लेकिन संक्रमण दर में वृद्धि हुई है।

Next Story

विविध