Top
बिहार

तेजस्वी बोले, विशेष जमातियों से दूर रह स्वयं और परिवार को रखें सुरक्षित

Janjwar Desk
15 July 2020 1:45 PM GMT
तेजस्वी बोले, विशेष जमातियों से दूर रह स्वयं और परिवार को रखें सुरक्षित
x

File photo

बिहार के नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव ने बुधवार को ट्विट कर यह बात कही है। उन्होंने कहा कि बिहार में कोरोना की स्थिति गंभीर हो गई है।

जनज्वार ब्यूरो, पटना। राजद नेता तेजस्वी यादव ने बुधवार को ट्विट कर बीजेपी पर निशाना साधा है। उन्होंने कहा है कि सरकार की नाकामी के कारण राज्य में कोरोना भयानक रूप अख्तियार कर चुका है।

उन्होंने ट्विट कर लिखा 'बिहार बीजेपी के 100 नेताओं की रैंडम जांच करने पर 75 नेता पॉजिटिव पाए गए। कल्पना कीजिए अगर सभी की जांच हो जाए तो कितने संक्रमित मिलेंगे?'

प्रदेशवासियों से आग्रह है कि संक्रमण फैलाने वाले विशेष जमातियों से दूर रह स्वयं, परिवार और राज्य को सुरक्षित रखें। Virtual और Vulture के अंतर को समझें।'

बीजेपी कार्यालय के 100 लोगों के सैंपल लिए गए थे, जिनमें से 14 जुलाई को कार्यालय से जुड़े नेता और कार्यालय स्टाफ समेत 24 लोग पॉजिटिव पाए गए थे। इसके अलावा 15 जून को बीजेपी प्रदेश अध्यक्ष डॉ संजय जायसवाल भी पॉजिटिव पाए गए हैं। इससे पहले एक मंत्री, विभिन्न दलों के कई विधायक, पूर्व सांसद, डॉक्टर, पदाधिकारी आदि पॉजिटिव हो चुके हैं।

बिहार में कोरोना संक्रमण का आंकड़ा 15 जून को 20 हजार पार कर गया। सर्वाधिक प्रभावित राजधानी पटना है। कोरोना संक्रमण के प्रसार को रोकने के उद्देश्य से कई जिलों में पहले से लॉकडाउन लगा हुआ है और कल 16 जुलाई से 31 जुलाई तक पूरे राज्य में लॉकडाउन लगाने का आदेश दिया जा चुका है। कोरोना को लेकर राजनीति भी चरम पर है। सरकार और सत्त्ताधारी दल अच्छा काम किए जाने के दावे कर रहे हैं तो विपक्षी दल सरकार पर नाकामी का आरोप लगा रहा है।

तेजस्वी ने आगे ट्विट कर लिखा 'बिहार बीजेपी के प्रदेश अध्यक्ष, उपाध्यक्ष व विधायकों समेत कई बड़े नेता संक्रमित हैं। बीजेपी के लोग बिहार में संक्रमण फैला रहे हैं। इनके ऐसे नाकारा स्वास्थ्य मंत्री हैं कि अपने उपमुख्यमंत्री और प्रदेश बीजेपी कार्यालय को ही कोरोना से नहीं बचा पाए तो बिहार और आम आदमी को क्या बचाएंगे।'

तेजस्वी ने कहा कि राज्य में स्वास्थ्य व्यवस्था भगवान भरोसे चल रही है। अस्पतालों में भर्ती मरीजों का इलाज नहीं हो पा रहा है। मृतकों के शव को समय पर हटाया नहीं जा रहा है। डॉक्टरों को पीपीई किट नहीं मिल रही। वेंटिलेटर की कमी है। लोगों की जांच नहीं हो रही है। लोग इलाज के लिए मारे-मारे फिर रहे हैं। सरकार की व्यवस्था फेल है और झूठे दावे किए जा रहे हैं। उन्होंने कहा कि जनता कोरोना के प्रकोप से कराह रही है और सत्त्ताधारी दल चुनाव के लिए तैयारियों में जुटे हैं।

Next Story

विविध

Share it