हाशिये का समाज

Pithoragarh News : कार में घुमाने के बहाने DJ वाले सवर्ण लड़कों पर नाबालिग दलित लड़कियों से दुष्कर्म का आरोप, पुलिस नहीं कर रही सुनवाई

Janjwar Desk
22 Feb 2022 12:53 PM GMT
x
Pithoragarh crime News : पिता ने बताया कि 17 और 15 वर्षीय दोनों नाबालिग लड़कियों को डीजे वाले लड़कों ने प्यार से कार में घुमाने के बहाने अपने चंगुल में फंसाया और रात भर अपनी हवस का शिकार बनाकर टनकपुर-पिथौरागढ़ हाईवे पर छोड़ दिया...

Uttarakhand Crime News : उत्तराखंड के पिथौरागढ़ में दो नाबालिक लड़कियों के साथ दुष्कर्म का मामला सामने आया है। आरोप लगाए जा रहे हैं कि प्रशासन और आरोपी पक्ष द्वारा पीड़ित परिवार पर दवाब बनाया जा रहा है। इस मामले की पूरी जानकारी लेने के लिए जनज्वार की टीम ने पीड़ित के पिता से बातचीत की है।

पीड़ित के पिता ने लगाए प्रशासन पर आरोप

पीड़ित लड़कियों के पिता ने बताया कि यह घटना 18 जनवरी के रात की है। पिता ने बताया कि दो डीजे वाले लड़कों ने उनकी नाबालिग बेटी के साथ गंदा काम किया है। दोनों डीजे वाले लड़कों का नाम गौरव बिष्ट और किशन है। पिता ने बताया कि 17 वर्षीय और 15 वर्षीय दोनों नाबालिग लड़कियों को डीजे वाले लड़कों ने प्यार से कार में घुमाने के बहाने अपने चंगुल में फंसाया और रात भर अपनी हवस का शिकार बनाकर टनकपुर-पिथौरागढ़ हाईवे पर छोड़ दिया। जिसके बाद एक ट्रक ड्राइवर ने दोनों बेटियों को तब्बड़ पर छोड़ा और उसके मोबाइल से घर में सूचना दी गई, जिसके बाद वह गाड़ी बुक कर के 7 से 8 लोगों को लेकर गए और उनको अपने घर लेकर आए।


प्रशासन पर धांधली का आरोप

पीड़ित के पिता ने बताया कि इस घटनाक्रम के बाद उन्होंने प्रशासन से शिकायत कर कार्रवाई करने को कहा, लेकिन प्रशासन कार्यवाही करने के बजाए उल्टा पीड़ित के पिता को ही गुमराह कर रहा है और धमका रहा है। पिता ने बताया कि इस मामले में अभी तक कोई भी एफआईआर दर्ज नहीं हुई है। एसडीएम ने आश्वासन दिया था और कहा था कि तहसीलदार के पास जाओ। जब पीड़ित के पिता तहसीलदार से मिले तो उन्हें गुमराह किया गया और एसडीएम के कमरे में ले जाकर उनसे बातचीत की गई। इस दौरान पीड़ित के पिता से एक आरोपी की तरह सवाल-जवाब किए गए। पीड़ित के पिता से कहा गया कि यदि उनकी बेटी के साथ रेप की पुष्टि नहीं हुई तो उन्हें जेल जाना होगा।


बेटी पर आरोपी पक्ष बना रहा है दबाव

पिता ने दावा किया है कि उनकी लड़कियों पर आरोपी पक्ष द्वारा दबाव बनाया जा रहा है। जब पिता घर पर नहीं होते हैं, तब आरोपी उनके घर जाकर लड़की को डराते धमकाते है। उनकी लड़कियां डर कर सच नहीं बता पा रही हैं। इसके साथ ही पीड़ित के पिता ने आरोप लगाया है कि आरोपी द्वारा उन्हें भी जान से मारने की धमकी दी जा रही है। देर रात उनके घर फोन कर धमकी दी जाती है। इस मामले में पीड़ित के पिता ने चेतावनी दी है कि यदि जल्द से जल्द कोई कार्यवाही नहीं की गई तो वह डीएम कार्यालय के बाहर आत्महत्या करने के लिए बाध्य होंगे।

Next Story

विविध