हाशिये का समाज

Unnao Case : प्रियंका गांधी ने BJP पर साधा निशाना, इधर-उधर के बजाय जवाब दे YOgi सरकार

Janjwar Desk
12 Feb 2022 6:54 AM GMT
Priyanka Gandhi Vadra
x

प्रियंका गांधी ने ट्विटकर कहा है कि महिलाएं आपने हिसाब से कुछ भी पहने, ये उनकी मर्जी।

Unnao Case : एक दलित लड़की की मां अपनी बेटी का पता लगाने के लिए दफ्तरों के चक्कर काटती रही। अंत में उसको अपनी बेटी का शव मिला। प्रशासन ने उसकी एक नहीं सुनी।

Unnao Case : उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव प्रचार के बीच उन्नाव में दलित लड़की की हत्या ( Unnao Dalit Girl Murder Case ) को लेकर आज कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा ( Priyanka Gandhi Vadra ) आक्रामक नजर आईं। उन्होंने इस हत्याकांड के लिए योगी सरकार ( Yogi Government ) को दोषी ठहराया है। साथ ही कहा है कि सरकार इस मुद्दे पर इधर-उधर झांकने के बजाय जवाब दे।

प्रियंका गांधी वाड्रा ( Priyanka Gandhi Vadra ) ने दलित लड़की की हत्या पर कहा कि जो घटा है वो उत्तर प्रदेश ( Uttar Pradesh ) में नया नहीं है। एक दलित लड़की की मां अपनी बेटी का पता लगाने के लिए दफ्तरों के चक्कर काटती रही। अंत में उसको अपनी बेटी का शव मिला। प्रशासन ने उसकी एक नहीं सुनी। भाजपा ( BJP ) को इस मुद्दे पर राजनीति करने की बजाय जवाब देना चाहिए कि प्रशासन क्यों घटना से पहले तक सोई रही। उन्नाव में जो घटा वो उत्तर प्रदेश में नया नहीं है। एक दलित लड़की ( Dalit Girl ) की मां अपनी बेटी का पता लगाने के लिए दफ्तरों के चक्कर काटती रही। अंत में उसको अपनी बेटी का शव मिला। प्रशासन ने उसकी एक नहीं सुनी।

झूठे दावों में व्यस्त है भाजपा

भाजपा सरकार ( BJP Government ) को इस मुद्दे पर राजनीति करने की बजाय जवाब देना चाहिए कि प्रशासन क्यों इतनी सुस्त है। महिलाओं पर अत्याचार कर उनकी हत्या कर दी जाती है और आप झूठे दावों में व्यस्त रहते हैं।

अखिलेश का तंज - पुलिस सो रही थी

सपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव ( Akhilesh Yadav ) ने यूपी पुलिस पर भी सवाल उठाते हुए कहा कि जिस समय इस संबंध में एफआईआर दर्ज की गई थी उस समय पुलिस ने कार्रवाई क्यों नहीं की? क्या उस समय यूपी पुलिस सो रही थी। आखिरकार यूपी पुलिस कानून-व्यवस्था को कब बेहतर करेगी। एफआईआर दर्ज होने के कितने दिनों बाद कार्रवाई हो रही है, यह जिम्मेदारी किसकी थी।

मृतका की मां ने की सीबीआई जांच की मांग

बता दें कि उन्नाव में पिछले 2 महीने से लापता दलित युवती का शव यूपी पुलिस ने दो दिन पहले बरामद किया था। युवती का शव सपा नेता और पूर्व राज्य मंत्री फतेह बहादुर सिंह के प्लाट से खुदाई के बाद बाहर निकाला गया। शव का पोस्टमार्टम कराने के बाद पुलिस उसे अंतिम संस्कार के लिए जाजमऊ चंदन घाट पर लेकर पहुंची थी। जहां मृतका के परिवार ने अंतिम संस्कार नहीं होने दिया। मृतका के परिजनों ने पुलिस-प्रशासन के सामने अपनी कई मांगे रखीं। मांगे पूरी न होने पर शव का अंतिम संस्कार नहीं होने दिया।

न्याय न मिलने पर गंगा में कूदकर दे दूंगी जान

दलित युवती की मां का आरोप है कि उनकी बेटी के साथ दुष्कर्म किया गया था। दुष्कर्म के बाद उनकी बेटी की हत्या की गई। उन्होंने पुलिस से कहा कि उनकी बेटी के शव को डी फ्रीजर में रखवा दिया जाए। वह दस दिन बाद उसका अंतिम संस्कार करेंगी। अगर उन्हें न्याय नहीं मिला तो वह मामले की सीबीआई जांच की मांग करेंगी। बेटी को न्याय नहीं मिला तो वह बेटी के शव के साथ गंगा में कूदकर जान दे देंगी।

Next Story

विविध