हाशिये का समाज

Jaunpur Crime News : दलित महिलाओं ने पुलिस पर लगाया निर्वस्त्र कर बेरहमी से पीटने का आरोप, सपा ने योगी सरकार को घेरा

Janjwar Desk
25 March 2022 11:33 AM GMT
Jaunpur Crime News : दलित महिलाओं ने पुलिस पर लगाया निर्वस्त्र कर बेरहमी से पीटने का आरोप, सपा ने योगी सरकार को घेरा
x

(दलित महिलाओं ने पुलिस पर लगाया निर्वस्त्र कर बेरहमी से पीटने का आरोप)

Jaunpur Crime News : वायरल वीडियो में कुछ महिलाएं अपने कपड़ों को उतारकर पुलिस द्वारा उन्हें उन्हें निर्वस्त्र कर बेरहमी से पीटे जाने का आरोप लगा रही है...

Jaunpur Crime News : उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) के जौनपुर (Jaunpur) जिले का एक वायरल वीडियो चर्चा में आ गया है। इस वायरल वीडियो में कुछ महिलाएं अपने कपड़ों को उतारकर पुलिस द्वारा उन्हें उन्हें निर्वस्त्र कर बेरहमी से पीटे जाने का आरोप लगा रही है। पिटाई का वायरल वीडियो समाजवादी पार्टी ने शेयर कर उत्तर प्रदेश में दलितों संग अत्याचार की जानकारी के साथ ही पुलिस और शासन प्रशासन पर आरोप लगाया है। बता दें कि इसके साथ ही आजाद समाज पार्टी और भीम आर्मी चीफ चंद्रेशखर आजाद ने भी इस वीडियो को शेयर कर उत्तर प्रदेश की योगी सरकार पर हमला बोला है और साथ ही कार्रवाई की मांग भी की है।

समाजवादी पार्टी ने शेयर किया वीडियो

बता दें कि समाजवादी पार्टी ने अपने आधिकारिक ट्वीटर हैंडल से इस वायरल वीडियो को शेयर करते हुए लिखा कि 'दलितों पर अत्याचार में नंबर 1 भाजपा शासित उत्तर प्रदेश में एक और शर्मसार कर देने वाली पुलिसिया करतूत आई सामने। जौनपुर के बदलापुर में पुलिस द्वारा दलित महिलाओं की बर्बर पिटाई विचलित कर देने वाली घटना है। मामले में दोषी पुलिसकर्मियों पर हो सख्त कार्रवाई, पीड़ितों को मिले न्याय।'

चंद्रशेखर आजाद ने सरकार को घेरा

वहीं इस वीडियो को चंद्रशेखर आजाद ने शेयर करते हुए लिखा कि 'जौनपुर यूपी में पुरुष पुलिस प्रशासन द्वारा दलित महिलाओं के साथ अभद्रतापूर्ण व्यवहार व उनके कपड़े उतारकर पीटना अमानवीय कृत्य है। पीएम नरेंद्र मोदी और सीएम योगी आदित्यनाथ जी क्या अब दलितों का दमन करना ही आपका 'राम राज्य' है। हमारी मांग है कि दोषी पुलिसकर्मियों पर सख्य क़ानूनी कार्यवाही हो।'

यह है पूरा मामला

जौनपुर कोतवाली क्षेत्र के देवरिया गांव में बीते 20 मार्च को 2 पक्षों के बीच विवाद हो गया था। राधा नाम की एक महिला ने डायल 112 पर पुलिस को सुचना दी। जिसके बाद मौके पर पहुंची पीआरवी की टीम दोनों पक्षों में शांति व्यवस्था कायम करवाने में जुट गई। इसी बीच पीआरवी के पुलिसकर्मी राजेश यादव के साथ मारपीट हो गई, जिससे वह जख्मी हो गए। महिला राधा और पोलिसकर्मी की तहरीर पर 8 लोगों को हिरासत में लेकर जेल भेज दिया गया।

महिलाओं ने पुलिस पर लगाया पीटने का आरोप

जमानत मिलने के बाद सभी 8 लोग जेल से बाहर आ गए। इन्हीं लोगों में शामिल महिलाओं ने पुलिस पर विपक्षियों के साथ मिलकर उन्हीं के ऊपर मुकदमा दर्ज करने का आरोप लगाया। महिला ने कहा है कि पुलिस ने महिलाओं और नाबालिग बच्चों के साथ मारपीट भी की है। महिला का आरोप है कि पुलिस ने बेल्ट और पट्टे से इतनी बेहरमी से मारपीट की है कि उनकी चमड़ी काली पड़ गई है।

वहीं इस मामले में बदलापुर के सीओ अशोक कुमार का कहना है कि केले का पेड़ काटने को लेकर विवाद हुआ था। विवाद सुलझाने पहुंची पुलिस टीम पर हमला हुआ था और इस मामले में कार्रवाई की गई थी। साथ ही उन्होंने कहा कि थाने में मारपीट या अभद्रता जैसे आरोप पूरी तरह से निराधार हैं।

Next Story

विविध