हाशिये का समाज

Karnataka News : दलित बच्चे ने ग्राम देवता की मूर्ति को छुआ तो पंचायत ने परिवार पर लगाया 60 हजार रुपए का जुर्माना

Janjwar Desk
22 Sep 2022 6:12 AM GMT
Karnataka News : दलित बच्चे ने भगवान की मूर्ति को छुआ तो पंचायत ने लगाया परिवार पर 60 हजार रुपए का जुर्माना
x

Karnataka News : दलित बच्चे ने भगवान की मूर्ति को छुआ तो पंचायत ने लगाया परिवार पर 60 हजार रुपए का जुर्माना

Karnataka News : कर्नाटक के एक मेले में उत्सव जुलूस के दौरान एक दलित बच्चे ने ग्राम देवता की मूर्ति को छू लिया तो इससे नाराज ग्रामीणों ने दलित परिवार पर 60 हजार रूपए का जुर्माना लगा दिया है...

Karnataka News : कर्नाटक से हैरान कर देने वाली खबर सामने आई है। कर्नाटक के एक मेले में उत्सव जुलूस के दौरान एक दलित बच्चे ने ग्राम देवता की मूर्ति को छू लिया तो इससे ग्रामीण नाराज हो गए। नाराज ग्रामीणों ने दलित परिवार पर 60 हजार रूपए का जुर्माना लगा दिया है। बता दें कि यह घटना कर्नाटक के कोलार जिले के उलरहल्ली गांव की है।

दलितों को नहीं है ग्राम देवता के मंदिर में प्रवेश करने की अनुमति

दरअसल वोक्कालिगा समुदाय के वर्चस्व वाले उलरहल्ली गांव में दलित समुदाय के केवल 8 - 10 परिवार रहते हैं। बीते 8 सितंबर को गांव में भूतयम्मा मेले का आयोजन किया गया था और दलितों को गांव के देवता के मंदिर में प्रवेश करने की अनुमति नहीं थी। इसी गांव के रहने वाले शोभा और रमेश का 15 साल का बेटा मंदिर चला गया था। दसवीं कक्षा में पढ़ने वाले बच्चे ने ग्राम देवता सिदिराना से जुड़े एक खंबे को छू लिया। इस खंभे को गांव के प्रमुख देवता से जुड़ा हुआ माना जाता है।

ग्राम देवता को दलित बच्चे द्वारा छूने से नाराज थे ग्रामीण

इस घटना को ग्रामीण वेंकटेशप्पा ने देख लिया और बुजुर्गों को बता दिया। वेंकटेशप्पा ने आरोप लगाया कि दलित लड़के ने गांव के नियमों की अनदेखी की है। उसके बाद उसके परिवार को अगले दिन गांव के बुजुर्गों के सामने पेश होने के लिए बुलाया गया था। दलित बच्चे द्वारा ग्राम देवता को छूने से गांव वाले नाराज थे।

ग्रामीणों ने दलित परिवार पर लगाया 60 हजार रूपए का जुर्माना

नाराज ग्रामीणों ने दलित बच्चे के परिवार पर आरोप लगाया कि बच्चे के द्वारा पोल को छू लेने से अब वह पोल और शुद्ध हो गया है और उसे फिर से रंगना पड़ा है। गांव के मुखिया नारायण स्वामी ने उन पर 1 अक्टूबर तक रीपेंटिंग के लिए 60 हजार रुपए का जुर्माना लगा दिया। इसके साथ ही उन्होंने चेतावनी दी कि अगर वे 1 अक्टूबर तक जुर्माना नहीं भरते हैं तो पूरे परिवार को गांव वालों की ओर से बहिष्कृत कर दिया जाएगा।

पुलिस ने आरोपी ग्रामीणों को किया गिरफ्तार

ग्रामीणों के इस फैसले के खिलाफ शोभा ने मस्ती पुलिस थाने में 8 लोगों के खिलाफ शिकायत दर्ज कराई थी और पुलिस ने उन्हें गिरफ्तार कर लिया है। इसके साथ ही शोभा ने आरोप लगाया था कि ऊंची जाति के लोग से उनके परिवार को खतरा है।

Next Story

विविध