आंदोलन

सेंचुरी सत्याग्रह : पुलिस ने मेधा पाटकर समेत 800 से ज्यादा किसान-मजदूर आंदोलनकारियों को किया गिरफ्तार

Janjwar Desk
3 Aug 2021 3:31 PM GMT
सेंचुरी सत्याग्रह : पुलिस ने मेधा पाटकर समेत 800 से ज्यादा किसान-मजदूर आंदोलनकारियों को किया गिरफ्तार
x

(किसान मजदूर संगठनों ने मांग की है कि पुलिस जवानों की जांच कर दोषी अधिकारियों को तत्काल दंडित करें।)

जिला प्रशासन और कसरावद एसडीएम ने ना तो मजदूरों को बताया कि किस धारा के तहत गिरफ्तार किया गया है और ना ही पुलिस ने। मिल मैनेजमेंट की मनमानी के खिलाफ कार्रवाई करने के बजाए प्रशासन उसका गुलाम बना हुआ है...

इंदौर। मध्यप्रदेश के खरगोन जिले के कसरावद में चल रहे सेंचुरी सत्याग्रह रोजगार आंदोलन की पुलिस ने मंगलवार की सुबह 11 बजे घेराबंदी की और फिर सभी 800-900 श्रमिकों को गिरफ्तार कर लिया। इस दौरान नर्मदा बचाओ आंदोलन की नेता मेधा पाटकर को भी गिरफ्तार किया गया और उन्हें कसरावद के गेस्ट हाउस संग्रहालय एनवीडीए रेस्ट हाउस में ले जाया गया।

समाजवादी समागम के संयोजक रामस्वरूप मंत्री ने बताते हैं कि मध्यप्रदेश के 75 से ज्यादा किसान मजदूर संगठनों ने पुलिस -प्रशासन के दमन तथा गिरफ्तारी की निंदा करते हुए सभी गिरफ्तार नेताओं - कार्यकर्ताओं को तत्काल रिहा करने व दमन करने वाले अधिकारियों को दंडित करने की मांग की है। इन सभी संगठनों ने मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री से मांग की है कि प्रशासनिक अधिकारी बिरला मैनेजमेंट के इशारे पर दमन की कार्यवाही कर श्रमिक अशांति फैलाना चाहते हैं जो कि मध्य प्रदेश के लिए घातक होगा।

गौरतलब है कि सेंचुरी के श्रमिकों का यह आंदोलन श्रमिक जनता संघ के नेतृत्व में पिछले 45 महीने से शांतिपूर्ण तरीके से चल रहा था और इसे अनुमति भी प्राप्त थी। श्रमिकों को जबरिया तरीके से वीआरएस देने के खिलाफ हाईकोर्ट में मामला लंबित है, उसका फैसला आने के पूर्व ही सैंचुरी मैनेजमेंट ने मनमाने तरीके से श्रमिकों के हाथों में जबरिया पैसा डालकर वीआरएल देने की कोशिश की है जो कि नियम सम्मत और कानूनी नहीं है।

उसके बावजूद मजदूर शांतिपूर्ण तरीके से आंदोलन कर रहे थे। आज जब वे सेंचुरी मिल को खरीदने वाले मंजीत सिंह से मिलने और चर्चा करने की कोशिश कर रहे थे, तभी 3 जिलों की पुलिस ने घेराबंदी कर 800 से ज्यादा मजदूरों और श्रमिक जनता संघ की अध्यक्ष मेधा पाटकर को गिरफ्तार कर लिया ।

मजदूरों को किस धारा के तहत गिरफ्तार किया गया है, ना ही पुलिस प्रशासन ने बताया और ना ही एसडीएम -जिला प्रशासन ने बताया। किसान मजदूर संगठनों ने आरोप लगाया कि मिल मैनेजमेंट की मनमानी के खिलाफ कार्रवाई करने के बजाए प्रशासन उसका गुलाम बना हुआ है और शांतिपूर्ण तरीके से संवैधानिक अधिकार का उपयोग कर रहे मजदूरों पर जुल्म कर रहा है।

