राष्ट्रीय

Bhopal News : भोपाल में कांग्रेस कार्यकर्ताओं और पुलिस के बीच झड़प, प्रदर्शनकारियों ने पुलिस पर लगाया ये आरोप

Janjwar Desk
25 Nov 2021 8:10 AM GMT
Bhopal News : भोपाल में कांग्रेस कार्यकर्ताओं और पुलिस के बीच झड़प, प्रदर्शनकारियों ने पुलिस पर लगाया ये आरोप
x

[ गणतंत्र दिवस के दिन ट्रैक्टर रैली में शामिल आंदोलनकारी किसान को पीटती दिल्ली पुलिस ]

कांग्रेस के कार्यकर्ता नई शिक्षा नीति का विरोध कर रहे थे। पुलिस ने कांग्रेसकर्ताओं पर लाठीचार्ज किया।

Bhopal News : मध्य प्रदेश के भोपाल में कांग्रेस और भोपाल पुलिस के बीच झड़प की सूचना है। जानकारी के मुताबिक कांग्रेस के कार्यकर्ता नई शिक्षा नीति का विरोध कर रहे थे। पुलिस ने कांग्रेसकर्ताओं पर लाठीचार्ज किया। ताजा अपडेट के मुताबिक भोपाल में नई शिक्षा नीति के खिलाफ प्रदर्शन कर रहे एनएसयूआई कार्यकर्ताओं और पुलिस के बीच झड़प हो गई। झड़प से पहले NSUI के कार्यकर्ता Bhopal में सीएम हाउस का घेराव करने जा रहे थे। उसी दौरान पुलिस के साथ झड़प हो गई, जिसके बाद पुलिस को लाठीचार्ज करना पड़ा।

तीन माह पहले भी भोपाल में बेराेजगार युवाओं पर किए गए लाठीचार्ज के विरोध में जिला युवा कांग्रेस के अध्यक्ष राहुल चौबे की अगुवाई में कार्यकर्ताओं ने माेतीनगर चाैराहे पर मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चाैहान का पुतला फूंका था। पुतले काे छीनने के दाैरान बड़ी तादाद में माैजूद पुलिस और कार्यकर्ताओं के बीच झड़प हुई थी पुलिस ने हल्का बल प्रयाेग किया। झड़प के दाैरान युवा कांग्रेस अध्यक्ष चाैबे का कुर्ता फट गया था। नगर अध्यक्ष कार्तिक रोहण व नगर उपाध्यक्ष तरुण कोरी पुलिस द्वारा किए गए बल प्रयाेग से चाेटिल हाे गए थे।

दरअसल, पुतला छीनने के लिए कुछ भाजपा कार्यकर्ता भी पहुंच गए थे इसके पहले ही कार्यकर्ताओं ने पुतला फूंक दिया। युवा कांग्रेस के अलावा एनएसयूआई के जैद खान, छात्र नेता चक्रेश रोहित के कंधे में चोट आई है। नगर अध्यक्ष रोहण ने कहा कि भोपाल में अपने हक की लड़ाई लड़ रहे युवक- युवतियों पर जो बर्बरता पूर्वक लाठीचार्ज किया गया। उसके विरोध में सागर युवक कांग्रेस के नेतृत्व में विरोध प्रदर्शन किया गया।

युवा कांग्रेस के अध्यक्ष राहुल चौबे ने कहा था ​कि जिस तरह से तानाशाही रवैया अपनाते हुए पुलिस प्रशासन द्वारा हमारी आवाज को दबाया गया एवं पुतला दहन करने के दौरान हमारे ऊपर एवं युवा साथियों पर बल प्रयाेग किया है। लोकतंत्र में मिले विरोध करने के अधिकार का हनन है।

Next Story

विविध

Share it