बिहार

अपराधियों को साइकिल से पकड़ेगी बिहार पुलिस, गजब का आइडिया है डबल इंजन की सरकार का!

Janjwar Desk
19 Dec 2020 5:22 AM GMT
अपराधियों को साइकिल से पकड़ेगी बिहार पुलिस, गजब का आइडिया है डबल इंजन की सरकार का!
x
अपराध नियंत्रण के लिए बिहार पुलिस की यह कवायद अब लगातार सुर्खियां बटोर रही है, राज्य के सुपौल जिले की पुलिस ने रात्रि गश्ती को लेकर यह नया प्रयोग शुरू किया है...

जनज्वार ब्यूरो/पटना। बिहार में अपराधी आपराधिक वारदातों को अंजाम देने के लिए भले ही अत्याधुनिक संसाधनों और तकनीक का प्रयोग करते हों, पर अपराध को रोकने और अपराधियों को पकड़ने के लिए पुलिस ने नायाब तरीका ढूंढ निकाला है। अपराधी जहां मोटरसाइकिल और कार से चलते हैं, वहां पुलिस उन्हें साइकिल पर चढ़कर रगेदेगी।

अपराध नियंत्रण के लिए बिहार पुलिस की यह कवायद अब लगातार सुर्खियां बटोर रही है। राज्य के सुपौल जिले की पुलिस ने रात्रि गश्ती को लेकर यह नया प्रयोग शुरू किया है।

सुपौल पुलिस ने जवानों की साइकिल पेट्रोलिंग टीम तैयार की है। इस गश्ती दल को 20 ग्रुप में बांटा गया है, जो जिले के विभिन्न इलाकों में रात्रि के 10 बजे से सुबह के 6 बजे तक गश्ती करेगी। गश्ती के लिए इन जवानों को साइकिल के साथ पिस्टल और टार्च सहित अन्य आवश्यक सामान भी उपलब्ध कराया गया है।

पुलिस का मानना है कि ठंड के मौसम में होने वाली चोरी और सेंधमारी जैसे अपराधों पर विशेषकर इस प्रयास से लाभ मिलेगा। वहीं सामान्य रूप से जारी शराब की कथित होम डिलीवरी पर भी विराम लगेगा। एसएचओ, डीएसपी, सर्किल इंसपेक्टर और एसपी की रात्रि गश्ती भी जारी रहेगी। जिला पुलिस बल के कुल 40 जवानों को दो-दो के ग्रुप में बांट कर 20 गश्ती दल बनाया गया है।

सुपौल पुलिस द्वारा 24 घंटे पेट्रोलिंग का खाका तैयार किया गया है, जिसकी मॉनिटरिंग एसपी मनोज कुमार कर रहे हैं। रोजाना रात को गश्ती पर निकल कर एसपी स्वयं भी किसी न किसी थाना के इलाके में पहुंच कर जायजा ले रहे हैं। बताया जाता है कि रात्रि गश्ती के दौरान जिला में सक्रिय कोढ़ा गैंग के सदस्यों की खोज की जा रही है जो लगातार दो छिनतई की घटना को अंजाम दे चुका है।

सुपौल पुलिस ने जवानों को रात में साइकिल से गश्ती करने के लिए इनकी विभिन्न थानों में ड्यूटी लगाई है। ये जवान रात के 10 बजे से सुबह 6 बजे तक गश्ती करेंगे।

इस बाबत एसपी मनोज कुमार ने मीडिया से कहा 'रात के अलावे सुबह में गश्ती के लिए शेरनी दल के सदस्य होंगे और इसके अलावे वरिष्ठ अधिकारियों की गश्ती भी जारी रहेगी।'

एसपी ने महिला सिपाहियों की टीम बनाकर उसका नाम शेरनी दल रखा है जो सभी स्कूल, कॉलेज, मॉल पर दिन में नजर रखती है।

Next Story
Share it