राष्ट्रीय

Baba Ramdev ने ली Rahul Gandhi की क्लास, हिंदुत्व वाले बयान पर कहा इतना बावला नहीं होना चाहिए

Janjwar Desk
14 Dec 2021 1:50 PM GMT
रामदेव को हाईकोर्ट की कड़ी फटकार - आयुर्वेद के नाम पर लोगों को गुमराह करना बंद करो
x

रामदेव को हाईकोर्ट की कड़ी फटकार - आयुर्वेद के नाम पर लोगों को गुमराह करना बंद करो

योग गुरु बाबा रामदेव ने कहा कि व्यक्ति और व्यक्तित्व एक ही बात है। आप बोलोगे कि व्यक्ति अलग है और व्यक्तित्व अलग है, ए बावले। इतना तो पढ़ लेना चाहिए। इतना बावला नहीं होना चाहिए...

जनज्वार डेस्क। हिंदू और हिंदुत्व को लेकर देश में बहस छिड़ी हुई है। इसी कड़ी में अब नया नाम योग गुरु बाबा रामदेव का जुड़ गया है। अब योग गुरु रामदेव ने कांग्रेस नेता राहुल गांधी के हिंदू और हिंदुत्व वाले बयान पर पलटवार किया है। बता दें कि एक निजी चैनल से बातचीत करते हुए योग गुरु बाबा रामदेव ने कहा कि व्यक्ति और व्यक्तित्व एक ही बात है। आप बोलोगे कि व्यक्ति अलग है और व्यक्तित्व अलग है, ए बावले। इतना तो पढ़ लेना चाहिए। इतना बावला नहीं होना चाहिए।

रामदेव ने समझाया हिंदुत्व का अर्थ

बाबा रामदेव ने राहुल गांधी पर निशाना साधते हुए कहा कि कुछ लोगों को हिंदू और हिंदुत्व का अर्थ भी नहीं पता है। मीडिया रिपोर्टस के अनुसार रामदेव का यह बयान ऐसे समय में आया है, जब एक रैली को संबोधित करते हुए राहुल गांधी ने हिंदुत्व को लेकर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और केंद्र में सत्तारूढ़ सरकार पर हमला बोलते हुए कहा था कि देश में हिंदुत्ववादियों का राज है हिंदुओं का नहीं।

मेरी जनेऊ और राहुल गांधी की जनेऊ में अंतर है : रामदेव

बता दें कि राहुल गांधी पर हमला जारी रखते हुए रामदेव ने कहा कि संस्कृति और भारतीयता का बोध तो बहुत बड़ा विषय है। इसके साथ ही रामदेव ने कहा कि 'राहुल गांधी हमेशा कहते हैं कि मैं ब्राह्मण हूं और जनेऊ पहनता हूं। लेकिन मेरी जनेऊ और राहुल गांधी की जनेऊ में अंतर है।'

राहुल गांधी का बयान

बता दें कि राहुल गांधी ने कहा था कि हिंदुत्ववादियों को बेदखल कर देश में हिंदुओं का राज लाना होगा। इसके साथ ही राहुल ने कहा कि वह हिंदू हैं लेकिन हिंदुत्ववादी नहीं। बता दें कि कांग्रेस नेता राहुल गांधी जयपुर में महंगाई हटाओ रैली को संबोधित कर रहे थे। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री मोदी एवं उनके तीन चार हिंदुत्ववादियों ने सात साल में ही देश को बर्बाद कर दिया। साथ ही उन्होंने कहा कि एक हिंदुत्ववादी प्रधानमंत्री ने किसानों की पीठ में छुरा घोंपा और फिर माफी मांगी।

हिंदू व हिंदुत्ववादी शब्द के बीच फर्क

राहुल गांधी ने कहा था कि 'दो जीवों की एक आत्मा नहीं हो सकती उसी तरह दो शब्दों का एक मतलब नहीं हो सकता क्योंकि हर शब्द का अलग मतलब होता है। देश की राजनीति में आज दो शब्दों की टक्कर है। दो अलग शब्दों की। इनके मतलब अलग हैं। एक शब्द हिंदू दूसरा शब्द हिंदुत्ववादी। यह एक चीज नहीं है। ये दो अलग शब्द हैं। और इनका मतलब बिलकुल अलग है। मैं हिंदू हूं, मगर हिंदुत्ववादी नहीं हूं।' राहुल गांधी ने कहा कि वह आज मौजूद लोगों को हिंदू व हिंदुत्ववादी शब्द के बीच फर्क बताना चाहते हैं। उन्होंने कहा कि महात्मा गांधी हिंदू, गोडसे हिंदुत्ववादी। चाहे कुछ भी हो जाए हिंदू सत्य को ढूंढता है। मर जाए, कट जाए, पिस जाए, हिंदू सच को ढूंढता है। उसका रास्ता सत्याग्रह है। पूरी जिंदगी वह सच को ढूंढने में निकाल देता है।

Next Story

विविध