Top
बिहार

पटना में शराब ​माफिया पुलिसवाले काे बेरहमी से पीटते रहे और वह मांगता रहा जान की भीख

Janjwar Desk
6 Sep 2020 12:40 PM GMT
पटना में शराब ​माफिया पुलिसवाले काे बेरहमी से पीटते रहे और वह मांगता रहा जान की भीख
x

पुलिस को जमीन पर पटक कर पिटाई करते शराब माफिया, खून से लथपथ पुलिस को घसीटते बदमाश व जान बचाकर भागते अन्य पुलिस वाले।

पटना में पुलिस वालों की जिस तरह शराब माफियाओं ने पिटाई की है उससे बिहार में शराबंदी लागू होने पर सवाल उठ खड़े हुए हैं। इस घटना का वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हुआ है और यह मामला आज बिहार में चर्चा का विषय रहा है....

जनज्वार। बिहार में बहार है, नीतीशे कुमार है। इसी नारे के साथ साल 2015 में नीतीश कुमार सत्ता में आए थे। इस कार्यकाल में शराबबंदी और सात निश्चय योजना लागू कर उन्होंने कई बड़े-बड़े दावे किए। अब इस शराबबंदी का कितना और क्या लाभ-हानि हुआ, यह शोध का विषय हो सकता है, पर साथ-साथ शराब की बरामदगी भी लगातार होती रहती है। कोई भी दिन ऐसा नहीं गुजरता, जिस दिन दो-चार जिलों में शराब बरामदगी की खबर न आती हो। साथ ही साथ देशी शराब की भट्ठियों के ध्वस्त किए जाने की खबरें भी लगातार आती रहती हैं। ऐसे में विपक्षी दल और लोग सवाल करते हैं कि अगर शराबबंदी है और शराब की खेप लगातार बरामद हो रही है तो जाहिर है कि शराब का अवैध कारोबार बड़े स्तर पर पैरलल चल रहा है।

बिहार की राजधानी पटना का आर ब्लॉक वीआईपी एरिया माना जाता है। यहां शराब की खेप उतारे जाने की खबर पर पुलिस पहुंची तो तस्करों से मुठभेड़ हो गई। बड़ी संख्या में स्थानीय लोग भी पुलिस पर टूट पड़े, चूंकि आरोप है कि यहां यह कारोबार खूब फलता-फूलता है। इस दौरान जमकर पथराव हुआ। गोलीबारी हुई। कहा जा रहा है कि पुलिस ने भी गोली चलाई। इस दौरान एक पुलिसकर्मी इन लोगों के बीच घिर गया। वीडियो में देखा जा सकता है कि उसे घेरकर किस तरह कूटा जा रहा है।

बताया जाता है कि राजधानी पटना के जक्कनपुर थाना क्षेत्र स्थित आर ब्लॉक रेलवे पुल के नीचे शनिवार को शराब माफियाओं और पुलिस में मुठभेड़ हो गई। इस मुठभेड़ में एक शराब माफिया अजय पासवान को पेट में गोली लगी तो माफियाओं के हमले में जक्कनपुर थाने के दरोगा भी घायल हो गए। दोनों को इलाज के लिए अस्पताल में भर्ती कराया गया है। इस दरमियान शराब माफियाओं के समर्थक स्थानीय लोगों ने पुलिस पर भी हमला कर दिया जिससे कई पुलिसकर्मी चोटिल हुए हैं।

प्राप्त जानकारी के अनुसार आज तड़के 5 बजे के करीब जक्कनपुर थाना पुलिस को यह सूचना मिली की कुछ शराब माफिया आर ब्लॉक रेलवे पुल के नीचे जक्कनपुर थाना क्षेत्र में शराब की खेप उतारने वाले हैं। पुलिस जब वहां पहुंची तो काफी मात्रा में शराब की खेप उतारी जा रही था। पुलिस को देखते ही माफियाओं ने शोर मचाना शुरू कर दिया और पुलिस से भिड़ गए। इतना ही नहीं शराब माफियाओं के समर्थन में स्थानीय लोग भी आ गए और पुलिस पर पथराव शुरू कर दिया। पुलिस और शराब माफियाओं तथा स्थानीय लोगों की भिड़ंत में शराब माफियाओं की तरफ से जब फायरिंग होने लगी तो पुलिस ने जवाबी कार्रवाई करते हुए शराब माफिया पर फायर झोंक दिया।

इस भिड़ंत में अजय पासवान नामक एक व्यक्ति घायल हो गया जो शराब माफियाओं का शागिर्द बताया जाता है। अजय के गर्दन और पेट में गोली लगी है जबकि शराब माफियाओं के तरफ से चलाई गई गोली में जक्कनपुर थाना के दरोगा को पैर में गोली लगी है। स्थानीय लोगों ने पुलिस पर ईंट पत्थर फेंके और बांस बल्ले से हमला कर दिया। आधा दर्जन से ज्यादा पुलिसकर्मी चोटिल हुए हैं। इधर स्थानीय लोगों की शिकायत है कि पुलिस हफ्ता वसूली के लिए आई थी और स्थानीय लोगों ने जब इसका विरोध किया तो पुलिस ने कई लोगों की पिटाई कर दी जिससे स्थानीय जनता उग्र हो गई और मामला हिंसक हो गया। बहर हाल इलाके में पूरी तरह तनाव व्याप्त है। जक्कनपुर इलाका खासकर आर ब्लॉक रेलवे लाइन के दक्षिणी क्षेत्र पुलिस छावनी में तब्दील हो गया है।

Next Story

विविध

Share it