राष्ट्रीय

Agnipath scheme Ki Agnipariksha : मायावती की पीएम मोदी को नसीहत, सेना में नई भर्ती योजना पर तत्काल पुनर्विचार करे सरकार

Janjwar Desk
16 Jun 2022 6:53 AM GMT
Presidential Election 2022 : राष्ट्रपति चुनाव में BJP की उम्मीदवार द्रौपदी मुर्मू का समर्थन करेंगी मायावती, विपक्ष पर साधा निशाना
x

Presidential Election 2022 : राष्ट्रपति चुनाव में BJP की उम्मीदवार द्रौपदी मुर्मू का समर्थन करेंगी मायावती, विपक्ष पर साधा निशाना

Agnipath scheme Ki Agnipariksha : केेंद्र सरकार ने सेना में नई भर्ती के लिए अग्निपथ स्कीम ( Agnipath Scheme ) घोषित की है। देश के युवाओं में इसको लेकर घोर असंतोष है। सरकार युवाओं के भविष्य से खिलवाड़ न करे।

Agnipath scheme Ki Agnipariksha : केंद्र सरकार ( Modi government ) की सेना में नई भर्ती से संबंधित अग्निपथ स्कीम ( Agnipath Scheme ) को लेकर देशभर में युवाओं को आंदोलन ( Student Protest ) जारी है। बिहार में युवाओं को आंदोलन हिंसक हो चुका है। हरियाणा, यूपी और राजस्थान में भी इसका विरोध जारी है। इस बीच बसपा प्रमुख मायावती ( BSP supremo Mayawati ) ने मोदी सरकार को नसीहत देते हुए कहा कि वो युवाओं के भविष्य से खिलवड़ न करे। तत्काल प्रभाव से इस योजना पर पुनर्विचार करे।

बसपा प्रमुख मायावती ( Mayawati ) ने कहा कि देश और विदेश में लोग पहले ही बढ़ती गरीबी, महंगाई, बेरोजगारी एवं सरकार की गलत नीतियों व अहंकारी कार्यशैली आदि से दुःखी व त्रस्त हैं। ऐसे में सेना में नई भर्ती को लेकर युवा वर्ग में फैली बेचैनी अब निराशा उत्पन्न कर रही है। सरकार तुरंत अपने फैसले पर पुनर्विचार ( reconsider on agnipath scheme ) करे। बीएसपी की केंद्र से यही मांग है।

युवाओं के भविष्य से खिलवाड़

बसपा प्रमुख ( BSP Chief mayawati ) ने अग्निपथ योजना ( Agnipath yojna ) को मोदी सरकार की बदनीयती करार दिया है। बसपा प्रमुख का कहना है कि सेना व सरकारी नौकरी में पेंशन लाभ आदि को समाप्त करने के लिए ही सरकार सेना में जवानों की भर्ती की संख्या को कमी के साथ सेवावधि को मात्र चार साल के लिए सीमित कर रही है, जो घोर अनुचित तथा गरीब व ग्रामीण युवाओं व उनके परिवार के भविष्य के साथ खुला खिलवाड़ है।

मायावती ने कहा कि सेना में लंबे समय बाद केंद्र सरकार ने भर्ती के लिए सेना में 4 वर्ष अल्पावधि वाली 'अग्निवीर' नई भर्ती योजना घोषित की है, उसको लुभावना व लाभकारी बताने के बावजूद देश का युवा वर्ग असंतुष्ट एवं आक्रोशित है। वे सेना भर्ती व्यवस्था को बदलने का खुलकर विरोध कर रहे हैं। सरकार इस विरोध को नजरअंदाज न करे।

मायावती के इस ट्विट पर एक ट्विटर यूजर मनीष प्रसाद कंजोलिया ने कहा कि भाजपा अभी से लोकसभा चुनाव की तैयारियों में जुट गई है। दूसरी तरफ विपक्ष 2024 का इंतजार कर रहा है।


(जनता की पत्रकारिता करते हुए जनज्वार लगातार निष्पक्ष और निर्भीक रह सका है तो इसका सारा श्रेय जनज्वार के पाठकों और दर्शकों को ही जाता है। हम उन मुद्दों की पड़ताल करते हैं जिनसे मुख्यधारा का मीडिया अक्सर मुँह चुराता दिखाई देता है। हम उन कहानियों को पाठक के सामने ले कर आते हैं जिन्हें खोजने और प्रस्तुत करने में समय लगाना पड़ता है, संसाधन जुटाने पड़ते हैं और साहस दिखाना पड़ता है क्योंकि तथ्यों से अपने पाठकों और व्यापक समाज को रू-ब-रू कराने के लिए हम कटिबद्ध हैं।

हमारे द्वारा उद्घाटित रिपोर्ट्स और कहानियाँ अक्सर बदलाव का सबब बनती रही है। साथ ही सरकार और सरकारी अधिकारियों को मजबूर करती रही हैं कि वे नागरिकों को उन सभी चीजों और सेवाओं को मुहैया करवाएं जिनकी उन्हें दरकार है। लाजिमी है कि इस तरह की जन-पत्रकारिता को जारी रखने के लिए हमें लगातार आपके मूल्यवान समर्थन और सहयोग की आवश्यकता है।

सहयोग राशि के रूप में आपके द्वारा बढ़ाया गया हर हाथ जनज्वार को अधिक साहस और वित्तीय सामर्थ्य देगा जिसका सीधा परिणाम यह होगा कि आपकी और आपके आस-पास रहने वाले लोगों की ज़िंदगी को प्रभावित करने वाली हर ख़बर और रिपोर्ट को सामने लाने में जनज्वार कभी पीछे नहीं रहेगा, इसलिए आगे आयें और जनज्वार को आर्थिक सहयोग दें।)

Next Story

विविध