राष्ट्रीय

Bihar News : 'दो पैग शराब पीने से सेहत को नुक्सान नहीं होता, अच्छा लगता है', जीतनराम मांझी ने फिर उठाए शराबबंदी पर सवाल

Janjwar Desk
23 July 2022 12:23 PM GMT
Bihar News : दो पैग शराब पीने से सेहत को नुक्सान नहीं होता, अच्छा लगता है, जीतनराम मांझी ने फिर उठाए शराबबंदी पर सवाल
x

Bihar News : 'दो पैग शराब पीने से सेहत को नुक्सान नहीं होता, अच्छा लगता है', जीतनराम मांझी ने फिर उठाए शराबबंदी पर सवाल

Bihar News : जीतन राम मांझी ने कहा कि दो पैग शराब पीने से सेहत को नुकसान नहीं होता है, बल्कि सोते वक्त दो पैग शराब पीने से लोग अच्छा महसूस करते हैं...

Bihar News : बिहार में पूर्ण शराबबंदी कानून लागू है। इसे कामयाब बनाने के लिए मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने अपनी पूरी ताकत लगा दी है। किसी भी शर्त पर वे शराब बनाने, रखने, बेचने, पीने और पिलाने जैसे शब्दों को स्वीकार करने को तैयार नहीं हैं। राज्य के जेलों पर इस कानून की वजह से काफी दबाव है। हजारों की संख्या में सरकारी सेवक राज्य में भी दंडित हो चुके हैं। इस बीच पूर्व मुख्यमंत्री जीतन राम मांझी ने एक बार फिर शराबबंदी कानून की खिल्ली उड़ाकर नीतीश कुमार के संकल्प की परीक्षा ले ली है।

दो पैग शराब पीने से लोक अच्छा महसूस करते हैं

सासाराम में पूर्व सीएम साहब बिहारी विधानसभा अनुसूचित जाति जनजाति के अध्यक्ष जीतन राम मांझी ने कहा कि दो पैग शराब पीने से सेहत को नुकसान नहीं होता है, बल्कि सोते वक्त दो पैग शराब पीने से लोग अच्छा महसूस करते हैं।

डॉक्टर भी शराब दवा की तरह पीने की देते हैं सलाह

जीतनराम मांझी ने डॉक्टरों को भी कटघरे में खड़ा कर दिया। उन्होंने कहा कि चिकित्सक भी शराब दवा की तरह पीने की सलाह देते हैं। इसमें बिहार सरकार को संशोधन करने की जरूरत है। उन्होंने कहा कि शराबबंदी कानून बिहार में लागू है लेकिन, आज भी शराब की खेप पहुंच रही है। इसमें गरीब अथवा अनुसूचित जाति-जनजाति लोगों पर ही कार्रवाई की जा रही है। जबकि जो बड़े लोग हैं, वे लोग प्रत्येक दिन शराब सेवन करते हैं। यदि रात्रि में तकरीबन ग्यारह बजे तक बड़े लोगों को ब्रेथ एनालाइजर से जांच किया जाएगा तो पता चल जाएगा।

शराब कानून में है संशोधन की जरूरत

जीतनराम मांझी ने उदाहरण के तौर पर कहा कि जिस क्षेत्र में बाढ़ की स्थिति उत्पन्न होती है, यदि पानी सूखा दिया जाएगा तो उसके आगे पानी जाने का सवाल नहीं, लेकिन यहां पर तो ऐसा नहीं किया जाता। उसी तरह शराब जहां से आता है, वहीं पर नहीं रहेगा तो लोग कहां से सेवन करेंगे। उन्होंने फिर कहा कि शराब कानून में संशोधन की जरूरत है। इसके लिए भी सरकार से बातचीत किया जाएगा।

Next Story

विविध