Top
बिहार

टूटे एक्सेल बॉक्स के साथ दौड़ती रही ब्रह्मपुत्र मेल, अटकी रहीं यात्रियों की सांसें

Janjwar Desk
20 Aug 2020 6:43 AM GMT
टूटे एक्सेल बॉक्स के साथ दौड़ती रही ब्रह्मपुत्र मेल, अटकी रहीं यात्रियों की सांसें
x

प्रतीकात्मक तस्वीर

देश मे एक तरफ बुलेट ट्रेन चलाए जाने की बातें होतीं हैं, दूसरी तरफ ब्रह्मपुत्र मेल टूटे एक्सेल के साथ लगभग 200 किलोमीटर दौड़ गई, इस दौरान यात्रियों की क्या हालत रही होगी, सहज अंदाजा लगाया जा सकता है...

जनज्वार ब्यूरो, पटना। एक तरफ देश मे बुलेट ट्रेन चलाए जाने की बातें हो रहीं हैं, दूसरी तरफ किसी ट्रेन को टूटे हुए एक्सेल बॉक्स के सहारे सैकड़ों किलोमीटर दौड़ा दिया जाता है। भले ही इससे यात्रियों की जान खतरे में पड़ गई हो। 19 अगस्त की रात बिहार में एक ऐसा ही वाकया हुआ है, जिससे यात्रियों की जान खतरे में पड़ गयी थी।

19 अगस्त की रात दिल्ली से डिब्रूगढ़ जाने वाली ब्रह्मपुत्र मेल टूटे एक्सेल बॉक्स के साथ पटरी पर दौड़ती रही। ट्रेन की S-1 बोगी का एक्सल फेस बॉक्स टूट गया था। ट्रेन जब पटना स्टेशन से खुली तभी यात्रियों को आवाज सुनाई देने लगी।

यात्रियों का कहना है कि नट-बोल्ट को तार से बांधकर टाइट किया गया था। जमालपुर स्टेशन पार करने के बाद आवाज और तेज हो गई। ट्रेन की रफ्तार काफी अधिक थी। बोगी से तेज आवाज निकलने के बाद यात्रियों में अफरातफरी मच गई और वे काफी घबरा गए।

बताया जाता है कि इसी बीच रफ्तार तेज होने के कारण एक्सल बॉक्स भी खुल कर गिर गया। इसकी जानकारी भागलपुर स्टेशन स्थित रेलवे के कैरेज ऐंड वैगन विभाग को दिया गया। ट्रेन जब भागलपुर स्टेशन पहुंची, तब जाकर यात्रियों की जान में जान आई और उन्होंने राहत की सांस ली।

भागलपुर स्टेशन पर पहुंचने के बाद ट्रेन के S-1 कोच को हटा दिया गया और दूसरा कोच लगाया गया। इस दौरान भागलपुर स्टेशन पर ट्रेन लगभग दो घँटे तक रुकी रही और रात में लगभग 10 बजे वहां से रवाना हुई। यात्रियों का कहना है कि लगभग 200 किलोमीटर से ज्यादा की दूरी इस ट्रेन ने टूटे एक्सेल के साथ ही तय कर ली और यात्रियों की सांसें अटकी रही।

Next Story

विविध

Share it