बिहार चुनाव 2020

बिहार : राहत न मिलने से आक्रोशित बाढ़ पीड़ितों ने NH-77 को मुजफ्फरपुर में किया जाम

Janjwar Desk
6 Aug 2020 11:24 AM GMT
बिहार : राहत न मिलने से आक्रोशित बाढ़ पीड़ितों ने  NH-77 को मुजफ्फरपुर में किया जाम
x

Photo : social media

बिहार में बाढ़ से 56 लाख की आबादी प्रभावित है, सरकारी राहत अबतक नाकाफी रही है, जिससे बाढ़ पीड़ित आक्रोशित हो रहे हैं...

जनज्वार ब्यूरो, पटना। बिहार में बाढ़ (Flood) से तबाही का आलम है। 14 जिलों के 56 लाख से ज्यादा लोग बाढ़ से प्रभावित (Flood effected) हैं। लोग सड़कों, बांधों आदि ऊंचे स्थानों पर शरण लिए हुए हैं। घर-बार, सामान सब डूब चुके हैं, इसलिए भोजन-पानी (Food and Water) पर संकट है। सरकारी स्तर पर सामुदायिक किचन (Cummunity kitchen) और राहत कैंप (Relief Camp) चलाए जा रहे हैं, पर अबतक ये नाकाफी (Insufficient) साबित हो रहे हैं, जिससे बाढ़ पीड़ितों का गुस्सा भड़क जा रहा है। मुजफ्फरपुर (Mujuffurpur) में बाढ़ पीड़ितों ने NH- 77 को जाम कर हंगामा कर दिया।

मुजफ्फरपुर जिला भी बाढ़ से बुरी तरह प्रभावित है। यहां लाखों की संख्या में लोग बाढ़ के कारण मुश्किल में हैं। गुरुवार, 6 जुलाई को राहत की मांग को लेकर जिला के गायघाट प्रखंड (Gaighat Block) के झपहां गांव के बाढ़ पीड़ितों ने जारंग हाई स्कूल के पास NH-77 को जाम कर दिया।

जाम की वजह से घँटों सड़क पर आवागमन (Traffic) ठप्प रहा और राहगीरों को कड़ी धूप में परेशानी (Difficulty) उठानी पड़ी। जाम कर रहे बाढ़ पीड़ितों का कहना था कि गांव के लगभग सभी घर डूब चुके हैं। खाने के सामान, अनाज आदि बर्बाद हो चुका है, पीने के लिए साफ पानी (Drinking Water) की कोई व्यवस्था नहीं है। सरकारी और प्रशासनिक स्तर पर राहत की अबतक कोई व्यवस्था नहीं की गई है।

घटना की सूचना मिलने के बाद स्थानीय पुलिस (Local police) मौके पर पहुंची और लोगों को समझाने-बुझाने की कोशिश शुरू की। काफी देर तक मान-मनव्वल चला, पर बाढ़ पीड़ित कुछ सुनने को तैयार नहीं थे। बाद में खाना-पानी उपलब्ध कराए जाने का आश्वासन दिए जाने के बाद आक्रोशित लोग माने और जाम समाप्त हुआ।

Next Story

विविध

Share it