आंदोलन

क्या स्वतंत्रता दिवस पर दिल्ली जाएंगे किसान, जानें इंडिपेंडेंस डे कैसे मनाएंगे किसान और मजदूर

Janjwar Desk
14 Aug 2021 5:01 AM GMT
क्या स्वतंत्रता दिवस पर दिल्ली जाएंगे किसान, जानें इंडिपेंडेंस डे कैसे मनाएंगे किसान और मजदूर
x

(किसान लगातार आंदोलनरत हैं और स्वतंत्रता दिवस को लेकर अलग तरह की तैयारियां की हैं )

तीन नए कृषि कानूनों के विरोध में किसानों का आंदोलन पिछले वर्ष से ही लगातार चल रहा है, इन कानूनों को रद्द करने की मांग को लेकर किसान प्रदर्शन आदि कर सरकार का ध्यान अपनी समस्या की ओर खींचने की कोशिश करते रहे हैं..

जनज्वार। तीन नए कृषि कानूनों के विरोध में किसानों का आंदोलन पिछले वर्ष से ही लगातार चल रहा है। नए कृषि कानूनों को रद्द करने की मांग को लेकर किसान देश के कई हिस्सों मे प्रदर्शन आदि कर सरकार का ध्यान अपनी समस्या की ओर खींचने की कोशिश करते रहे हैं। विशेषकर खास मौकों पर किसान अलग तरह की रणनीति बनाते हैं। इसी कड़ी में कल स्वतंत्रता दिवस पर भी किसानों ने अलग तरह के विरोध प्रदर्शन की रणनीति बनाई है। इस दिन देशभर में किसान तिरंगा रैली निकाल 'किसान मजदूर आजादी संग्राम दिवस' मनाएंगे।

संयुक्त किसान मोर्चा के राष्ट्रीय आह्वान के बाद देश भर के किसान प्रखंड और तहसील स्तर पर इस दिन 'तिरंगा रैलियां' निकालेंगे। हालांकि किसानों ने जोर देते हुए कहा कि वे दिल्ली नहीं जाएंगे।

इसे लेकर ऑल इंडिया किसान संघर्ष कॉर्डिनेशन कमेटी (एआईकेएससीसी) की कविता कुरुगंती ने कहा, "संयुक्त किसान मोर्चा ने 15 अगस्त को सभी घटक संगठनों का आह्वान किया है कि इस दिन को किसान मजदूर आजादी संग्राम दिवस के रूप में मनाया जाए और इस दिन तिरंगा मार्च आयोजित किये जाएंगे।"

'तिरंगा यात्रा' के बारे में बताते हुए उन्होंने कहा, "इस दिन किसान और मजदूर तिरंगा मार्च में ट्रैक्टर, मोटर साइकिल, साइकिल और बैलगाड़ी आदि लेकर निकलेंगे और ब्लॉक, तहसील, जिला मुख्यालयों की ओर कूच करेंगे। वे पास के धरना स्थलों पर भी जा सकते हैं। इस दौरान वाहनों पर तिरंगे लगे होंगे।"

वहीं किसान नेता अभिमन्यु कोहर ने कहा कि देशभर में पूर्वाह्न 11 बजे से दोपहर एक बजे तक रैलियां निकाली जाएंगी। दिल्ली में भी सिंघू, टिकरी और गाजीपुर सीमाओं पर तिरंगा मार्च निकाले जाएंगे और पूरे दिन कार्यक्रमों का आयोजन किया जाएगा।

जबकि किसान नेता जगमोहन सिंह ने कहा, "सिंघू पर किसान प्रदर्शन स्थल स्थित मुख्य मंच से लेकर करीब आठ किलोमीटर दूर केएमपी एक्सप्रेस तक मार्च निकालेंगे।"

Next Story

विविध