राष्ट्रीय

Adani Port : कोर्ट के आदेश के बाद ड्रग्स मामले में अडानी की बढ़ीं मुश्किलें, अब NIA करेगी जांच

Janjwar Desk
7 Oct 2021 8:13 AM GMT
Adani Port : कोर्ट के आदेश के बाद ड्रग्स मामले में अडानी की बढ़ीं मुश्किलें, अब NIA करेगी जांच
x

(गौतम अडानी के निजी पोर्ट पर भारी मात्रा में ड्रग्स हुआ था बरामद)

Adani Port : 2,988.21 किलो ड्रग्स मुद्रा पोर्ट पर पकड़ी गई थी जो गौतम अडानी पोर्ट के अधीन है।

07 Oct. 2021 Adani Port जनज्वार। बीते 16 सितंबर 2021 को गुजरात के कच्छ के मुंद्रा पोर्ट (Mundra Port) पर डीआरआई (Directorate Of Revenue Intelligence) और कस्टम की टीम ने करीब 3 हजार किलो मात्रा में ड्रग्स की खेप पकड़ी गई थी। ये देश ही नहीं, बल्कि दुनिया में पकड़ी गई सबसे बड़ी खेप है। इस मामले में गुजरात की एक विशेष अदालत के आदेश के बाद जांच तेज हो गई है। इसी क्रम में अब गृहमंत्रालय ने कहा है कि गुजरात मुद्रा पोर्ट पर पकड़े गए ड्रग्स केस की जांच अब एनआईए को सौंपी गई है।

NIA ने दर्ज की एिफआईआर

एनआईए के एक अधिकारी ने बताया कि बुधवार 6 अक्टूबर को जारी गृह मंत्रालय के एक आदेश के अनुसार, गुजरात में पकड़े गए 3 हजार किलो ड्रग्स के मामले में आरोपी मचावरम सुधाकरन, दुर्गा पीवी गोविंदराज, राजकुमार पी और अन्य के खिलाफ आईपीसी, एनडीपीएस अधिनियम और गैरकानूनी गतिविधि (रोकथाम) अधिनियम की धाराओं के तहत एफआईआर दर्ज मामले की जांच शुरू कर दी है।

मुद्रा पोर्ट पर जब्त हुई थी ड्रग्स

बता दें कि 2,988.21 किलो ड्रग्स मुद्रा पोर्ट पर पकड़ी गई थी जो अडानी पोर्ट के अधीन है। अडानी पोर्ट मोदी सरकार के करीबी माने जाने वाले उद्योगपति गौतम अडानी (Gautam Adani) चलाते हैं। जांच में पता चला था कि ड्रग्स इरान के बन्दर अब्बास पोर्ट से भेजी गई थी।

दो कंटेनरों से मिली थी ड्रग्स

कथित तौर पर ड्रग्स ले जाने वाला कंटेनर आंध्र प्रदेश के विजयवाड़ा (Vijayvada) में स्थित एक ट्रेडिंग कंपनी से आयात किया गया था। इस कंपनी ने कंटेनर में टेलकम पाउडर होने की बात बताई थी। लेकिन चेकिंग के दौरान गांधीनगर की फॉरेंसिक टीम ने सच का पता लगा लिया और पहले कंटेनर से 199.57 किलोग्राम वहीं दूसरे कंटेनर से 988.64 किलोग्राम हेरोइन जब्त की। बता दें की अफगानिस्तान के कंधार स्थित हसन लिमिटेड ने ये दोनों कंटेनर निर्यात किये थे।

इस मामले के बाद अडाणी समूह ने अपने बचाव में कहा था कि पोर्ट संचालकों को तलाशी की आजादी नहीं है। साथ ही अडानी ने कहा कि डीआरआई समेत केवल सरकारी प्राधिकारों को गैरकानूनी कार्गो को खोलने, जांच करने और जब्त करने की अनुमति है।

कांग्रेस ने साधा था निशान

एनसीबी (NCB) ने मुंबई से गोवा जा रहे क्रूज पर रविवार 2 अक्टूबर को छापेमारी कर रेव पार्टी में कथित तौर पर ड्रग्स का सेवन करते हुए बॉलीवुड सत्तर शाहरुख खान के बेटे आर्यन खान (Aryan Khan) समेत 7 लोगो को हिरासत में लिया गया था। साथ ही 13 ग्राम कोकीन जब्त की थी। जिसके बाद महाराष्ट्र की कांग्रेस ईकाई ने संदेह जताया कि क्रूज पर रेव पार्टी में छापेमारी मुद्रा पोर्ट पर जब्त की गई ड्रग्स मामले को दबाने के लिए की गई है।

महाराष्ट्र कांग्रेस के प्रवक्ता अतुल लोंढे ने कहा, ''यह अच्छा होगा अगर सरकार राज्य में मादक पदार्थों की तस्करी और उनके सेवन को बंद कर दे। हम इसका स्वागत करते हैं।" साथ ही उन्होंने कहा, ''यह भी ध्यान दिया जाना चाहिए कि गुजरात के मुंद्रा पोर्ट पर 21,000 करोड़ रुपये के नशीले पदार्थों की जब्ती पर कोई कार्रवाई या चर्चा नहीं हुई है। इसमें संदेह की गुंजाइश है कि क्या पिछले महीने की जब्ती से ध्यान हटाने के लिए इस तरह की छापेमारी की जा रही है।''

Next Story

विविध