हाशिये का समाज

यूपी : PM ने जिन सफाईकर्मियों के पांव धोकर बिखेरा था बड़प्पन, 5 माह की तनख्वाह न मिलने से घर के जेवर गिरवी रख चला रहे खर्च

Janjwar Desk
1 Sep 2021 1:49 PM GMT
यूपी : PM ने जिन सफाईकर्मियों के पांव धोकर बिखेरा था बड़प्पन, 5 माह की तनख्वाह न मिलने से घर के जेवर गिरवी रख चला रहे खर्च
x

कितना अच्छा होता अगर सम्मान से पेट भर जाया करता (फाइल फोटो)

सफाईकर्मियों का कहना है कि वे कर्ज लेकर घर तो चला रहे हैं, लेकिन अब उन्हें सूदखोर कर्ज वापस करने के लिए परेशान करने लगे हैं। क्योंकि कई महीनों बाद भी वे मूलधन तो दूर ब्याज भी नहीं दे सके हैं...

जनज्वार, प्रयागराज। यूपी के प्रयागराज स्थित संगम तट और उसके आसपास की सफाई 'नमामि गंगे' घाट सफाई परियोजना के तहत कराई जाती है। इस काम के लिए विशाल प्रोटेक्शन फोर्स नाम की कंपनी को ठेका दिया गया है। लेकिन, कंपनी की तरफ से इन सफाई कर्मियों को पिछले 5 महीने से वेतन नहीं दिया गया है। ऐसे में अब ये सफाई कर्मियों सूदखोरों से कर्जा लेकर अपना और अपने परिवार का पेट पाल रहे हैं।

पिछले 5 महीने से बिना वेतन काम करने वाले इन सफाई कर्मियों का कहना है कि वे कर्ज लेकर घर तो चला रहे हैं, लेकिन अब उन्हें सूदखोर कर्ज वापस करने के लिए परेशान करने लगे हैं। क्योंकि कई महीनों बाद भी वे मूलधन तो दूर ब्याज भी नहीं दे सके हैं।

कुम्भ-2019 में मेला क्षेत्र की सफाई करने वाले सफाई कर्मियों का प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने पैर धुलकर उनका और खुद का मान-सम्मान पूरी दुनिया में बढ़ा दिया था। जिसके बाद प्रयागराज ही नहीं देश भर के सफाई कर्मियों के मन में आस जगी थी कि अब उनके भी दिन बहुरेंगे। लेकिन, दो साल बाद उसी संगम क्षेत्र की साफ-सफाई करने वाले सफाईकर्मी कई महीनों से वेतन न पाने की वजह से भुखमरी की कगार तक पहुंच गए हैं।

दो साल पहले प्रधानमंत्री के हाथों से पैर धुलने के बाद देश भर में सफाई का कार्य करने वालों का सीना गर्व से फूल गया था। देश के इतिहास में ऐसा पहली बार हुआ था जब देश के प्रधानमंत्री ने सार्वजनिक रूप से सफाई कर्मियों का सम्मान करने के लिए उनके पैर पखारने का काम किया था। जिसके बाद से सफाई का काम करने वालों को उम्मीद बंधी थी कि अब सफाई करने वालों को सम्मान के साथ ही तय समय पर उनका वेतन व हक मिलता रहेगा। लेकिन, जो हुआ वह सामने है।

सफाई कर्मियों को 5 माह से वेतन न मिलने पर विपक्षी नेताओं ने सरकार पर कटाक्ष किया है। कांग्रेस नेता अभय अवस्थी ने कहा कि, 'भगवान राम ने निषादराज के पैर धुले थे, उसके बाद पीएम मोदी ने सफाई कर्मियों का पैर पखारकर उनका सम्मान किया था। लेकिन, आज उसी संगम क्षेत्र की सफाई करने वाले कर्मचारी जेवर बेचकर व सूदखोरों से कर्ज लेकर घर चला रहे हैं। ऐसे में सरकार को सोचना चाहिए, सफाई कर्मियों का पैर धुलकर सम्मान करने से उनका पेट नहीं भरेगा, पेट भरने के लिए उन्हें वेतन चाहिए। कांग्रेस ने सरकार से जल्द से जल्द सफाई कर्मियों को वेतन देने की मांग की है।'

अधिकारी बोले जल्द दिया जाएगा वेतन

इस मामले में विशाल प्रोटेक्शन फोर्स के अधिकारी जेपी सिंह ने कहा की जल्द ही सफाई कर्मियों को वेतन दिया जाएगा। सिंह ने उम्मीद जताई है कि सितम्बर महीने में वेतन का भुगतान कर दिया जाएगा। वेतन देने में देर होने के पीछे कंपनी ने नगर निगम से भुगतान न मिलने को कारण बताया है, उनका कहना है की नगर निगम ने भुगतान नहीं किया इसी वजह से सैलरी नहीं दी जा सकी है।

साथ ही कंपनी की तरफ से ये दावा किया गया है की निगम के अफसरों से बात हुई है, जल्द ही वेतन भुगतान किया जाएगा। वहीं, नगर आयुक्त रवि रंजन का कहना है कि कंपनी की तरफ से कार्य करने में कुछ खामियां मिली थीं, जिसकी वजह से पेमेंट में दिक्कत हुई है। लेकिन, उन्होंने जल्द ही समस्या का निस्तारण करने की बात कही है।

Next Story

विविध

Share it