Top
बिहार

पटना AIIMS के बाहर पड़ा रहा मरीज, तेजस्वी ने वीडियो ट्विट कर सरकार से पूछा सवाल

Janjwar Desk
13 July 2020 9:11 AM GMT
पटना AIIMS के बाहर पड़ा रहा मरीज, तेजस्वी ने वीडियो ट्विट कर सरकार से पूछा सवाल
x
पटना एम्स के बाहर एक मरीज के पड़े होने का वीडियो नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव ने ट्विटर पर पोस्ट किया है।

जनज्वार ब्यूरो, पटना। नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव ने ट्विटर पर एक वीडियो पोस्ट किया है। उन्होंने वीडियो पोस्ट कर सरकार पर निशाना साधते हुए व्यवस्था पर सवाल उठाया है। जनज्वार इस वीडियो की पुष्टि नहीं करता।

तेजस्वी यादव द्वारा ट्विट किए गए वीडियो में दिखाया गया है कि पटना एम्स के बाहर एक मरीज लेटा हुआ है। रात्रि काल का वीडियो है। उसके परिजन बता रहे हैं कि वे कोरोना पॉजिटिव मरीज हैं। उन्हें भर्ती नहीं किया जा रहा है। साढ़े दस बजे से वे यहां आए हैं।

परिजन यह भी बता रहे हैं कि मरीज गृह विभाग के रिटायर्ड बड़े अधिकारी हैं। आइजीआइएमएस से उन्हें एम्स भेजा गया है। यहां डॉक्टर कह रहे हैं कि बेड खाली नहीं है। हमारी बात नहीं सुन रहे और मरीज को भर्ती नहीं किया जा रहा है। हालांकि इसपर सरकार या एम्स प्रबंधन की अब तक कोई प्रतिक्रिया नहीं आयी है।

तेजस्वी यादव ने वीडियो के साथ लिखा है 'पटना एम्स के फुटपाथ पर लेटा व्यक्ति कोरोना पॉजिटिव है। सरकार, प्रशासन और अस्पताल कोई नहीं सुन रहा। बिहार में कोरोना के हालात बहुत भयावह हैं। आनेवाले दिनों में स्थिति बेकाबू होनेवाली है। सरकार जांच नहीं कर रही है तो आंकड़े छुपा रही है। बिहार को अब भगवान बचाए।'

बिहार में कोरोना मरीजों का आंकड़ा 16 हजार पार कर गया है। स्वास्थ्य विभाग द्वारा जारी किए गए अधिकृत आंकड़े के अनुसार 12 जुलाई तक कुल मरीजों की संख्या 16305 थी। इनमें एक दिन में अबतक के सर्वाधिक 1266 मरीज कल ही मिले हैं। हालांकि इनमें से 10991 मरीज ठीक भी हो चुके हैं।

वहीं 13 जुलाई को 4 बजे संध्या तक 1116 नए मरीज मिल गए हैं, जिससे कुल मरीजों की संख्या अब 17421 हो गई है। पटना राज्य का सबसे ज्यादा प्रभावित जिला है और यहां मरीजों की संख्या 2096 हो गई है।

संक्रमण का दायरा रोज नए इलाकों में पांव पसार रहा है और कण्टेन्मेंट ज़ोन की संख्या भी बढ़ती जा रही है। संक्रमण की रफ्तार को कम करने के लिए राज्य के 11 जिलों में दुबारा लॉक डाउन लगा दिया गया है। जिलों में डीएम को अधिकार दे दिया गया है कि स्थानीय परिस्थितियों को देखते हुए लॉकडाउन पर निर्णय ले सकते हैं।

Next Story

विविध

Share it