Top
बिहार

क्या सच में है लालू प्रसाद का कोई तीसरा बेटा, पुत्री मीसा भारती ने किया खुलासा

Janjwar Desk
12 Jun 2020 4:30 PM GMT
क्या सच में है लालू प्रसाद का कोई तीसरा बेटा, पुत्री मीसा भारती ने किया खुलासा
x
बिहार सरकार में मंत्री नीरज कुमार ने 11 जून को लालू प्रसाद के जन्मदिन पर उनके तीसरे पुत्र के सम्बंध में बयान देकर सनसनी फैला दी थी। अब इसका जबाब देने लालू प्रसाद की बड़ी पुत्री मीसा भारती सामने आईं हैं।

जनज्वार ब्यूरो, पटना। बिहार सरकार में मंत्री जदयू के नीरज कुमार के 11 जून को लालू प्रसाद के जन्मदिन पर दिए गए सनसनीखेज बयान के बाद सियासी हलकों में घमासान मचा गया था। मंत्री नीरज कुमार ने एक दस्तावेज दिखाते हुए आरोप लगाया था कि इस दस्तावेज में तरुण यादव के नाम पर भी जमीन की रजिस्ट्री कराई गई है और पेशर में लालू प्रसाद का नाम है।

उन्होंने सवाल उठाया था कि क्या तरुण यादव लालू प्रसाद के तीसरे पुत्र हैं,जो पेशर में उनका नाम लिखा है। उन्होंने भ्र्ष्टाचार के और भी आरोप लगाए थे। इसके बाद मचे सियासी घमासान के बीच राजद ने भी हमलावर रुख अपनाया था और मंत्री द्वारा ओछी राजनीति किए जाने का आरोप लगाते हुए भ्र्ष्टाचार को साबित करने की चुनौती दी थी।

इन सबके बीच शुक्रवार 12 जून को लालू प्रसाद की बड़ी पुत्री मीसा भारती सामने आईं। उन्होंने मंत्री नीरज कुमार के सवाल का जबाब देते हुए कहा कि लालू प्रसाद के दूसरे पुत्र और बिहार के नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव ही तरुण यादव हैं।यह उन्हीं का दूसरा नाम है।

उन्होंने कहा कि तेजस्वी यादव को हमलोग घर में आज भी तरुण के नाम से ही पुकारते हैं। वहीं मेरे पुत्र टूटू मामा के नाम से तेजस्वी यादव को बुलाते हैं। उन्होंने हमलावर रुख अख्तियार करते हुए कहा कि नीरज कुमार मुख्यमंत्री नीतीश कुमार की भाषा बोलते हैं, उनका अपना कुछ नहीं होता। उन्हें इसी काम के लिए मंत्रीपद मिला है।

उन्होंने आगे कहा कि बीजेपी और जदयू की सरकार अपनी नाकामी छुपाने के लिए इस तरह के गंदे सवाल उठाते हैं। उन्होंने कहा कि वर्ष 1996 में लालू प्रसाद पर आय से अधिक संपत्ति का केस हुआ। केस में हमलोगों की जीत हुई।उसमें सारी संपत्ति का ब्यौरा था। जब कभी मां-पिता चुनाव लड़े, अपनी संपत्ति का ब्यौरा दिया।तेजस्वी राघोपुर से चुनाव लड़े तो उन्होंने भी अपनी संपत्ति का ब्यौरा दिया था।

बहरहाल मीसा भारती के खुलासे के बाद कम से कम इस मुद्दे पर हो रही चर्चाओं पर फिलहाल विराम लगने की संभावना है।हालांकि चुनावी माहौल है तो ऐसे बयान और उन बयानों पर घमासान आगे भी देखने को मिल सकता है।

Next Story

विविध

Share it