राष्ट्रीय

Agnipath Scheme : अग्निपथ के खिलाफ हरियाणा के खापों का फरमान, सेना में भर्ती के लिए एप्‍लाई किया तो करेंगे बहिष्‍कार

Janjwar Desk
23 Jun 2022 11:51 AM GMT
Agnipath Scheme Age Limit: अग्निपथ योजना को लेकर बवाल, झुक गई मोदी सरकार, बढ़ाई उम्र सीमा
x

Agnipath Scheme Age Limit: अग्निपथ योजना को लेकर बवाल, झुक गई मोदी सरकार, बढ़ाई उम्र सीमा

Agnipath Scheme : हरियाणा के सीएम ने घोषणा की है कि अग्निपथ योजना ( Agnipath Scheme ) के तहत 4 वर्ष देश की सेवा करने के बाद वापस आने वाले अग्निवीरों को हरियाणा सरकार में नौकरी दी जाएगी।

Agnipath Scheme : महाराष्ट्र में जारी सियासी संकट के बीच अग्निपथ योजना ( Agnipath Scheme ) थमता दिख रहा था लेकिन गुरुवार को हरियाणा ( Haryana ) के खापों ने इसे एक बार फिर जिंदा कर दिया है। हरियाणा खापों ( Haryana Khap panchayat ) ने अग्निपथ योजना के खिलाफ नया फरमान ( Haryana Khap farman ) जारी करते हुए कहा कि जो युवा सेना में भर्ती ( recruitment in Indian Army ) के लिए आवेदन करेंगे उनका सामाजिक बहिष्कार ( Social Boycott ) करेंगे। खाप पंचायतों के इस फैसले से अग्निपथ योजना के खिलाफ जारी आंदोलन को आने वाले दिनों में धार मिल सकता है।

खाप नेताओं ने क्या कहा

ऐसा इसलिए कि अग्निपथ योजना ( Agnipath Scheme ) के खिलाफ जारी आंदोलन में अब पंचायत, किसान संघ और छात्र संगठन मजबूत मंच तैयार होने की संभावनाएं दिखने लगी हैं। हरियाणा के रोहतक में बुधवार को हुई एक बैठक में पंचायत ( Haryana Khap panchayat ) नेताओं और किसान प्रतिनिधियों ने चेतावनी दी कि जो युवक इसमें आवेदन करेगा उसका सामाजिक बहिष्कार किया जाएगा।

भाजपा, जजपा और कॉरपोरेट घरानों का भी करेंगे विरोध

खाप पंचायत ( Haryana Khap panchayat ) के नेताओं ने इस बात की भी चेतावनी दी है कि वे हरियाणा में सत्ताधारी भारतीय जनता पार्टी और जननायक जनता पार्टी गठबंधन के नेताओं और इसका समर्थन करने वाले कुछ कॉरपोरेट घरानों का भी बहिष्कार करेंगे। बैठक में हरियाणा, राजस्थान, हिमाचल प्रदेश और पंजाब के विभिन्न खापों और सामुदायिक समूहों के प्रतिनिधियों ने भाग लिया।

अग्निपथ के समर्थकों से बनाएंगे सामाजिक दूरी

गुरुवार को रोहतक में आयोजित खाप पंचायत ( Haryana Khap panchayat ) की बैठक की अध्यक्षता धनखड़ खाप के मुखिया ओम प्रकाश धनखड़ ने की। उन्होंने कहा कि हम इस भर्ती में आवेदन करने वालों को सामाजिक रूप से अलग-थलग करने का प्रयास करेंगे। हम इस योजना का बहिष्कार कर रहे हैं, जिसमें अग्निवीर के नाम पर युवाओं को श्रमिक बनाया जा रहा है। उन्होंने कहा कि जो लोग योजना ( Agnipath Scheme ) के समर्थक हैं, हम उनसे सामाजिक दूरी बनाकर रखेंगे।

खाप पंचायतों ने केंद्र सरकार की ओर से 14 जून को घोषित अग्निपथ योजना का समर्थन करने वाले कॉरपोरेट घरानों और राजनेताओं के "बहिष्कार" का आह्वान भी किया है। इससे पहले हरियाणा के मुख्यमंत्री ने अपने सोशल मीडिया हैंडल से कमेंट करते हुए वादा किया था कि अग्निपथ योजना के तहत 4 वर्ष देश की सेवा करने के बाद वापस आने वाले अग्निवीरों को गणेश जी के साथ हरियाणा सरकार में नौकरी दी जाएगी। इसके साथ ही उन्होंने यह भी कहा कि हरियाणा खेल में मेडल लाने वाले अपने पहलवान को भी नौकरी देता है और अब मातृभूमि की रक्षा को समर्पित सेना के जवान अग्निवीरों को भी देगा।

लोगों को आपस में लड़ा रही है सरकार

बता दें कि केंद्र सरकार के अग्निपथ योजना का सबसे ज्यादा विरोध हरियाणा और बिहार में हुआ है। बिहार में इसके विरोध में कई जगह दंगे हुए और सार्वजनिक परिवहन और संपत्तियों को आगजनी कर नुकसान पहुंचाई गई। दो दिन पहले बिहार की राजधानी पटना में राष्ट्रीय जनता दल के नेता तेजस्वी यादव, अपनी मां राबड़ी देवी और भाई तेज प्रताप यादव तथा महागठबंधन में शामिल अन्य पार्टी के नेताओं और कार्यकर्ताओं के साथ मार्च निकाला। तेजस्वी यादव ने मीडिया से बात करते हुए आरोप लगाया कि केंद्र सरकार महंगाई कम करने, बेरोजगारी दूर करने और सुरक्षा देने के मोर्चे पर फेल हो गई। अब लोगों को आपस में लड़ाने के बाद अग्निपथ जैसी योजना लाकर उनको भ्रमित करने में लग गई है।

Next Story