Top
बिहार

नीतीश कुमार के घर में अब नहीं चलेगा वेंटिलेटर वाला अस्पताल, फजीहत के बाद आदेश लिया वापस

Janjwar Desk
8 July 2020 6:05 AM GMT
नीतीश कुमार के घर में अब नहीं चलेगा वेंटिलेटर वाला अस्पताल, फजीहत के बाद आदेश लिया वापस
x

           File photo

डॉक्टरों की तैनाती वाला पत्र जारी होने के महज चंद घँटों के अंदर ही पीएमसीएच के अधीक्षक द्वारा दूसरा पत्र जारी कर उसे रद्द कर दिया गया है।

जनज्वार ब्यूरो, पटना। भारी फजीहत के बाद अब बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के सरकारी आवास पर वेंटिलेटर युक्त अस्पताल नहीं खुलेगा। न ही अब वहां पीएमसीएच के डॉक्टरों की तैनाती होगी। पीएमसीएच ने यू टर्न ले लिया है। डॉक्टरों की तैनाती वाला पत्र जारी होने के महज चंद घँटों बाद ही उस पत्र को रद्द कर दिया गया है। इस पत्र के रद्द होने के साथ ही यह भी स्पष्ट हो गया है कि अब सीएम हाउस में वेंटिलेटर युक्त अस्पताल की भी स्थापना नहीं होगी।

पीएमसीएच के अधीक्षक द्वारा 7 जुलाई की रात एक दूसरा पत्र जारी कर दिया गया है। इस पत्र में कहा गया है 'इस कार्यालय के पत्रांक 7124, दिनांक 7-7-2020 द्वारा माननीय मुख्यमंत्री आवास पर तीन पालियों में चिकित्सकों एवं परिचारिकाओं को प्रतिननियुक्त किया गया था। सम्यक विचारोपरांत इस आदेश को तत्काल प्रभाव से रद्द किया जाता है।'

इससे पहले 7 जुलाई को ही पीएमसीएच के अधीक्षक द्वारा पत्र जारी कर सीएम हाउस में डॉक्टरों और परिचारिकाओं की प्रतिनियुक्ति की गई थी। उस पत्र में कहा गया था 'अपर सचिव, स्वास्थ्य विभाग, बिहार, पटना द्वारा दूरभाष पर दिए गए निर्देश के आलोक में कोरोना वायरस से उत्पन्न संक्रमण की रोकथाम एवं इसके निरोधात्मक उपाय को देखते हुए माननीय मुख्यमंत्री जी के आवास पर वेंटिलेटर युक्त अस्पताल के संचालन हेतु पटना मेडिकल कॉलेज अस्पताल, पटना के अंतर्गत कार्यरत चिकित्सकों एवं परिचारिकाओं को माननीय मुख्यमंत्री आवास में निम्नलिखित पालियों में प्रतिननियुक्त किया जाता है।'

इस पत्र में पीएमसीएच के कुल छह डॉक्टरों और तीन परिचारिकाओं की तीन पालियों में प्रतिनियुक्ति की गई थी। इनमें पीएमसीएच के औषधि और निश्चेतना विभाग के सह प्राध्यापक और सहायक प्राध्यापक शामिल थे।

इस बीच खबर है कि मुख्यमंत्री आवास से जुड़े 50 से ज्यादा लोगों की कोरोना रिपोर्ट पॉजिटिव आई है। इससे पहले मुख्यमंत्री की भतीजी की रिपोर्ट पॉजिटिव आई थी। कोरोना के बढ़ते प्रकोप के बीच किशनगंज जिला में 72 घँटे का लॉकडाउन लगा दिया गया है तो तीन जिलों में 9 जुलाई से 5 दिनों के लॉकडाउन लगाने की तैयारी चल रही है।

Next Story

विविध

Share it