जनज्वार विशेष

जनज्वार से जुड़े पत्रकार पवन जायसवाल को पत्रकारिता सम्मान, रोटी-नमक रिपोर्ट से आए थे चर्चा में

Janjwar Desk
3 Sep 2020 10:42 AM GMT
जनज्वार से जुड़े पत्रकार पवन जायसवाल को पत्रकारिता सम्मान, रोटी-नमक रिपोर्ट से आए थे चर्चा में
x

मिड डे मील में बच्चों को नमक-रोटी परोसे जाने का खुलासा किया था पवन ने, जिसके बाद उनको जान से मारने की धममियां तक मिलीं

जनज्वार से जुड़े पत्रकार पवन जायसवाल उत्तर प्रदेश के मिर्जापुर जनपद स्थित जमालपुर विकासखंड के प्राथमिक विद्यालय शिउर में पिछले साल मिड डे मील में नमक-रोटी परोसे जाने वाली खबर ब्रेक करने के बाद चर्चा में आये थे...

जनज्वार। नमक-रोटी रिपोर्ट से चर्चा में आये मिर्जापुर के पत्रकार पवन जायसवाल को पंडित कमलापति त्रिपाठी पत्रकारिता सम्मान सम्मानित किया गया है।

जनज्वार से जुड़े पत्रकार पवन जायसवाल उत्तर प्रदेश के मिर्जापुर जनपद स्थित जमालपुर विकासखंड के प्राथमिक विद्यालय शिउर में पिछले साल मिड डे मील में नमक-रोटी परोसे जाने वाली खबर ब्रेक करने के बाद चर्चा में आये थे। उन्होंने मिड-डे मिल में नमक-रोटी परोसे जाने की खबर ब्रेक की थी। मगर बाद में बजाय संबंधित अधिकारियों और स्कूल पर कार्रवाई करने के बजाय पवन पर ही खंड शिक्षा अधिकारी की शिकायत एफआईआर दर्ज कर दी गई थी।

यह भी पढ़ें : मिड डे मील में नमक-रोटी परोसने की खबर ब्रेक करने वाले पत्रकार पर दर्ज हुई एफआईआर

पवन को इस मामले में लंबी लड़ाई लड़नी पड़ी थी। पिछले साल 18 दिसंबर को भारतीय प्रेस परिषद (पीसीआई) की प्रयागराज में सुनवाई के दौरान पुलिसिया कार्यप्रणाली की जमकर छीछालेदर करते हुए पुलिस को लताड़ लगायी थी और उन पर दर्ज किये गये मुकदमे वापस लिये गये थे। परिषद के अध्यक्ष पूर्व न्यायाधीश चंद्रमौली कुमार प्रसाद ने पुलिस अधिकारियों को बुरी तरह लताड़ते हुए पूछा कि अगर वे ऐसे ही संविधान का उल्लघंन करेंगे तो पत्रकार कैसे पत्रकारिता करेगा? नमक-रोटी कांड को उन्होंने क्रूर करार दिया और पुलिस अधिकारी को बुरी तरह डांटते हुए कहा–हंसिए मत, ये आपकी डिपार्टमेंटल इंक्वायरी नहीं है!

यह भी पढ़ें : जनज्वार एक्सक्लूसिव : मिड डे मील योजना का खुलासा करने वाले पत्रकार पवन जायसवाल की जान को खतरा

पवन जायसवाल के अलावा पंडित कमलापति पत्रकारिता सम्मान अवार्ड से यूपी के एक अन्य पत्रकार को सम्मानित किया गया है। जनसंदेश टाइम्स के संपादक विजय विनीत को भी यह अवार्ड दिया जायेगा। अब तक इस अवार्ड से देश के पांच पत्रकारों को सम्मानित किया जा चुका है। वरिष्ठ पत्रकार पत्रकार काशीनाथ सिंह, विनोद दुआ, पुण्य प्रसून बाजपेयी के बाद अब इस अवार्ड से विजय विनीत और पवन जायसवाल को उनकी बेबाक, साहसी और निर्भीक पत्रकारिता के लिये नवाजा जा रहा है।

Next Story

विविध

Share it