Top
राष्ट्रीय

8 महीनों में गुरुग्राम में 240 तो नोएडा में 200 लोगों ने की खुदकुशी, मृतकों में दिहाड़ी मजदूर सबसे ज्यादा

Janjwar Desk
11 Sep 2020 7:28 AM GMT
8 महीनों में गुरुग्राम में 240 तो नोएडा में 200 लोगों ने की खुदकुशी, मृतकों में दिहाड़ी मजदूर सबसे ज्यादा
x

प्रतीकात्मक तस्वीर

नोएडा में पिछले 284 दिनों में 200 लोगों ने अलग-अलग कारणों से खुदकुशी की, जून के महीने में सबसे ज्यादा खुदकुशी की घटनाएं सामने आईं, नोएडा में मई, जून और जुलाई के महीने में औसतन रोजाना खुदकुशी की घटना हुई....

गुरुग्राम। कोविड-19 लॉकडाउन के बाद से राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र में आत्महत्याओं का सिलसिला तेजी से बढ़ गया है। अकेले गुरुग्राम में करीब आठ महीनों में 240 लोगों ने खुदकुशी की है जबकि नोएडा क्षेत्र में करीब नौ महीनों में 200 लोगों ने खुदकुशी की है।

खबरों के मुताबिक 1 जनवरी से 31 अगस्त तक (8 महीने) के बीच गुरुग्राम में 240 लोगों ने खुदकुशी की। गुरुग्राम पुलिस के डीसीपी (हेडक्वाटर) निकिता गहलौत ने कहा, 'आत्महत्या के मामलों की संख्या में वृद्धि चिंता का विषय है। पुलिस ने राज्य के स्वास्थ्य और सामाजिक न्याय और अधिकारिता विभाग के सामने इस मामले को उठाया है, ताकि खुदखुशी के मामलों में अंकुश लग सके। विभाग जल्द ही इस मामले से निपटने के लिए एक विशेष डॉक्टर के साथ मानसिक स्वास्थ्य पर एक वर्कशॉप आयोजित करेगा।'

गुरुग्राम पुलिस के डीसीपी (हेडक्वाटर) निकिता गहलौत ने कहा, 'आत्महत्या के मामलों की संख्या में वृद्धि चिंता का विषय है। पुलिस ने राज्य के स्वास्थ्य और सामाजिक न्याय और अधिकारिता विभाग के सामने इस मामले को उठाया है, ताकि खुदखुशी के मामलों में अंकुश लग सके। विभाग जल्द ही इस मामले से निपटने के लिए एक विशेष डॉक्टर के साथ मानसिक स्वास्थ्य पर एक वर्कशॉप आयोजित करेगा।'

कोरोनावायरस महामारी और लॉकडाउन का लोगों के मानसिक स्वास्थ्य पर खासा प्रभाव तो पड़ा ही है, साथ ही खुदकुशी की अन्य वजहें भी हैं। गुरुग्राम के कोलंबिया एशिया अस्पताल के मनोवैज्ञानिक सलाहकार श्वेता शर्मा कहती हैं, 'वैवाहिक झड़प, वित्तीय संकट, नशे की लत, स्वास्थ्य संबंधी समस्या या बीमारी, बेरोजगारी, प्रेम संबंधों या पारिवारिक विवादों सहित कई कारणों से लोगों ने आत्महत्या की है।'

वहीं दूसरी ओर नोएडा में पिछले 284 दिनों में 200 लोगों ने अलग-अलग कारणों से खुदकुशी की। जून के महीने में सबसे ज्यादा खुदकुशी की घटनाएं सामने आईं। नोएडा में मई, जून और जुलाई के महीने में औसतन रोजाना खुदकुशी की घटना हुई।

पुलिस डायरी में दर्ज आंकड़ों की मानें तो नोएडा में अप्रैल में खुदकुशी की जहां 24 घटनाएं हुईं जबकि मई के महीने में यह संख्या बढ़कर 31 तक पहुंच गई। जून के महीने में सबसे ज्यादा वृद्धि देखी गई और इस महीने 34 लोगों ने खुदकुशी कर ली। इसी तरह, जुलाई में 30 और अगस्त में खुदकुशी के 26 मामले सामने आए। इन खुदकुशी करने वालों में अधिकांश श्रमिक या दैनिक मजदूरी करने वाले लोग थे।

पिछले हफ्ते नोएडा में ही 8 लोगों ने खुदकुशी की जिसमें 6 पुरुष और 2 महिलाएं शामिल हैं। जिन लोगों ने खुदकुशी की उसमें से ज्यादातर लोगों के लिए खुदकुशी करने की वजह लॉकडाउन और वित्तीय संकट प्रमुख वजह रही। हालांकि कई लोगों ने अपने सुसाइड नोट में लिखा कि वे व्यक्तिगत समस्याओं के कारण खुदकुशी कर रहे हैं।

Next Story
Share it