बिहार

बिहार: जहरीली शराब से अबतक 12 की मौत, 16 गिरफ्तारियों सहित लाइन हाजिर हुआ थाने का पूरा स्टाफ

Janjwar Desk
18 July 2021 5:49 AM GMT
बिहार: जहरीली शराब से अबतक 12 की मौत, 16 गिरफ्तारियों सहित लाइन हाजिर हुआ थाने का पूरा स्टाफ
x

शुसासन बाबू के राज में शराबबंदी के बावजूद शराब से ही मौतें हो रही हैं.

जिला प्रशासन के अनुसार इनमें से 4 लोगों की मौत बीमारी के कारण होने की बात परिजनों द्वारा बताई गई है। वहीं शेष 12 की मौत जहरीली शराब पीने से होने की आशंका जताई जा रही है...

जनज्वार ब्यूरो। बिहार (Bihar) के पश्चिम चंपारण के लौरिया में जहरीली शराब पीने से अबतक 12 लोगों की मौत हुई है। पहले कुल 16 लोगों की मौत की खबर सामने आई थी लेकिन जिला प्रशासन द्वारा 12 मौतों की बात कही जा रही है जबकि 4 अन्य की मौत बीमारी के कारण बताई जा रही है।

मामले में लौरिया थाना के प्रभारी एसएचओ समेत तीन चौकीदारों को सस्पेंड कर दिया गया है। वहीं थाने के पूरे स्टाफ को लाइन हाजिर कर दिया गया है। इससे पहले मामले को लेकर 16 आरोपितों को पुलिस ने गिरफ्तार किया है। इसके साथ ही जिला प्रशासन ने दावा किया है कि जहरीली शराब कांड के मुख्य अभियुक्तों को गिरफ्तार कर लिया गया है।

रामनगर प्रखंड के लौरिया में जहरीली शराब पीने से हुई मौतों को लेकर जिला प्रशासन ने कहा है कि पुलिस प्रशासन की तरफ से लगातार कार्रवाई की जा रही है। दोषियों को चिन्हित करते हुए उनकी गिरफ्तारी के लिए सघन छापेमारी अभियान चलाया जा रहा है। अबतक 16 अभियुक्तों को गिरफ्तार किया जा चुका है। थाने के पूरे स्टाफ को लाइन हाजिर कर दिया गया है। शिथिलता और लापरवाही बरतने के आरोप में बेतिया के मद्यनिषेध अधीक्षक और बगहा के मद्यनिषेध निरीक्षक को शो कॉज किया गया है।

बता दें कि पश्चिम चम्पारण के लौरिया और रामनगर प्रखंड क्षेत्र में शुक्रवार को छह मरने वालों की पहचान की गई थी। गुरुवार को भी आठ लोगों की पहचान हुई थी। शनिवार को दो और मौतें हो गईं। जिला प्रशासन के अनुसार इनमें से 4 लोगों की मौत बीमारी के कारण होने की बात परिजनों द्वारा बताई गई है। वहीं शेष 12 की मौत जहरीली शराब पीने से होने की आशंका जताई जा रही है।

लौरिया पुलिस की ओर से मीडिया को बताया गया है कि देउरवा के ठग साह, सुरेश साह समेत अन्य को आरोपित किया गया है। मामले मे ठग साह के पुत्र सुमित (22) गिरफ्तार कर लिया गया है। पुलिस ने जिन 16 लोगों को गिरफ्तार किया है, सभी से पूछताछ की जा रही है और न्यायिक हिरासत में जेल भेजने की तैयारी की जा रही है।

मरने वालों में देउरवा के बिकाउ अंसारी (45), रामवृक्ष पासी, लतीफ शाह, भगवान पांडा, बसवरिया के अमीरूल शाह, गवनाहा के इजहारूल अंसारी, झुन्ना अंसारी, बगही के रातुल मियां, डुमरा देवराज के जुल्फान मियां, पांडापट्टी के अरुण पांडा उर्फ भगवान, जोगिया के सुरेश तुरहा, नईम मियां, वशिष्ठ ड्राइवर, हीरा डोम शामिल हैं। 4 मृतकों, बगही के रतुल मियां और देवरुआ के भगवान पंडा, रामवृक्ष चौधरी, अमिरउल शाह के परिजनों ने मेडिकल रिपोर्ट देकर बीमारी से मौत की बात बताई है।

बता दें कि बिहार के बेतिया के लौरिया में जहरीली शराब कांड के सामने आने के बाद से बिहार के सियासी गलियारे में खलबली मची हुई है। इस मामले पर विपक्षी दल सरकार को कठघरे में खड़ा कर रहे हैं। शुक्रवार को राजद सुप्रीमो लालू यादव ने सीएम नीतीश कुमार, उनकी शराबबंदी नीति और प्रशासनिक अधिकारियों पर तंज कसा था। इसके अलावा लालू ने शराबबंदी में सत्ताधारियों द्वारा 20 हजार करोड़ का अवैध कारोबार खड़ा कर लेने का आरोप लगाया था।

लालू प्रसाद ने ट्वीट कर लिखा, "बिहार में सुशासनी शराबबंदी से प्रतिवर्ष हज़ारों लोग ज़हरीली शराब से मर जाते हैं। शराबबंदी के कारण सत्ताधारी लोग बिहार में 20000 करोड़ की समानांतर अवैध इकॉनमी चला रहे हैं। शराबबंदी के नाम पर लाखों दलित और गरीब जेलों में बंद है। पुलिस अत्याचारी बन चुकी है।"

Next Story

विविध

Share it