Top
हाशिये का समाज

चुनावी इतिहास में पहली बार पटना की ट्रांसजेंडर बनीं पोलिंग ऑफिसर, खूब हो रही तारीफ

Janjwar Desk
4 Nov 2020 4:27 AM GMT
चुनावी इतिहास में पहली बार पटना की ट्रांसजेंडर बनीं पोलिंग ऑफिसर, खूब हो रही तारीफ
x

Photo:social media

बिहार विधानसभा चुनावों के दूसरे चरण में 3 नवंबर को मोनिका को राजधानी पटना के गांधी मैदान स्थित कालिदास रंगालय में बूथ संख्या 114 तथा 115 पर माइक्रो ऑब्जर्वर बनाया गया था, जहां मोनिका ने काफी बेहतर तरीके से मतदान संपन्न कराया....

जनज्वार ब्यूरो, पटना। चुनावी इतिहास में पहली बार एक ट्रांसजेंडर को अधिकारी की भूमिका में चुनाव संपन्न कराने की जिम्मेवारी दी गयी। लोकतंत्र के महापर्व में पहली बार बिहार विधानसभा चुनाव में ट्रांसजेंडर समुदाय से आने वाली मोनिका दास को एक बड़ी जिम्मेदारी दी गयी।

स्थानीय मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार बिहार विधानसभा चुनावों के दूसरे चरण में 3 नवंबर को मोनिका को राजधानी पटना के गांधी मैदान स्थित कालिदास रंगालय में बूथ संख्या 114 तथा 115 पर माइक्रो ऑब्जर्वर बनाया गया। मोनिका ने काफी बेहतर तरीके से मतदान संपन्न कराया।

मोनिका दास केनरा बैंक की ऑफिसर हैं और देश की पहली ट्रांसजेंडर बैंकर भी हैं। माइक्रो ऑब्जर्वर की भूमिका में मोनिका एक बूथ की पूरी जिम्मेवारी संभाल रही थीं। मतदान कराने से लेकर मॉनिटरिंग करने तक का काम मोनिका दास के जिम्मे ही था।

वैसे मोनिका ने मीडिया को बताया कि वे पटना यूनिवर्सिटी से लॉ में गोल्ड मेडलिस्ट रह चुकी हैं तथा सौंदर्य प्रतियोगिता में फेस ऑफ पटना का भी ताज पहन चुकी है।

मीडिया से बातचीत के दौरान मोनिका ने कहा कि ट्रांसजेंडर समुदाय को समाज की मुख्यधारा से जुडऩे के लिए यह चुनाव आयोग की सकारात्मक पहल है। वैसे ट्रांसजेंडर जो मुख्यधारा में शामिल नहीं है उन्हें प्रेरणा मिलेगी। सुप्रीम कोर्ट से ट्रांसजेंडर को तीसरे लिंग के रूप में मान्यता मिलने के बाद समाज की मुख्यधारा से जोडऩे का प्रयास जारी है।

Next Story

विविध

Share it