Top
बिहार

बिहार की जनता बाढ़ और बारिश से परेशान, बीजेपी प्रभारी लगे हैं मंदिर- मंदिर मत्था टेकने में

Janjwar Desk
2 July 2020 1:45 PM GMT
बिहार की जनता बाढ़ और बारिश से परेशान, बीजेपी प्रभारी लगे हैं मंदिर- मंदिर मत्था टेकने में
x
बिहार में चुनावी तैयारियों का जायजा लेने के लिए दिल्ली से दस दिवसीय अहम दौरे पर पहुंचे भाजपा के राष्ट्रीय महासचिव और राज्य प्रभारी भूपेंद्र यादव हर दिन मंदिरों का दौरा कर रहे हैं...

नवनीत मिश्र की रिपोर्ट

पटना। विधानसभा चुनाव की तैयारियों में जुटी भारतीय जनता पार्टी(बीजेपी) एक्शन मोड में आ गई है। बिहार में चुनावी तैयारियों का जायजा लेने के लिए दिल्ली से दस दिवसीय अहम दौरे पर पहुंचे भाजपा के राष्ट्रीय महासचिव और राज्य प्रभारी भूपेंद्र यादव हर दिन मंदिरों का दौरा कर रहे हैं।

राज्यसभा सांसद भूपेंद्र यादव ने जहां बुधवार 1 जुलाई को पटना के प्रसिद्ध पाटन देवी मंदिर में दर्शन किया, वहीं दूसरे दिन गुरुवार को पटना के ही निमार्णाधीन इस्कॉन मंदिर भी गए। बताया जा रहा है कि आगे भी वह अन्य कई मंदिरों में जाएंगे। मंदिरों पर दर्शन-पूजन के दौरान वह लोगों से बातचीत भी कर रहे हैं। मंदिर-मंदिर जाने के पीछे जहां कुछ पार्टी नेता उनकी श्रद्धा बताते हैं तो वहीं कुछ नेताओं का कहना है कि श्रद्धा के साथ ही जनसंपर्क की रणनीति भी इसमें छिपी है।

भाजपा के राष्ट्रीय महासचिव भूपेंद्र यादव ने गुरुवार को ट्वीट कर कहा, 'पिछले दो दिनों से लगातार पटना में हूं। कल एक जुलाई को पटना के प्रसिद्ध पाटन देवी मंदिर में जाने का सुअवसर मिला। ऐसा माना जाता है कि देश के 52 शक्ति पीठों में से पाटन देवी स्थल भी एक प्रमुख है। इस क्रम में आज पटना के निमार्णाधीन इस्कॉन मंदिर में भी जाना हुआ।'

पार्टी सूत्रों का कहना है कि बिहार में चुनावी तैयारियों की समीक्षा करने और सीटों के बंटवारे पर नेताओं के साथ बातचीत करने के लिए भूपेंद्र यादव 10 जुलाई तक बिहार में रहेंगे। इस दौरान वह कई और प्रसिद्ध धर्मस्थलों का दौरा कर सकते हैं। उधर, विपक्षी गलियारे में इसे बीजेपी की मंदिर राजनीति से जोड़कर देखा जा रहा है।

इस मसले पर बिहार भाजपा के प्रवक्ता राजीव रंजन आईएएनएस से कहते हैं, 'विपक्षी नेताओं के पास कोई मुद्दा ही नहीं है। विपक्षी नेता, बीजेपी की जनहितैषी राजनीति से भयभीत हैं। आने वाले बिहार विधानसभा चुनाव में विपक्ष का अस्तित्व भी खतरे में होगा।'

बिहार में कुल 243 विधानसभा सीटों पर नवंबर में चुनाव संभावित हैं। चुनाव आयोग ने भी तैयारियां शुरू कर दीं हैं। एनडीए के घटक दलों के बीच फिलहाल सीट बंटवारा की तैयारियां चल रहीं है। बिहार में बीजेपी, जदयू और लोक जनशक्ति पार्टी के नेताओं की निगाहें सीटों के बंटवारे पर टिकी हैं। बिहार प्रभारी होने के नाते भूपेंद्र यादव की सीट शेयरिंग तय करने में अहम भूमिका बताई जा रही है।

Next Story

विविध

Share it