राष्ट्रीय

BJP महिला पार्षदों को पार्टी अध्यक्ष से मिली जान से मारने की धमकी, PM मोदी और अमित शाह को लिखा पत्र

Janjwar Desk
19 Sep 2021 8:17 AM GMT
BJP महिला पार्षदों को पार्टी अध्यक्ष से मिली जान से मारने की धमकी,  PM मोदी और अमित शाह को लिखा पत्र
x

केरल भाजपा की महिला पार्षदों ने अमित शाह और पीएम मोदी को पत्र लिखकर लगाया आरोप, पलक्कड़ मंडलम अध्यक्ष ने किया बुरी तरह अपमानित और दी धमकी (photo : social media)

अपनी ही पार्टी के नेता से जान से मारने की धमकी मिलने व प्रताड़ित करने का आरोप लगाते हुए पलक्कड़ नगर पालिका की दो भाजपामहिला पार्षदों ने PM मोदी और गृहमंत्री अमित शाह (Amit shah) को पत्र लिखकर कार्यवाही की मांग की है...

केरल (kerala)। केरल में अपनी ही पार्टी के नेता से जान से मारने की धमकी मिलने व प्रताड़ित करने का आरोप लगाते हुए पलक्कड़ नगर पालिका (Palakkad municipality) की दो भाजपा (BJP) महिला पार्षदों ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Modi) और गृहमंत्री अमित शाह (Amit shah) को पत्र लिखकर कार्यवाही की मांग की है। 20 साल से भाजपा पार्षद रहीं प्रमीला शशिधरन और भाजपा प्रदेश महासचिव सी कृष्ण कुमार (BJP's state general secretary) की पत्नी मिनी कृष्ण कुमार के द्वारा भाजपा पलक्कड़ मंडलम अध्यक्ष (BJP's Palakkad mandalam president) पी स्मिथेश के खिलाफ पीएम मोदी को पत्र लिखकर शिकायत भेजी गई है।

दोनों महिला पार्षदों ने लगाए गंभीर आरोप

पीएम मोदी और गृहमंत्री अमित शाह (Amit Shah) को लिखे पत्र में दोनों महिला पार्षदों (women Councillors) ने गंभीर आरोप लगाते हुए लिखा कि 26 अगस्त को पार्टी की संसदीय कमेटी की बैठक में सभी के सामने घटनाक्रम घटित हुआ, लेकिन इसके बावजूद भी प्रदेश नेतृत्व के द्वारा कोई उचित कार्यवाही नहीं की गई। उन्होंने पत्र में आगे लिखा कि हम दोनों को बुरी तरह अपमानित किया गया।

भाजपा से जुड़ी महिला नेताओं का आरोप है कि भाजपा मंडलम के अध्यक्ष और नगर पालिका स्थायी समिति के अध्यक्ष स्मिथेश ने मौत की धमकियां (death threats) दीं। हमने इसको लेकर पार्टी के प्रदेश आयोजन सचिव एम गणेशन और पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष के सुरेंद्रन को पत्र लिखा था, लेकिन कोई कार्रवाई नहीं हुई है। कार्यवाही न होने से नाराज दोनों महिला पार्षदों ने आगे लिखा कि इतने गंभीर मुद्दे पर भी पार्टी नेतृत्व की ओऱ से किसी तरह की कार्यवाही नहीं हुई। इस घटनाक्रम से पता चलता है कि पार्टी में महिला भाजपा कार्यकर्ताओं के लिए बिल्कुल भी ठीक माहौल नहीं है (non-conducive environment for women) और न ही पार्टी में मेहनती महिला भाजपा कार्यकर्ताओं को लेकर कोई संवेदनशीलता है।

पी स्मिथेश ने आरोपों को सिरे से नकारा

द इंडियन एक्सप्रेस में प्रकाशित खबर के मुताबिक महिला पार्षदों के द्वारा लगाए गए आरोपों को पी स्मिथेश ने सिरे से नकार दिया। उन्होंने कहा कि उन्हें ऐसी किसी घटना की जानकारी नहीं है। उन्होंने कहा, 'परिषद के समक्ष आयोजित पार्टी की संसदीय समिति में केवल बहुत सामान्य चर्चाएं हुई थीं। इस प्रकार का कोई घटनाक्रम वहां घटित नहीं हुआ।'

वहीं पार्टी सूत्रों की मानें तो राज्य के नेताओं ने इस मुद्दे में हस्तक्षेप किया था और उनके इशारे पर स्मिथेश (Smithesh expressed regret) ने प्रमीला और मिनी कृष्णा के केंद्रीय नेतृत्व से संपर्क करने के बाद इस घटना पर अफसोस जताया था, लेकिन इससे दोनों महिला पार्षद असंतुष्ट हैं।

शिकायतकर्ता भाजपा नेत्रियां बोलीं कार्यवाही नहीं हुई तो पुलिस और राज्य महिला आयोग के पास जाएंगे

शिकायतकर्ता नगर पालिका की पूर्व अध्यक्ष प्रमीला ने कहा कि हमने अपनी पार्टी भाजपा से आरोपी मंडलम अध्यक्ष पी स्मिथेश के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की मांग की है। उन्होंने कहा कि जिस तरह से हमें मौत की धमकियां दीं और अपमानित किया गया, उन्हें पार्टी से बर्खास्त किया जाना चाहिए या मंडलम अध्यक्ष के रूप में हटा दिया जाना चाहिए। हम पार्टी से अनुकूल निर्णय का इंतजार कर रहे हैं। अगर कोई कदम नहीं उठाया गया तो हम पुलिस (police) के साथ-साथ राज्य महिला आयोग (State women's commission) में शिकायत करेंगे।

वहीं मिनी कृष्ण कुमार का कहना है, पी स्मिथेश ने मुझे और मेरे पति सी कृष्ण कुमार के साथ मारपीट करने की धमकी दी। हम पार्टी (नेतृत्व के) फैसले का इंतजार कर रहे हैं। बहरहाल महिला पार्षदों के इन आरोपों के बाद सियासत गरमा गई है। देखना होगा कि पार्टी नेतृत्व मामले में क्या कार्यवाही करता है।

Next Story

विविध

Share it