आंदोलन

पंजाब में सामने आया लखीमपुर जैसा कांड, किसानों का आरोप अकाली कार्यकर्ताओं ने की फायरिंग, शिअद का पलटवार आंदोलनकारियों ने किया हमला

Janjwar Desk
11 Nov 2021 3:49 AM GMT
पंजाब में सामने आया लखीमपुर जैसा कांड, किसानों का आरोप अकाली कार्यकर्ताओं ने की फायरिंग, शिअद का पलटवार आंदोलनकारियों ने किया हमला
x

प्रदर्शनकारी किसानों का दावा अकाली दल की कार से हमारे साथी को गिरा दिया गया नीचे, जिसमें टूट गयीं उसकी कई पसलियां

इस घटना पर पूर्व मंत्री हरसिमरत कौर बादल का कहना है कि किसानों के रूप में 'कांग्रेस के गुंडों' ने वरिष्ठ अकाली नेताओं पर हमला किया और गोलीबारी भी की गयी....

जनज्वार। अभी कुछ दिन पहले यूपी के लखीमपुर खीरी में किसानों को रौंदने की घटना अभी ठंडी भी नहीं पड़ी थी, मामले की जांच भी ठीक से नहीं हो पायी है, अब ऐसा ही एक मामला पंजाब में सामने आया है। यहां मामला सरकार बनाम सरकार नहीं बल्कि किसान बनाम अकाली दल का है।

जानकारी के मुताबिक पूर्व केंद्रीय मंत्री हरसिमरत कौर बादल बुधवार 10 नवंबर को फिरोजपुर दौरे पर थीं। शिरोमणि अकाली दल ने प्रदर्शनकारी किसानों पर पार्टी की एसयूवी कार पर हमले का आरोप लगाया है। वहीं इस घटना पर पूर्व मंत्री हरसिमरत कौर बादल का कहना है कि किसानों के रूप में 'कांग्रेस के गुंडों' ने वरिष्ठ अकाली नेताओं पर हमला किया और गोलीबारी भी की गयी।

सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा एक वीडियो जिसे यहां का बताया जा रहा है, दो प्रदर्शनकारियों को काफिले में एक वाहन के बोनट पर बैठे हुए दिखाया गया है, जिनमें से एक कथित तौर पर गाड़ी से नीचे गिरा जिस कारण उसकी हड्डियां टूट गयीं। सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा एक अन्य वीडियो जो यहीं का बताया जा रहा है, में प्रदर्शनकारी एक एसयूवी पर डंडों से तोड़फोड़ कर रहे हैं। इस मामले में किसानों का आरोप है कि अकाली कार्यकर्ताओं ने हवा में कुछ राउंड फायरिंग की थी।

इस घटना के संबंध में मीडियाको दिये गये बयान में फिरोजपुर एसएसपी हरमनदीप सिंह हंस कहते हैं, "हमें एक घटना के बारे में पता चला है जिसमें अकालियों का एक वाहन चलता रहा, जबकि कुछ प्रदर्शनकारी बोनट पर बैठे थे और गोलीबारी के आरोप भी लगाए। अकालियों ने उनके वाहन पर हमले की शिकायत की है। इस मामले की जांच की जा रही है।"

वहीं इस घटना पर बीकेयू (डकौंडा) के अध्यक्ष बूटा सिंह बुर्जगिल जनसत्ता में प्रकाशित अपने बयान में कहते हैं, "यह लखीमपुर जैसी एक और घटना थी जिसमें शिरोमणि अकाली दल के गुंडों ने किसानों को कुचलने की कोशिश की। हमारे कार्यकर्ता घायल हो गए। हम तो बस पूर्व केंद्रीय मंत्री हरसिमरत से सवाल पूछना चाहते थे।"

किसान नेता हरनेक सिंह महमा बताते हैं, "जब हमें हरसिमरत से सवाल पूछने की अनुमति नहीं दी गई, तब भी युवा अकाली दल के कार्यकर्ताओं ने 2-3 किसानों को पीट दिया। इसका विरोध करते हुए हम धरने पर बैठ गए। हरसिमरत का वाहन पहले ही मौके से निकल चुका था। हमने शिरोमणि अकाली दल के पूर्व विधायक जोगिंदर जिंदू को ले जा रहे वाहन को रोका। हम दोनों को जाने से रोकने के लिए गाड़ी के बोनट पर बैठ गए तो वे गाड़ी चलाने लगे।"

इस मामले में शिरोमणि अकाली दल के नेता वरदेव सिंह नोनी मन्न आरोप लगाते हैं, फिरोजपुर में एक कार्यक्रम से लौटते वक्त हमारे काफिले पर हमला किया गया। जब हम एक कार्यक्रम से लौट रहे थे, तभी किसान संघ के नेता हरनेक सिंह ने अपने कार्यकर्ता के साथ हमारे काफिले पर हमला कर दिया। इसके साथ-साथ उन्होंने हमारे गनर पर भी हमला किया।

गौरतलब है कि पिछले लंबे समय से नये कृषि कानूनों के खिलाफ आंदोलन कर रहे किसानों पर हमले के ऐसे कई आरोप लग चुके हैं।

Next Story

विविध