Top
आंदोलन

केंद्र सरकार के अध्यादेश के विरुद्ध किसानों का विशाल प्रदर्शन, कई जगह पुलिस ने किया लाठीचार्ज

Janjwar Desk
10 Sep 2020 5:28 PM GMT
केंद्र सरकार के अध्यादेश के विरुद्ध किसानों का विशाल प्रदर्शन, कई जगह पुलिस ने किया लाठीचार्ज
x

केंद्र सरकार के तीन अध्यादेशों के विरुद्ध प्रदर्शन करते किसान (Photo:social media)

कुरुक्षेत्र के पिपली की इस रैली में किसानों ने बड़ी संख्या में इकट्ठा होकर विरोध प्रदर्शन किया। किसान रैली को देखते हुए पिपली में बड़ी संख्या में पुलिस तैनात रही, लेकिन फिर भी किसानों को नहीं रोक पाई

जनज्वारहरियाणा के पिपली में किसानों ने आज रैली का आयोजन किया। यह रैली केंद्र सरकार द्वारा लाए गए तीन अध्यादेशों के खिलाफ आयोजित की गई थी। हालांकि पिपली में आयोजित इस किसान रैली के लिए जा रहे किसानों को राज्य के विभिन्न हिस्सों में रोक दिया गया। मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार कई जगह किसानों के साथ पुलिस की झड़प हुई और आरोप है कि कई जगहों पर लाठीचार्ज किया गया और किसान नेताओं को हिरासत में ले लिया गया।

कुरुक्षेत्र के पिपली की इस रैली में किसानों ने बड़ी संख्या में इकट्ठा होकर विरोध प्रदर्शन किया। किसान रैली को देखते हुए पिपली में बड़ी संख्या में पुलिस तैनात रही, लेकिन फिर भी किसानों को नहीं रोक पाई।

ये किसान केंद्र सरकार के तीन अध्यादेशों का विरोध कर रहे हैं। इनका कहना है कि इन अध्यादेशों से किसानों को नुकसान होगा और ये अध्यादेश किसान विरोधी हैं।

किसानों का कहना है कि पहले कानून था कि कोई भी व्यापारी केवल मंडी से ही किसान की फसल खरीद सकता था। अध्यादेश के बाद अब व्यापारी को इस कानून के तहत मंडी के बाहर से फसल खरीदने की छूट मिल जाएगी।

साथ ही इस अध्यादेश में अनाज, दालों, खाद्य तेल, प्याज, आलू आदि को जरूरी वस्तु अधिनियम से बाहर करके इसकी स्टॉक सीमा समाप्त कर दी गई है। वहीं सरकार कांट्रेक्ट फॉर्मिंग को बढावा देने की बात कह रही है।

मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार महम विधानसभा क्षेत्र के विधायक बलराज कुंडू ने भी किसानों के साथ प्रदर्शन किया और पुलिस ने उन्हें हिरासत में लिया। उनके घर और कुंडू फार्म पर भारी तादाद में पुलिस बल तैनात रहा। साथ ही किसानों ने जगह-जगह इकट्ठा होकर प्रदर्शन किए।

उधर राज्य के सिरसा में पुलिस ने प्रदर्शन करने जा रहे लोगों को नाकाबंदी करके रोका। सिरसा से किसान रैली में जाने के लिए निकले थे। पुलिस ने उन्हें वहीं रोक दिया। आढ़तियों ने गिरफ्तारी देकर रोष जताया। आढ़तियों ने हरियाणा सरकार पर तानाशाही करने का आरोप लगाया है।

मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार कुछ किसान नेताओं ने आरोप लगाया कि पुलिस ने उन्हें हिरासत में ले लिया ताकि वे पिपली ना जा सकें। पिपली में जीटी रोड पर हर एक गाड़ी को रोककर पुलिस पूछताछ कर रही थी।

किसानों के प्रदर्शन को देखते हुए कुरुक्षेत्र के चप्पे-चप्पे पर पुलिस की टीमों की तैनाती की गई थी। किसान ट्रैक्टरों में भरकर पहुंच रहे थे, जिन्हें पुलिस लौटा रही थी। कुरुक्षेत्र में पुलिस और किसानों के बीच कई जगह बहस और झड़प भी हुई।

Next Story

विविध

Share it