Top
बिहार

बिहार: अपराधी बेलगाम, पेट्रोल पंप मालिक को दिनदहाड़े गोलियों से भूना, हो गई मौत

Janjwar Desk
22 Nov 2020 4:02 PM GMT
बिहार: अपराधी बेलगाम, पेट्रोल पंप मालिक को दिनदहाड़े गोलियों से भूना, हो गई मौत
x

घटनास्थल पर छानबीन करते एसपी  photo:social media

अपराधियों ने पूर्व विधान पार्षद कपिलदेव सिंह के घर के ग्राउंड फ्लोर स्थित बन रहे होटल में उनके भतीजे को गोलियों से छलनी कर दिया, घटना के बाद अपराधी फायरिंग करते हुए फरार हो गए...

जनज्वार ब्यूरो, पटना। बिहार में अपराधियों का तांडव जारी है। रविवार को अपराधियों ने दिनदहाड़े पेट्रोल पंप मालिक को गोलियों से छलनी कर दिया गया। बाद में उनकी मौत हो गई। घटना बिहारशरीफ जिला के पावापुरी स्थित एनएच 20 की है। यहां पूर्व विधान पार्षद कपिलदेव सिंह के घर के ग्राउंड फ्लोर स्थित बन रहे होटल में उनके भतीजे को गोली मार दी। घटना के बाद अपराधी फायरिंग करते हुए फरार हो गए।

परिजन और स्थानीय लोग घायल को इलाज के लिए पटना ले गए, जहां एक प्राइवेट नर्सिंग होम में पहुंचने पर मृत्यु की पुष्टि की गयी। मृतक सीपीडब्लूडी के ठेकेदार तथा एनएच 20 स्थित पेट्रोल पंप के मालिक दिनेश सिंह थे। फिलहाल घटना के कारणों की सही जानकारी सामने नहीं आई है। घटना की सूचना पाकर नालंदा के एसपी ने पहुंचकर मामले की तहकीकात की। घटना के विरोध में आक्रोशित लोगों ने पावापुरी मोड़ के पास एनएच 20 को जाम कर दिया। खास बात यह है कि घटना स्थल से पावापुरी ओपी की दूरी महज कुछ सौ गज की है।

घटना रविवार के अपराह्न की है। बताया जाता है कि दिनेश सिंह नामक व्यवसायी अपने पेट्रोल पंप के पास स्थित पुराने रैनबसेरा होटल की रिमॉडलिंग करवा रहे थे। इसी दौरान दो अपाचे मोटरसाइकिल पर सवार होकर चार लोग सड़क के दूसरे किनारे पर पहुंचे। हेलमेट और मास्क लगाये दो युवक रोड क्रॉस कर होटल पहुंचे। बताया जाता है कि इस दौरान दिनेश सिंह से उनकी बात हुई और इसी बीच अपराधियों ने गोली चला दी, जिससे वो घायल हो गये।

प्रत्यक्षदर्शियों की मानें तो वे अपराधियों को पकड़ने के लिए आगे बढ़े लेकिन तब तक अपराधियों ने दो गोली और चलायी और रोड क्रॉस कर बाइक पर जा बैठे। हालांकि इस दौरान दूसरे साइड से कुछ लोगों ने अपराधियों की ओर दौड़ लगायी, लेकिन इसी बीच अपराधी फायरिंग करते हुए भाग निकले।

घायल को उनके पुत्र तथा सगे-संबंधी वाहन में लेकर सदर अस्पताल पहुंचे, जहां चिकित्सकों ने बेहतर इलाज के लिए पटना ले जाने की सलाह दी। बताया जाता है कि पटना ले जाने के क्रम में दनियावां में काफी देर तक घायल का वाहन फंसा रहा। घायल को लेकर लोग परिजन पटना के एक प्राइवेट नर्सिंग होम पहुंचे, लेकिन वहां चिकित्सकों ने दिनेश सिंह को मृत घोषित कर दिया।

घटना के कारणों की सही जानकारी नहीं मिल सकी है, लेकिन चर्चा यह है कि स्थानीय कोई विवाद नहीं है। मृतक पूर्व विधान पार्षद कपिलदेव सिंह के भतीजा थे, जो पटना में रहकर सीपीडब्लूडी में ठेकेदारी करते थे। उनका पैतृक घर पेट्रोल पंप एवं रैनबसेरा होटल के समीप स्थित पोखरपुर गांव है। बताया जाता है कि पिछले कई दिनों से वे लगातार गांव पर ही थे और पेट्रोल पंप स्थित बंद पड़े होटल को रीमॉडलिंग कर चालू करने की तैयारी में थे।

घटना के विरोध में आक्रोशित लोगों ने एनएच 20 को जाम कर दिया। घंटों जाम लगी रही। बाद में पुलिस अधीक्षक निलेश कुमार की पहल पर परिवार के और सदस्यों से बात हुई और जाम को हटाया जा सका। इस संबंध में पुलिस अधीक्षक निलेश कुमार ने कहा कि पुलिस की अनुसंधान जारी है।

उन्होंने बताया कि अपराधी नकाबपोश थे लेकिन अनुसंधान में जो बातें सामने आयी है उसके अनुसार अपराधियों की पहली गोली दिनेश सिंह के पैर में लगी, जिसके बाद अपराधी को पकड़ने के लिए जब वो दौड़े तो अपराधियों ने दो और गोली चलायी, जो शरीर के अन्य हिस्से में लगी। उन्होंने कहा कि जल्द हीं पुलिस अपराधियों तक पहुंच पायेगी। हर संभावनाओं को देखते हुए पुलिस की अनुसंधान जारी है।

Next Story
Share it