राष्ट्रीय

भागलपुरः JDU MLA पर पेड़ कटाई के आरोपी को थाने से छुड़ाने का आरोप, विधायक बोले- आता है नाम तो आने दीजिए

Janjwar Desk
6 July 2021 10:07 AM GMT
भागलपुरः JDU MLA पर पेड़ कटाई के आरोपी को थाने से छुड़ाने का आरोप, विधायक बोले- आता है नाम तो आने दीजिए
x

(फिर विवादों में बिहार के भागलपुर के गोपालपुर से जेडीयू विधायक गोपाल मंडल)

फिर विवादों में हैं गोपालपुर से जेडीयू के विधायक गोपाल मंडल, 10 लाख की पेड़ कटाई का लगा आरोप, रसूख का इस्तेमाल कर थाने से आरोपी का छुड़ाने का भी दावा, विधायक बोले- किसी देखा मुझे पेड़ काटते

भागलपुर जनज्वार। बिहार के भागलपुर के गोपालपुर से जेडीयू के विधायक गोपाल मंडल एकबार फिर विवादों में है। हाल ही में पार्सल डिलीवरी करने आये युवक से मारपीट करने के आरोप के बाद अब उनपर पेड़ काटने के आरोप लगे हैं। साथ ही मामले में पुलिस द्वारा पकड़े गये आरोपियों को अपनी पावर का इस्तेमाल कर छुड़ाने की भी बात सामने आ रही है।

क्या है पूरा मामला

जिले के गोपालपुर से जनता दल यूनाइटेड(JDU) के विधायक गोपाल मंडल का विवादों से पुराना नाता है। कभी थाने में शराब पीने को लेकर दिये अपने बयान पर वो सुर्खियों में रहे तो कभी पार्सल डिलीवरी करने गए लड़के से मारपीट का आरोप लगा। अब विधायक पर पेड़ काटने के आरोप लगे हैं। गोपालपुर एमएएल पर 10 लाख रुपए के शीशम के पेड़ काटने के आरोप हैं। इस मामले को लेकर भागलपुर आयुक्त को एक आवेदन भी दिया गया है।

'दैनिक भास्कर' की रिपोर्ट के मुताबिक, अनिलेश साहू नाम के एक शख्स ने इस पूरे मामले को लेकर शिकायत की है। अनिलेश साहू ने अपने भाई पर विधायक के साथ मिलकर जबरन जमीन हड़पने का आरोप लगाया है। साथ ही उन्होंने गोपाल मंडल पर उनकी जमीन पर लगे 10 लाख रुपए के शीशम के पेड़ डरा धमका कर काटने के आरोप लगाया हैं। पूरे प्रकरण को लेकर अनिलेश साहू का कहना है कि जब इस मामले में पुलिस ने कार्रवाई करते हुए कुछ लोगों को हिरासत में लिया। तो जेडीयू विधायक ने फोन कर पुलिस पर दवाब बनाया, जिसके बाद उन्हें छोड़ दिया गया।

किसी ने मुझे पेड़ काटते देखा है क्या?- MLA

पेड़ काटने के आरोप पर विधायक मंडल का कहना है कि जिसकी जमीन है लकड़ी भी उसी की हुई। उन्होंने दलील दी कि अनिलेश का भाई कमलेश उनके साथ पढ़ा है और उसने उन्हें ग्राहक लाने को कहा था। विधायक ने आगे कहा कि मैंने सिर्फ ग्राहक लाकर दिया है। जेडीयू एमएएल ने कहा "मैं खुद आरी लेकर पेड़ काटने बैठा हूं ऐसा किसी ने देखा है क्या?" साथ ही कहा कि, मामले में मेरा नाम लेने से क्या होगा? मेरा नाम आ रहा है तो आने दीजिए।

विवादों से पुराना नाता

ये पहली घटना नहीं है जब गोपालपुर से जेडीयू विधायक किसी विवाद में फंसे हो। उनपर एक पार्सल डिलीवरी करने वाले लड़के ने मारपीट का आरोप लगाया था। साथ ही उनपर लड़के से करीब पांच हजार रुपए छीनने और जबरन पार्सल लेने का आरोप लगा था। डिलीवरी बॉय (Delivery Boy) ने पुलिस को बताया था कि रविवार 4 जुलाई को वह बरारी हाउसिंग कॉलोनी के विधायक निवास स्थित एक पार्सल देने गया था, जिसमें घड़ी थी, देने गया था। पार्सल के बदले 5218 रुपये दिये गये। लेकिन सामान की डिलीवरी के कुछ देर बाद उसे कॉल कर वापस बुलाया गया। एक आदमी ने कहा कि इसमें सामान कम है। और उनलोगों ने उसे दिये 5218 रुपये छीन लिये और पार्सल (घड़ी) भी रख लिया। डिलीवरी बॉय ने आरोप लगाया था कि इस दौरान उसके साथ मारपीट भी की गई। यह सब विधायक के सामने हुआ लेकिन वो उन्होंने ना लोगों को रोका, ना कुछ कहा।

इससे पहले अप्रैल 2021 में शराबबंदी वाले राज्य बिहार (Bihar) की पोल खोलते हुए उन्होंने कहा था कि बिहार में कोई भी थानेदार बगैर शराब पिएं काम नहीं करता। शराबबंदी को लेकर नीतीश कुमार(Nitish Kumar) की सरकार के दावों के बीच उनके अपने ही विधायक के इस बयान ने सरकार पर सवाल खड़े किये थे। वही इस साल मार्च में सुशासन वाली नीतीश सरकार के विधायक ने 20 एकड़ जमीन के मामले में बंधक बनाने पर कहा था कि, किसी की हिम्मत नहीं कि मुझे बंधक बना ले। हम कमजोर आदमी नहीं, अपने साथ रिवाल्वर रखते हैं, जरूरत पड़े तो ठोंक देते हैं।

Next Story

विविध

Share it