आजीविका

यूपी में 5 साल से प्राथमिक शिक्षा भर्ती, एलटी और पुलिस भर्ती का विज्ञापन तक नहीं हुआ जारी, लाखों युवाओं का भविष्य चौपट

Janjwar Desk
28 Nov 2023 2:05 PM GMT
यूपी में 5 साल से प्राथमिक शिक्षा भर्ती, एलटी और पुलिस भर्ती का विज्ञापन तक नहीं हुआ जारी, लाखों युवाओं का भविष्य चौपट
x

file photo

सरकारी नौकरी व रोजीरोटी के लिए अन्य राज्यों में युवाओं का पलायन तेजी से बढ़ा है। ग्लोबल इन्वेस्टर्स समिट के पूंजी निवेश व रोजगार सृजन के दावे सच्चाई से कोसों दूर हैं, हालत यह है कि बैंकों में लोगों की जमापूंजी का भी बड़ा हिस्सा प्रदेश से बाहर चला जाता है....

लखनऊ। युवा मंच प्रदेश कार्यकारिणी मीटिंग में विधानसभा के तीन दिवसीय शीतकालीन सत्र के दौरान सोशल मीडिया के माध्यम से रोजगार का मुद्दा उठाने का निर्णय लिया गया। इसके अलावा दिसंबर के पहले सप्ताह में प्रयागराज में छात्रों की आम सभा कर आंदोलन की रूपरेखा तैयार करने का सुझाव आया। विपक्षी दलों से भी अपील की गई कि विधानसभा सत्र में बेरोजगारी का मुद्दा उठाएं और रोजगार अधिकार अभियान के एजेंडा को अपने पार्टी कार्यकम में शामिल करें। यह मीटिंग वर्चुअल तौर पर आयोजित की गयी थी।

संयुक्त युवा मोर्चा व युवा मंच पदाधिकारियों ने 6 लाख रिक्त पदों को भरने के वादे को पूरा करने और रोजगार सृजन के लिए ठोस कदम उठाने की मांग योगी सरकार से की। रिकॉर्ड रोजगार सृजन को लेकर सरकारी दावों व प्रोपेगैंडा को जमीनी हकीकत के उलट बताते हुए कहा कि इधर के वर्षों में सरकारी नौकरी व रोजीरोटी के लिए अन्य राज्यों में युवाओं का पलायन तेजी से बढ़ा है। ग्लोबल इन्वेस्टर्स समिट के पूंजी निवेश व रोजगार सृजन के दावे सच्चाई से कोसों दूर हैं, हालत यह है कि बैंकों में लोगों की जमापूंजी का भी बड़ा हिस्सा प्रदेश से बाहर चला जाता है।

इसी तरह रिकॉर्ड सरकारी नौकरी के दावे पर कहा कि करीब 5 साल से प्राथमिक शिक्षक भर्ती, एलटी व पुलिस भर्ती विज्ञापन जारी नहीं किया गया। शिक्षा सेवा चयन आयोग का गठन अरसे से अधर में लटका हुआ है, जिससे लाखों युवाओं का भविष्य चौपट हो रहा है, लेकिन सरकार को इससे लेना-देना नहीं है। सांख्यिकी अधिकारी, आईटीआई अनुदेशक समेत अन्य तमाम भर्तियां 5-7 साल से अधर में हैं। वर्षों से अधर में लटकी लंबित भर्तियों को पूरा कराने के लिए भी युवाओं को आंदोलन करना पड़ रहा है। बताया कि रोजगार अधिकार अभियान में देश भर सार्वजनिक क्षेत्र में रिक्त पड़े एक करोड़ पदों को अविलंब भरने, रोजगार अधिकार कानून बनाने, रोजगार सृजन के लिए कारपोरेट्स पर टैक्स लगाने जैसे मुद्दों को भी उठाया जाएगा।

मीटिंग में संयुक्त युवा मोर्चा के केंद्रीय टीम सदस्य व युवा मंच संयोजक राजेश सचान, युवा मंच अध्यक्ष अनिल सिंह, प्रदेश कार्यकारिणी सदस्य ई. राम बहादुर पटेल, प्रयागराज से बीएल यादव, देवेन्द्र सिंह, देव लाल , राजेन्द्र सिंह व सोनू यादव, आजमगढ़ से जय प्रकाश यादव, सोनभद्र से रूबी सिंह गोंड़ व सुगवंती गोंड़, गाजियाबाद से राजेंद्र सिंह, सीतापुर से नागेश गौतम व जया वर्मा, लखीमपुर से जमशेद अली, शामली से कुलदीप कुमार आदि प्रमुख पदाधिकारियों समेत देवेन्द्र सिंह, वसीम अहमद,अलका सिंह आदि मौजूद रहे।

Next Story

विविध