Top
राष्ट्रीय

आंध्रप्रदेश के चित्तूर में डेयरी प्लांट में गैस लीक होने से 14 मजदूर बेहोश, तीन गंभीर

Janjwar Desk
21 Aug 2020 6:11 AM GMT
आंध्रप्रदेश के चित्तूर में डेयरी प्लांट में गैस लीक होने से 14 मजदूर बेहोश, तीन गंभीर
x
आंधप्रदेश हाल में औद्योगिक गैस लीक को लेकर चर्चा में आता रहा है। सरकार व जिला कलेक्टर ने मामले की जांच कराने की बात कही है...

चित्तूर। आंध्रप्रदेश के चित्तूर में डेयरी प्लांट में गैस लीक होने से 14 मजदूर बेहोश, तीन गंभीरआंध्रप्रदेश के चित्तूर जिले में गुरुवार की शाम एक डेयरी प्लांट में गैस लीक होने से कम से कम 14 मजदूर बीमार हो गए। बीमार हुए मजदूरों में तीन की स्थिति गंभीर बनी हुई है। गंभीर रूप से बीमार हुई तीनों मजदूर महिला हैं। यह घटना बांदापल्ली के पुटालापट्टी मंडल में हुई है।

चित्तूर के कलेक्टर नारायण भारत गुप्ता ने कहा, डेयरी में गैस का रिसाव होने से कारण 14 मजदूर इसकी चपेट में आ गए। गैस के लीक होने से उनकी तबीयत बिगड़ने लगी जिसके बाद उन्हें बेहोशी की स्थिति में अस्पताल में भर्ती कराया गया। उन्होंने इस बात की पुष्टि की कि अस्पताल में भर्ती कराए गए तीन मजदूरों की स्थिति गंभीर पर हालत स्थिर बनी हुई है।

जिला कलेक्टर ने बताया कि गुरुवार की शाम पांच बजे पुटालापट्टी के पास हेटसन कंपनी के मिल्क प्रोसेसिंग यूनिट में अमोनिया गैस लीक होने की सूचना मिली। उसके बाद उस शिफ्ट को 14 कर्मियों को अस्पताल लाया गया। तीन गंभीर लोगों को तिरुपति के एसवीआइएमएस या फिर रूइया अस्पताल में शिफ्ट किया जाएगा।

जिला कलेक्टर ने कहा कि कल की स्थिति की उद्योग विभाग के जीएम और फायर बिग्रेड के अफसरों जांच करेंगे। अभी यह पक्का नहीं हुआ है कि हादसा प्रबंधन की लापरवाही से हुआ है या फिर मजदूरों की चूक से।

आंध्र सरकार के मंत्री पेद्दिेरेड़डी रामाचंद्रा रेड्डी ने जिला कलेक्टर से बात कर पूरे मामले की जांच कराने को कहा है।

आंध्रप्रदेश हाल के दिनों में औद्योगिक इकाइयों में गैस लीक होने की घटना को लेकर चर्चा में आता रहा है। इसी साल सात मई को विशाखापट्टनम के एलजी पाॅलिमर्स कंपनी के प्लांट में गैस लीक हुआ था। इसके कारण 11 लोगों की मौत हो गई थी।

Next Story

विविध

Share it