Top
आंदोलन

किसान आंदोलन: महिलाएं ले रहीं ट्रैक्टर चलाने की ट्रेनिंग, 26 जनवरी के मार्च में करेंगी अगुवाई

Janjwar Desk
7 Jan 2021 8:52 AM GMT
किसान आंदोलन: महिलाएं ले रहीं ट्रैक्टर चलाने की ट्रेनिंग, 26 जनवरी के मार्च में करेंगी अगुवाई
x
किसानों ने टिकरी बॉर्डर पर अर्धनग्न होकर प्रदर्शन किया, वहीं ट्रैक्टर रैली के चलते ईस्टर्न पेरिफेरल एक्सप्रेसवे से ट्रैफिक को डायवर्ट किया गया है..

जनज्वार। तीन नए कृषि कानूनों के विरोध में किसानों ने आज ट्रैक्टर मार्च निकाला है। इस दौरान किसानों ने अर्द्धनग्न प्रदर्शन भी किया। किसानों का यह आंदोलन आज गुरुवार को 43वें दिन में प्रवेश कर गया है। केंद्र सरकार के साथ कई दौर की वार्ता अबतक विफल रही है। इसके बाद किसान संगठनों ने अपने आंदोलन को और तेज कर दिया है। उधर 26 जनवरी को गणतंत्र दिवस पर होनेवाली रैली के लिए महिलाएं ट्रैक्टर चलाने का प्रशिक्षण ले रहीं हैं। खबर है कि महिलाएं इस रैली की अगुवाई करेंगी।

भीषण ठंढ और बारिश के बीच विपरीत मौसम में भी दिल्ली से लगी विभिन्न राज्यों की सीमाओं पर किसान लगातार जमे हुए हैं। उनका दावा है कि आज के इस मार्च में 60 हजार ट्रैक्टर शामिल हैं। यह मार्च सिंघु बॉर्डर से टिकरी, टिकरी से शाहजहांपुर, गाजीपुर से पलवल और पलवल से गाजीपुर तक निकाला जा रहा है।

उधर किसानों ने टिकरी बॉर्डर पर अर्धनग्न होकर प्रदर्शन किया और कृषि कानूनों और सरकार के खिलाफ नारेबाजी की। वहीं किसानों की ट्रैक्टर रैली के चलते ईस्टर्न पेरिफेरल एक्सप्रेसवे से ट्रैफिक को डायवर्ट किया गया है। डासना पर आईजी, डीएम, एसएसपी व एसपी सिटी ने संभाला व्यवस्थाओं का जिम्मा संभाल रखा है।


जबकि दिल्ली के बुराड़ी में भी प्रदर्शन कर रहे किसानों ने ट्रैक्टर मार्च निकालकर विरोध प्रदर्शन किया है। ट्रैक्टर रैली में 144 ट्रैक्टर ईस्टर्न पेरिफेरल एक्सप्रेसवे से पलवल की ओर जा रहे हैं। वहीं पलवल से सिंघु बॉर्डर की ओर किसानों का जत्था रवाना हो रहा है। उनके साथ पुलिस बल भी चल रहा है।

उधर डासना में ईस्टर्न पेरीफेरल एक्सप्रेसवे से किसानों की ट्रैक्टर रैली का काफिला गुजरा तो डासना पर कुछ देर जाम की स्थिति बनी। हालांकि पुलिस ने जल्द ही रास्ता खुलवा दिया।


इससे पहले केंद्र सरकार के साथ 4 जनवरी की वार्ता विफल होने के बाद किसान नेताओं ने घोषणा की थी कि सरकार ने मांगें नहीं मानीं तो 26 जनवरी को गणतंत्र दिवस पर ट्रैक्टर परेड होगी। आज का मार्च उसी का ट्रेलर है।

मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार हरियाणा के किसान संगठनों ने हर गांव से 10 महिलाओं को 26 जनवरी के लिए दिल्ली बुलाया है। यही अपील UP के किसानों ने की है। गणतंत्र दिवस पर ट्रैक्टर मार्च की अगुआई महिलाएं ही करेंगी। हरियाणा की करीब 250 महिलाएं ट्रैक्टर चलाने की ट्रेनिंग ले रही हैं।

बता दें कि किसानों और सरकार के बीच 4 जनवरी की मीटिंग बेनतीजा रही और अगली तारीख 8 जनवरी तय हुई। अगली मीटिंग में कृषि कानूनों को वापस लेने और MSP पर अलग कानून बनाने की मांग पर बात होगी। यह 9वें दौर की बैठक होगी। इससे पहले सिर्फ 7वें दौर की मीटिंग में किसानों की 2 मांगों पर सहमति बन पाई थी, बाकी सभी बैठकें बेनतीजा रहीं।

Next Story

विविध

Share it