बिहार

बिहार में चुनाव खत्म- कोरोना चालू, बैंड-डीजे और डांस के साथ नहीं निकलेगी बारात, 100 से ज्यादा नहीं करेंगे शिरकत

Janjwar Desk
26 Nov 2020 3:26 PM GMT
बिहार में चुनाव खत्म- कोरोना चालू, बैंड-डीजे और डांस के साथ नहीं निकलेगी बारात, 100 से ज्यादा नहीं करेंगे शिरकत
x

प्रतीकात्मक तस्वीर

शादियों का लगन शुरू हो गया है, पर अब बिहार में शादियों में 100 और श्राद्ध में 25 से ज्यादा लोग शिरकत नहीं कर सकेंगे, यही नहीं, बल्कि शादियों में डीजे, बैंड और डांस पर भी रोक रहेगी...

जनज्वार ब्यूरो, पटना। बिहार में चुनाव खत्म और कोरोना चालू हो गया है। राज्य में आज कोरोना को लेकर नई गाइडलाइन जारी कर कई तरह की पाबंदियां लगा दी गई हैं। कहा गया है कि कोरोना के लगातार बढ़ रहे मामलों को देखते हुए यह पाबंदियां लगाई जा रही हैं।

शादियों का लगन शुरू हो गया है, पर अब बिहार में शादियों में 100 और श्राद्ध में 25 से ज्यादा लोग शिरकत नहीं कर सकेंगे। यही नहीं, बल्कि शादियों में डीजे, बैंड और डांस पर भी रोक रहेगी। सड़क पर बैंड बाजा डीजे के साथ डांस नहीं कर सकते, सिर्फ विवाह स्थल पर ही बैंड बजाया जा सकेगा। पटना जिला के अंदर बसों में लोग सीटों की संख्या से आधे ही सवार होंगे।

राज्य के छह जिलों, पटना, बेगूसराय, जमुई, वैशाली, पश्चिमी चंपारण और सारण में सबसे ज्यादा कोरोना के मामले बढ़ने की बात कही गई है। इसके साथ ही पूरे राज्य में शादी समारोह और श्राद्ध कर्म में उपस्थिति को लेकर नई गाइडलाइंस जारी कर दी गई है।

शादी में समारोह स्थल पर सारे स्टाफ सहित अधिकतम 100 लोगों को एंट्री देनी होगी। वहीं शादी के दौरान सड़क पर डीजे बजाने या डांस करने की भी अनुमति नहीं रहेगी। श्राद्ध कर्म में अधिकतम 25 लोग ही आ सकेंगे। किसी भी समारोह में थर्मल स्क्रीनिंग, मास्क, सेनेटाइजर की व्यवस्था आयोजकों को रखनी होगी। साथ ही ऐसे समारोहों में सार्वजनिक स्थान को सेनेटाइज करना होगा।

गुरुवार से ये पाबंदियां लागू हो गई हैं। आज गृह विभाग के अपर मुख्य सचिव आमिर सुबहानी और आपदा प्रबंधन विभाग के प्रधान सचिव प्रत्यय अमृत ने एक साझा प्रेस कॉन्फ्रेंस में यह जानकारी दी है।

उन्होंने बताया कि केंद्रीय गृह मंत्रालय की ओर से कोविड-19 को लेकर 3 दिसंबर तक जारी नई गाइड लाइन के आधार पर राज्य सरकार ने ये नए निर्देश जारी किए हैं। राज्य के छह जिलों, पटना, बेगूसराय, जमुई, वैशाली, पश्चिमी चंपारण और सारण में आवश्यक सेवा को छोड़कर अन्य सभी सरकारी और प्राइवेट कार्यालयों में 50 फीसदी कर्मचारियों की ही उपस्थिति रहेगी।

सार्वजनिक यातायात के साधनो में सीटों की संख्या से आधे यात्री ही बैठाए जा सकेंगे। अधिकारी द्वय ने बताया कि इन छह जिलों में से पटना में बीते एक सप्ताह से जांच में दस प्रतिशत से अधिक कोरोना के मरीज मिल रहे हैं, जबकि अन्य पांच जिलों में भी कोरोना संक्रमण की रफ्तार तेजी से बढ़ रही है।

उधर 30 नवंबर को कार्तिक पूर्णिमा स्नान को लेकर सभी जिलों को खास निर्देश दिए गए हैं। कोरोना से बचाव के लिए जागरूकता अभियान चलाने को कहा गया है। गुरुवार को जारी गाइडलाइन की समीक्षा एक सप्ताह बाद की जाएगी।

Next Story

विविध

Share it