आंदोलन

बेरोजगारी-महंगाई और किसानों-मजदूरों के ज्वलंत मुद्दों को लेकर किसान मजदूर नौजवान अधिकार यात्रा शुरू

Janjwar Desk
8 Oct 2022 6:10 AM GMT
बेरोजगारी-महंगाई और किसानों-मजदूरों के ज्वलंत मुद्दों को लेकर किसान मजदूर नौजवान अधिकार यात्रा शुरू
x

बेरोजगारी-महंगाई और किसानों-मजदूरों के ज्वलंत मुद्दों को लेकर किसान मजदूर नौजवान अधिकार यात्रा शुरू

केंद्र की मोदी और राज्य की योगी सरकार में कॉरपोरेट घरानों को लूट व मुनाफाखोरी की खुली छूट दे दी गई है, जबकि खेती किसानी, व्यापार, कुटीर व छोटे मझोले उद्योग-धंधे सब कुछ चौपट हो रहा है, देश में अघोषित आपातकाल जैसे हालात हैं...

Azamgarh news : पूर्वांचल किसान यूनियन के बैनर तले बेरोजगारी, महंगाई समेत किसानों, मजदूरों के ज्वलंत मुद्दों को लेकर किसान मजदूर नौजवान अधिकार यात्रा का आगाज 7 अक्टूबर को शहर स्थित गांधी प्रतिमा से हुआ। तमाम युवा व अन्य संगठनों ने यात्रा का समर्थन किया है। यह यात्रा 12 अक्टूबर तक चलेगी।

आजमगढ़ से वाराणसी तक 150 किमी की यात्रा में हर परिवार के एक सदस्य को सरकारी नौकरी, देशभर में एक करोड़ रिक्त पड़े पदों को भरने, न्यूनतम समर्थन मूल्य (एमएसपी) की कानूनी गारंटी, किसानों को मुफ्त बिजली, संविदा व आउटसोर्सिंग व्यवस्था खत्म करने और संविदा कर्मचारियों को नियमित करने, मनरेगा में कम से कम 200 दिन काम की गारंटी, पुरानी पेंशन बहाली, गेहूं व धान का समर्थन मूल्य 4000 और गन्ना का 700 रुपये प्रति कुंतल करने, किसानों को सस्ता खाद बीज आदि मुहैया कराने, लाभदायक सार्वजनिक ईकाइयों के निजीकरण पर रोक लगाने, किसानों को 5 लाख तक ब्याज मुफ्त कर्ज जैसे ज्वलंत मुद्दों उठाया गया है। यात्रा का नेतृत्व पूर्वांचल किसान यूनियन के अध्यक्ष योगी राज सिंह, महासचिव वीरेन्द्र यादव, भगतसिंह यूथ फ्रंट के अध्यक्ष हरीश मिश्रा उर्फ वनारस वाले मिश्रा जी, अजय पटेल ने किया।

इस मौके पर यात्रा का समर्थन युवा मंच के प्रदेश संयोजक राजेश सचान, रिहाई मंच के राजीव यादव, मऊ की पूर्व चेयरमैन राणा खातून समेत कई संगठनों के प्रतिनिधियों ने किया।

यात्रा शुरू होने के मौके पर गांधी प्रतिमा पर आयोजित सभा को संबोधित करते हुए वक्ताओं ने कहा कि मोदी सरकार और योगी सरकार की जनविरोधी नीतियों से आम जनता त्रस्त है। प्रदेश व देश में बेकारी व महंगाई चरम पर है। सरकार की जनविरोधी नीतियों से हालात बद से बदतर होते जा रहे हैं। कॉरपोरेट घरानों को लूट व मुनाफाखोरी की खुली छूट दे दी गई हैए जबकि खेती किसानी, व्यापार, कुटीर व छोटे मझोले उद्योग-धंधे सब कुछ चौपट हो रहा है। देश में अघोषित आपातकाल जैसे हालात हैं।

शांतिपूर्ण तरीके से जनमुद्दों को उठाने की भी प्रदेश में ईजाजत नहीं दी जा रही है। वक्ताओं ने सीबीआई, ईडी के दुरुपयोग को रोकने और यूएपीए, देशद्रोह जैसे काले कानूनों को खत्म करने की भी मांग की। समाचार लिखने तक गांधी प्रतिमा से शुरू हुई यात्रा कलेक्ट्रेट, दीवानी, नरौली, पहलवान की मूर्ति तिराहे से होते हुए बेलइसा, रानी सराय तक पहुंची।

8 अक्टूबर को यात्रा की शुरुआत महमदपुर से होगी। यात्रा में पूर्वांचल किसान यूनियन के अध्यक्ष योगी राज सिंह, महासचिव वीरेन्द्र यादव, भगतसिंह यूथ फ्रंट के अध्यक्ष हरीश मिश्रा उर्फ वनारस वाले मिश्रा जी, युवा मंच के प्रदेश संयोजक राजेश सचान, रिहाई मंच के राजीव यादव, मऊ की पूर्व चेयरमैन राणा खातून, अजय पटेल, गणेश शर्मा, बेलाल हाशिम अंसारी, दिनेश विश्वकर्मा, राकेश, मंटू, चंद्र प्रकाश छोटू पटेल, सुनील, जय सिंह, संजय गौतम समेत तमाम संगठनों के प्रतिनिधि मौजूद रहे।

Next Story

विविध