Top
हाशिये का समाज

ऊंची जाति की लड़की से प्रेम का संदेह होने पर दलित युवक को बुरी तरह पीटा, प्राइवेट पार्ट में घुसा दी लोहे की रॉड

Janjwar Desk
2 April 2021 12:51 PM GMT
ऊंची जाति की लड़की से प्रेम का संदेह होने पर दलित युवक को बुरी तरह पीटा, प्राइवेट पार्ट में घुसा दी लोहे की रॉड
x
लड़की के पिता और उसके तीन बेटों- राजू, भरत और गजराज ने दलित लड़के हरेंद्र को पकड़कर बुरी तरह पीटा, उसे जातिसूचक गालियां दीं गयीं और लोहे की रॉड, डंडों-बेल्ट से पीटा गया, इतने पर भी मन नहीं भरा तो उसके मलाशय में लोहे की छड़ डाल दी...

जनज्वार, लखीमपुर खीरी। अभी बरेली में अलग अलग संप्रदाय के युवक—युवती पर प्रेम संबंध का शक होने पर भीड़ द्वारा उन्हें बुरी तरह पीटने के बाद वीडियो बनाने का मामला ठंडा भी नहीं पड़ा था कि उत्तर प्रदेश के लखीमपुर खीरी जिले में 22 वर्षीय दलित युवक को चार लोगों द्वारा कथित तौर पर बंदी बनाकर बेरहमी से प्रताड़ित किये जाने का मामला सामने आया है।

22 साल के दलित युवक हरेंद्र कुमार को इसलिए बुरी तरह पीटा गया क्योंकि ऊंची जाति के आरोपियों को संदेह था कि उसका उनके परिवार की लड़की के साथ प्रेम संबंध है। दलित युवक को इन लोगों ने न सिर्फ बुरी तरह पीटा, बल्कि अमानवीयता की सारी हदें पार करते हुए उसके उसके मलाशय में लोहे की रॉड डाल दी। यह मामला लखीमपुर खीरी के निघासन तहसील के अंतर्गत आने वाले तिकुनिया इलाके का है।

जानकारी के मुताबिक पीड़ित दलित युवक को जिला अस्पताल भेजा गया, जहां उसकी स्थिति गंभीर बताई जा रही है।

पीड़ित के चचेरे भाई अनुज का कहना है कि पीड़ित हरेंद्र प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी कर रहा है, इसलिए वह रोज सुबह 3 बजे उठ जाता था। वह पढ़ने के लिए बाग में गया था। वहां ब्रह्मदेव (लड़की के पिता) और उनके तीन बेटों- राजू, भरत और गजराज ने उसे पकड़कर बुरी तरह पीटा। उसे जातिसूचक गालियां दीं गयीं और लोहे की रॉड, डंडों-बेल्ट से पीटा। इतने पर भी मन नहीं भरा तो उसके मलाशय में लोहे की छड़ डाल दी।'

जिस क्षेत्र में दलित लड़के के साथ बर्बरता की यह घटना सामने आयी है वह उच्च-जाति का वर्चस्व वाला है। यहां पर मात्र 20 प्रतिशत SC आबादी है। पीड़ित दलित युवक हरेंद्र के पिता मात्र दो बीघे की ज़मीन वाले छोटे किसान हैं।

जानकारी में यह भी सामने आया है कि पीड़ित हरेंद्र बीए की पढ़ाई पूरी करने के बाद एक चीनी मिल से जुड़े एक स्थानीय फर्म में अकाउंटेंट की नौकरी कर रहा था। साथ ही वह प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी भी कर रहा था। हरेंद्र तीन भाइयों में सबसे छोटा है और परिवार में अकेला ही स्नातक है, जबकि उसके दो भाई मजदूरी करते हैं।

इस मामले की जांच कर रही पुलिस के मुताबिक जांच में सामने आया है कि बुधवार 31 मार्च की रात को दलित युवक को बेरहमी से पीटा गया और उसके प्राइवेट पार्टस को गंभीर चोट पहुंचाई गई। दलित युवक के परिवार के सदस्यों का आरोप है कि हमलावरों ने उसके मलाशय में लोहे की छड़ डाल दी थी। गंभीर हालत में उसे स्थानीय स्वास्थ्य केंद्र ले जाया गया, जहां से चिकित्सकों ने उसे जिला अस्पताल रेफर किया। जिला अस्‍पताल में अभी युवक की हालत बहुत गंभीर बताई जा रही है।

पुलिस के मुताबिक घायल युवक के बारे में पहले बताया गया कि वह आरोपी ब्रह्मदेव के घर में चोरी करने का प्रयास कर रहा था, इसलिए उसे कुछ लोगों ने पकड़कर पीटा। बाद में छानबीन के दौरान यह बात सामने आयी है कि दलित युवक हरेंद्र के संबंध ब्रह्मदेव के परिवार की बेटी से थे और वह उससे मिलने गया था।

पुलिस के मुताबिक दलित युवक हरेंद्र के होश में आने के बाद उसके बयान दर्ज किए जाएंगे। ब्रह्मदेव, राजू, भरत और गजराज के खिलाफ एससी/एसटी ऐक्ट के तहत मामला दर्ज कर लिया गया है। लखीमपुर खीरी के एसएसपी विजय ढुल ने कहा कि तीनों आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया गया है, जबकि गजराज नाम का आरोपी फरार चल रहा है।

Next Story

विविध

Share it