श्रमिक जनता संघ की अध्यक्ष मेधा पाटकर के नेतृत्व में चलाए जा रहे सेंचुरी सत्याग्रह आंदोलन के तहत रोजगार के अधिकार के लिए वीआरएस के विरोध में सेंचुरी के श्रमिकों, प्रतिनिधियो और महिलाओं द्वारा किये जा रहे 'चेतावनी उपवास' स्थल पर बर्बर तरीके से 3 जिलों की पुलिस ने महिला-पुरुष आंदोलनकारियों और बच्चों को घसीटकर गिरफ्तार किया जिससे कई श्रमिक कार्यकर्ताओं को चोट आई है।

पुलिस की इस बर्बर कार्यवाही का मध्य प्रदेश के 75 से ज्यादा किसान मजदूर संगठनों के नेताओं ने तीव्र निंदा तीव्र निंदा की है तथा मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री से मांग की है कि शांतिपूर्ण तरीके से संवैधानिक अधिकार का उपयोग कर रहे श्रमिक जनता संघ और सेंचुरी के मजदूरों को तत्काल रिहा करें।

किसान मजदूर संगठनों ने मांग की है कि पुलिस जवानों की जांच कर दोषी अधिकारियों को तत्काल दंडित करें। गिरफ्तारी की निंदा करने वालों में प्रमुख रूप से पूर्व विधायक तथा जन आंदोलनों के राष्ट्रीय समन्वय के कार्यकारी ग्रुप के सदस्य डॉ सुनीलम ,पूर्व सांसद कल्याण जेन, इरफान जाफरी उमेश तिवारी, बाबू सिंह राजपूत, इंद्रजीत सिंह रामस्वरूप मंत्री, दिनेश सिंह कुशवाहा, कृपाल सिंह मंडलोई ,बबलू जाधव, आराधना भार्गव, इंद्रजीत सिंह महेश पटेरिया, राजकुमार नागेश्वर, प्रसन्ना मंडोलिया भागवत परिहार है। गिरफ्तारी का विरोध करने वाले संगठन निम्नवत हैं-

1. किसान जागृति संगठन-भोपाल से इरफान जाफरी

2. टोकों, रोकों, ठोको क्रांतिकारी संगठन, सीधी-उमेश तिवारी

3. क्रांतिकारी किसान मजदूर संगठन, भोपाल-बाबूसिंह राजपूत

4. शहीद राघवेंद्र सिंह किसान संघर्ष समिति, रीवा- इंद्रजीतसिंह

5. भारतीय किसान युनियन, नरसिंहपुर - बाबूलाल पटेल

6. भारतीय किसान श्रमिक जनशक्ति युनियन, सागर - संदीप ठाकुर

7. भारतीय किसान एवं मजदूर सेना, इंदौर- बबलू जाधव

8. खुदाई खिदमतगार, अलीराजपुर - कृपाल सिंह मंडलोई

9. आम किसान युनियन हरदा -राम इनानिया

10. राष्ट्रीय मजदुर किसान मंच- अधिवक्ता गोविंद बाली

11. टी यू सी सी मध्यप्रदेश इकाई-(संयोजक) सुनील सिंह

12. बैतूल से किसान संघर्ष समिति,अध्यक्ष- डॉ सुनीलम

13. छिंदवाड़ा से किसान संघर्ष समिति ,उपाध्यक्ष -आराधना भार्गव

14. कटनी से उपाध्यक्ष, किसान संघर्ष समिति उपाध्यक्ष- डॉ.एके खान

15. नीमच से किसान संघर्ष समिति महामंत्री- राजेन्द्र पुरोहित

16. इंदौर से किसंस संयोजक- रामस्वरूप मंत्री

17. सिंगरौली से किसंस संयोजक -निसार आलम अंसारी

18. सिवनी से किसंस संयोजक -राजेश पटेल

19. ग्वालियर से किसंस प्र. सचिव एड.विश्वजीत रतौनिया

20. महू से किसंस प्र. सचिव - दिनेश सिंह कुशवाह

21. टीकमगढ़ से किसंस प्र. सचिव- महेश पटेरिया (प्र. सचिव )

