Top
राष्ट्रीय

गुजरात : सूरत के कोसांबा में ट्रक ने फुटपाथ पर सो रहे 20 मजदूरों को रौंदा, 15 की मौत

Janjwar Desk
19 Jan 2021 3:24 AM GMT
गुजरात : सूरत के कोसांबा में ट्रक ने फुटपाथ पर सो रहे 20 मजदूरों को रौंदा, 15 की मौत
x

इसी ट्रक ने मजदूरों को कुचला। फोटो सोशल मीडिया से।

मारे गए सभी मजदूर राजस्थान के बांसवाड़ा जिले के रहने वाले थे। यह घटना मंगलवार तड़के तब हुई जब बेकाबू ट्रक सड़क किनारे फुटपाथ पर सो रहे मजदूरों पर चढ गया...

जनज्वार। गुजरात के सूरत में एक बड़ा हादसा हुआ है। सूरत में सड़क के किनारे सो रहे 20 मजदूरों को एक ट्रक ने कुचल दिया, जिसमें 12 की मौके पर मौत हो गयी, जबकि 3 घायलों ने अस्पताल में दम तोड़ दिया। अन्य घायलों की स्थिति गंभीर बनी हुई है और अस्पताल में उनका इलाज चल रहा है।

सूरत पुलिस के हवाले से न्यूज एजेंसी एएनआइ ने खबर दी है कि सूरत जिले के कोसांबा इलाके में मंगलवार (19 जनवरी 2021) तड़के यह हादसा हुआ है, जहां एक ट्रक फुटपाथ पर सो रहे मजदूरों पर चढ गया और मौके पर 12 लोगों की मौत हो गयी। पुलिस ने बताया कि वे सभी राजस्थान के रहने वाले थे जो सूरत में काम-धंध कर अपना गुजारा करते थे। जानकारी के अनुसार, मृतक राजस्थान के बांसवाड़ा जिले के रहने वाले थे।

कोसांबा सूरत शहर से करीब 60 किलोमीटर दूर है। ड्राइवर की चूक से ट्रक इतना बेकाबू था कि उसने मजदूरों को रौंदते हुए सड़क किनारे की पांच-छह दुकानों को अपनी चपेट में ले लिया। बताया जाता है कि ड्राइवर ने ट्रक पर से नियंत्रण खो दिया। पुलिस ने ड्राइवर व खलासी को अपनी हिरासत में लिया है।

मारे गए लोगों में दो साल की एक बच्ची और एक साल का एक बच्चा भी शामिल है। नौ मृतकों की पहचान हुई है, जिनका नाम राकेश, सफशा, दिलीप ठाकरा, शोभना, विकेश महिदा, मुकेश महिदा, लीला मुकेश व मनीषा हैं। इस हादसे में एक छह महीने की बच्ची की जान बच गयी। शवों के बीच बच्ची के रोने की आवाज सुनकर पुलिस ने उसे रेस्क्यू किया। इस हादसे में उसके माता-पिता की मौत हो गयी।

प्रधानमंत्री कार्यालय ने इस मामले में ट्वीट कर कहा है कि मारे गए लोगों के निकट परिजनों को दो लाख रुपये का मुआवजा दिया जाएगा, जबकि घायलों को 50 हजार रुपये मुआवजे के रूप में दिया जाएगा।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने इस घटना पर गहरा दुख जताया है। घायलों के उन्होंने शीध्र स्वस्थ होने की कामना की है और मृतकों के परिजनों के प्रति सहानुभूति प्रकट की है।


Next Story

विविध

Share it