आंदोलन

योगीराज में लखीमपुर खीरी की दलित लड़कियों की रेप के बाद हत्या और गोंडा में पुलिस हिरासत में मौत शर्मनाक : माले

Janjwar Desk
15 Sep 2022 11:56 AM GMT
Lakhimpur Kheri Gangrape-Murder Case : दो बहनों से दोस्ती, गैंगरेप और मर्डर के 6 आरोपी गिरफ्तार, पुलिस का दावा - मृतक ल़ड़कियों को पहले से जानते थे आरोपी
x

Lakhimpur Kheri Gangrape-Murder Case : दो बहनों से दोस्ती, गैंगरेप और मर्डर के 6 आरोपी गिरफ्तार, पुलिस का दावा - मृतक ल़ड़कियों को पहले से जानते थे आरोपी

Lakhimpur Kheri rape murder case : दलित लड़कियों की रेप-हत्या दलित उत्पीड़न और हिरासती मौत की घटनाएं प्रदेश में रुकने का नाम ही नहीं ले रही हैं। लखीमपुर खीरी की जघन्य घटना ने तो हाथरस कांड की याद ताजा कर दी। महिला सुरक्षा और कानून.व्यवस्था के मुख्यमंत्री के दावे धरे रह गए। बदमाशों ने दो-दो नाबालिग लड़कियों की रेप के बाद हत्या कर शव दिनदहाड़े गन्ने के खेत में पेड़ से लटका दिया...

Lakhimpur Kheri rape murder case : भाकपा (माले) ने लखीमपुर खीरी के निघासन में दलित परिवार की दो सगी बहनों के शव बुधवार 14 सितंबर की शाम खेत में पेड़ से लटकते हुए मिलने पर कहा है कि योगी सरकार की कानून.व्यवस्था फेल हो गई है। पार्टी ने घटना के तथ्यों का पता करने और पीड़ित परिवार से मिलने के लिए एक टीम लखीमपुर खीरी भेजने का फैसला किया है।

भाकपा (माले) के राज्य सचिव सुधाकर यादव ने आज 15 सितंबर को जारी एक बयान में कहा कि नाबालिग लड़कियों की रेप-हत्या दलित उत्पीड़न और हिरासती मौत की घटनाएं प्रदेश में रुकने का नाम ही नहीं ले रही हैं। लखीमपुर खीरी की जघन्य घटना ने तो हाथरस कांड की याद ताजा कर दी। महिला सुरक्षा और कानून.व्यवस्था के मुख्यमंत्री के दावे धरे रह गए। बदमाशों ने दो-दो नाबालिग लड़कियों की रेप के बाद हत्या कर शव दिनदहाड़े गन्ने के खेत में पेड़ से लटका दिया।

माले नेता ने कहा कि यही नहीं, परिजनों के अनुसार जब लड़कियों का पता करने के लिए माता.पिता पुलिस के पास मदद मांगने गए तो मदद करने के बजाय पुलिस ने उनकी पिटाई कर दी और चौकी में उत्पीड़न किया। जब ग्रामीणों ने कार्रवाई के लिए जाम लगाया तो पुलिस अधीक्षक ने समझदारी दिखाने की जगह आपत्तिजनक व्यवहार किया। शुरु में पुलिस बिना जांच के ही रेप न होने और आत्महत्या की घटना बताती रही। अब वह 24 घंटे के अंदर घटना को सुलझा लिए जाने का दावा कर रही है और रेप और हत्या में छह आरोपियों की संलिप्तता बता रही है, जिसमें पांच अल्पसंख्यक व एक बहुसंख्यक समुदाय का व्यक्ति है।


माले राज्य सचिव ने कहा कि अपराध की परिस्थितियों को देखते हुए पुलिस की बदलती थ्योरी कितनी भरोसेमंद है, देखना होगा। उन्होंने कहा कि घटना की गंभीरता को देखते हुए पूरे मामले की उच्च स्तरीय त्वरित व निष्पक्ष जांच हो और दोषियों के खिलाफ सख्त से सख्त कार्रवाई की जाए। महिला सुरक्षा में नाकाम अधिकारियों की जवाबदेही भी तय होनी चाहिए।

कामरेड सुधाकर ने कहा कि बुधवार 14 सितंबर को ही एक अन्य घटना में गोंडा में एक युवक की नवाबगंज थाने में मौत हो गई। परिजन के अनुसार युवक के थाने पहुंचने के कुछ ही घंटों के भीतर उसकी मौत पुलिस की पिटाई से हुई। मृतक लाइनमैन का काम करता था और किसी मामले में पूछताछ के लिए पुलिस ने बुलाया था। थाने से उसकी लाश अस्पताल पहुंच गई।

माले राज्य सचिव ने कहा कि मुख्यमंत्री योगी शासित उत्तर प्रदेश पहले ही कमजोर वर्गों पर अपराध के मामलों में देश में अव्वल हैए जिसका गवाह राष्ट्रीय अपराध रिकॉर्ड ब्यूरो के हाल के आंकड़े हैं। ताजा घटनाएं बताती हैं कि स्थिति में सुधार होने की जगह गिरावट जारी है।

इस बीच लखीमपुर खीरी के रेप व दोहरे हत्याकांड के खिलाफ भाकपा (माले) ने मैलानी में भाजपा सरकार का पुतला फूंकने का ऐलान किया है।

Next Story

विविध