22. झाबुआ से किसंस प्र. सचिव-राजेश बैरागी

23. देवास से किसंस प्र. सचिव- लीलाधर चौधरी

24. रायसेन से किसंस प्र. सचिवश्रीराम सेन

25. सिवनी से किसंस प्र. सचिव - डॉ.राजकुमार सनोडिया

26. ग्वालियर से किसंस प्र. सचिवएड.रायसिंह

27. बैतूल से किसंस जिलाध्यक्ष- जगदीश दोड़के

28. विदिशा से किसंस जिलाध्यक्ष- राजेश तामेश्वरी

29. इंदौर से किसंस जिलाध्यक्ष-छेदीलाल यादव

30. मंदसौर से किसंस जिलाध्यक्ष-दिलीपसिंह पाटीदार

31. झाबुआसे किसंस जिलाध्यक्ष-गोपाल डामोर

32. ग्वालियर से किसंस जिलाध्यक्ष-रमेश परिहार

33. बालाघाट से किसंस जिलाध्यक्ष-राजकुमार नागेश्वर

34 . छिंदवाड़ा से किसंस जिलाध्यक्ष-डॉ विजय बिजौलिया

35 . हरदा से किसंस जिलाध्यक्ष-योगेश तिवारी

36. रीवा से किसंस जिलाध्यक्ष-त्रिनेत्र शुक्ला

37. अशोकनगर से किसंस जिलाध्यक्ष-महेन्द्रसिंह यादव

38. मंडला से किसंस जिलाध्यक्ष-रामसिंह कुलस्ते

39. सिवनी से किसंस जिलाध्यक्ष-रामकुमार सनोडिया

40. धार से किसंस जिलाध्यक्ष-प्रशन्ना मंडोलिया

42. टीकमगढ़ से किसंस जिलाध्यक्ष-सुधीर शुक्ला

43. अलीराजपुर से किसंस जिलाध्यक्ष-नवनीत कुमार मंडलोई

44. मुरैना से किसंस जिलाध्यक्ष-महेशदत्त मिश्रा,पूर्व विधायक

45. सागर से किसंस जिलाध्यक्ष-अभिनय श्रीवास

46. राजगढ़ से किसंस जिलाध्यक्ष-कमल सिंह उमढ़

47. सिंगरौली से किसंस जिलाध्यक्ष-एड.अशोक सिंह पैगाम

48. मुलताई से किसंस महामंत्री - भागवत परिहार

49. मंडला से विजय कुमार (अखिल भारतीय क्रांतिकारी किसान सभा, )

50. एम डी चौबे (मानव अधिकार सुरक्षा संगठन के राष्ट्रीय सलाहकार )

51. इंसोको के अध्यक्ष कोच्चि ( केरल ) के पूर्व महापौर के जे सोहन और उपाध्यक्ष पी जे जोशी

52. एडवोकेट डॉ. पुष्पराग ,गुना

53. राजकुमार सिन्हा (बर्गी बांध विस्थापित संघ,जबलपुर),

54. मनीष श्रीवास्तव (अखिल भारतीय खेत मजदूर किसान संगठन)

55. वासिद खान, प्रदेश महासचिव, नेशनल कॉन्फ़ेडरेशन ऑफ़ ह्यूमन राइट्स ऑर्गनाइज़ेशन्स, (NCHRO) मध्यप्रदेश आदि शामिल है।

56. पूर्व सांसद शेख अब्दुल रहमान

57. प्रफुल्ल सामंत्रा, अध्यक्ष ,लोकशक्ति अभियान ,ओडिसा

58. प्रोफेसर आनंद कुमार

59. वरिष्ठ पत्रकार अरुण त्रिपाठी

60. डॉ संदीप पांडेय , राष्ट्रीय उपाध्यक्ष , सोशलिस्ट पार्टी , इंडिया

61. बी आर पाटिल ,पूर्व उपसभापति , कर्नाटक विधान सभा, बंगलुरू

62. गुड्डी ,संयोजक, युवा बिरादरी, मुम्बई

63. हिम्मत सेठ ,सम्पादक समता संदेश, राजस्थान

64. अविक साहा संयोजक, जय किसान आंदोलन

65. टी आर आठ्या संपादक, जन योद्धा

66. जबर सिंह, राष्ट्रीय महामंत्री , राष्ट्र सेवा दल,उत्तराखंड

67. अरुण कुमार श्रीवास्तव राष्ट्रीय अध्यक्ष, फैक्टर, दिल्ली

68. शाहिद कमाल महामन्त्री , राष्ट्र सेवा दल ,बिहार

69. राम बाबू अग्रवाल, राष्ट्रीय संयोजक , लोहिया विचार मंच

70. कल्याण जैन , पूर्व सांसद

71. अनिल त्रिवेदी , वरिष्ठ अधिवक्ता

72. चिन्मय मिश्र , साहित्यकार

Next Story

विविध