Top
बिहार

किसानों के 6 फरवरी के भारत बंद को पप्पू यादव का समर्थन, बोले-संविधान के अनुसार नहीं चल रही बिहार सरकार

Janjwar Desk
4 Feb 2021 1:00 PM GMT
किसानों के 6 फरवरी के भारत बंद को पप्पू यादव का समर्थन, बोले-संविधान के अनुसार नहीं चल रही बिहार सरकार
x
पप्पू यादव ने कहा कि कभी सोशल मीडिया पर सरकार के खिलाफ लिखने पर पाबंदी लगाई जाती है तो कभी विरोध-प्रदर्शन में शामिल होने वालों को नौकरी नहीं देने का आदेश निकाला जाता है..

जनज्वार ब्यूरो/पटना। जन अधिकार पार्टी के सुप्रीमो पप्पू यादव ने सोशल मीडिया को लेकर बिहार सरकार के नए आदेश पर निशाना साधा है। साथ ही किसानों को लेकर अपना समर्थन फिर से व्यक्त करते हुए कहा है कि 6 फरवरी के भारत बंद में उनकी पार्टी शामिल होगी।

बिहार के चर्चित इंडिगो मैनेजर रुपेश सिंह हत्याकांड पर पप्पू यादव ने कहा कि आपने कहा था कि रुपेश को बाहर के किसी शूटर ने गोली मारी है तो अब ये बाइक चोरी करने वाला ऋतुराज कहाँ से आ गया? रुपेश की हत्या रोडरेज के कारण नहीं हुई है।

पप्पू यादव ने कहा कि अगर ऋतुराज ने हत्या की भी है तो जरूर किसी के इशारे पर की है। पर्दे के पीछे कई बड़े लोगों का हाथ हैं। जब ऋतुराज से पूछा गया कि हथियार कहाँ से लाए, तो उसने नहीं बताया। उन्होंने कहा कि पुलिस ने फिल्म से भी खराब पटकथा रची है। जन अधिकार पार्टी (लो) के राष्ट्रीय अध्यक्ष पप्पू यादव ने पटना स्थित पार्टी कार्यालय में प्रेस कांफ्रेंस को संबोधित करते हुए कही।

मुख्यमंत्री नीतीश कुमार पर तंज कसते हुए पप्पू यादव ने कहा कि नीतीश कुमार के शासन में लगातार गिरावट आ रही है। कभी सोशल मीडिया पर सरकार के खिलाफ लिखने पर पाबंदी लगाई जाती है तो कभी विरोध-प्रदर्शन में शामिल होने वालों को नौकरी नहीं देने का आदेश निकाला जाता है। बिहार सरकार देश के संविधान के अनुसार काम नहीं कर रही है। ये अपना नियम खुद ही बना रहे हैं।

मौलिक अधिकारों की बात करते हुए पप्पू यादव ने कहा कि बाबा साहेब भीमराव अम्बेडकर ने हमें संविधान दिया और मौलिक अधिकार दिए। जिसमें हमें विरोध-प्रदर्शन करने का अधिकार भी मिला। लोकतंत्र में हमें सड़क पर बैठने का अधिकार है। हम शांतिपूर्ण ढंग से विरोध करते रहेंगे, सरकार को लाठी-डंडा चलाना है तो चलाए। हमारी पार्टी के छात्र और युवा परिषद के नेता इसके खिलाफ लड़ाई लड़ेंगे।

सरकारी और निजी क्षेत्र में आरक्षण की बात करते हुए जाप अध्यक्ष ने कहा कि सरकारी हो या निजी क्षेत्र, 85 फीसदी नौकरियां बिहार के युवाओं के लिए आरक्षित होनी चाहिए। ठेके राज्य के युवाओं को मिले। वर्तमान में बाहर की कंपनियों को ठेके दिए जा रहे हैं जिससे बिहार का पैसा बाहर जा रहा है।

केंद्र सरकार हमला बोलते हुए पप्पू यादव ने कहा कि यह पहली सरकार है जिसने किसानों को आतंकवादी और उग्रवादी घोषित कर दिया है और देश के टुकड़े-टुकड़े करना चाहती है। 6 फरवरी को मोदी सरकार के खिलाफ और किसानों के समर्थन में हम एनएच पर खड़े होंगे।

इस दौरान प्रदेश अध्यक्ष राघवेन्द्र सिंह कुशवाहा, राष्ट्रीय महासचिव प्रेमचंद सिंह, राजेश रंजन पप्पू, छात्र परिषद अध्यक्ष आजाद चाँद सहित पार्टी के तमाम नेता मौजूद थें।

Next Story

विविध

Share it